भाजपा सरकार ने दिल्ली के लोगों की समस्याओं का निवारण किया: मीनाक्षी लेखी

नई दिल्ली । प्रदेश भाजपा कार्यालय में नई दिल्ली से सांसद श्रीमती मीनाक्षी लेखी ने एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए बताया कि दिल्ली सरकार ने असली मुद्दों से लोगों को भटकाया और केंद्र और एमसीडी के प्रयास से दिल्ली को स्वच्छ और विकसित बनाने की दिशा में काम किया गया। इस अवसर पर प्रदेश मीडिया प्रमुख श्री अशोक गोयल देवराहा, प्रवक्ता व मीडिया विभाग के सह-प्रमुख श्री प्रवीण शंकर कपूर, मीडिया समिति के सह-प्रमुख श्री महेश वर्मा उपस्थित थे।
नई दिल्ली से सांसद श्रीमती मीनाक्षी लेखी ने कहा कि दिल्ली के लोग बढ़ते प्रदूषण को लेकर भयभीत और चिंतित थे लेकिन केंद्र की भाजपा सरकार ने दिल्ली में प्रदूषण कम करने के लिए वो सारे काम किए जो आम आदमी पार्टी सरकार ने नहीं किया। अब आम आदमी पार्टी अकेले अरविंद पार्टी बन चुकी है जो काम के नाम पर लोगों पर नई घोषणाएं थोप देती है। दिल्ली सरकार ने एमसीडी का लगभग 10 हजार करोड़ का फंड रोककर रखा है और विकास के कामों में बाधा बन रही है।
श्रीमती लेखी ने कहा कि केंद्र सरकार के प्रयास से दिल्ली में वैक्यूम क्लीनर, एयर प्यूरीफायर जगह-जगह लगाए गए लेकिन केजरीवाल सरकार ने इसके लिए 100 रुपए भी नहीं दिए। दिल्ली में प्रदूषण नियत्रंण के लिए केजरीवाल सरकार को 12 हजार करोड़ ग्रीन सेस प्राप्त हुआ लेकिन उसका 18 प्रतिशत भी इस्तेमाल नहीं किया गया। आम आदमी पार्टी ने वादा किया था 35 लाख पेड़ लगाने का, नए पेड़ लगाना तो दूर केजरीवाल सरकार ने 18000 पेड़ काटे। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने दिल्ली सरकार पर दिल्ली के बढ़ते प्रदूषण को नियंत्रित न कर पाने के लिए 1 करोड़ रुपए से लेकर 50 करोड़ रुपए तक का जुर्माना लगाया लेकिन फिर भी केजरीवाल नींद से नहीं जागे और खुद के ही प्रोमोशन में लगे रहे।
श्रीमती लेखी ने कहा कि एनजीओ की मदद से एमसीडी ने दिल्ली में 60,000 पेड़, पौधे लगवाए और 11,000 पार्कों का निर्माण करवाया, सिंगल यूज प्लास्टिक को बंद करने के लिए काम किया, लगभग 238 वर्टीकल गार्डन बनाने का कार्य भी पूरा किया गया है। राष्ट्रीय स्तर पर प्रदूषण से लड़ने के लिए 40 पानी के छिड़काव करने वाले टैंकर, दो सुपर-सकर मशीन, छह सक्शन-कम-जेटिंग मशीन और चार ऑटो-माउंटेड कूड़े-बीनने वाली मशीनों और 70 करोड़ रुपये की अन्य मशीनों की शुरुआत की गई। दिल्ली को स्वच्छ रखने के लिए 800 सामुदायिक शौचालय तथा 700 जन शौचालय बनाये गए, 150 मोबाइल टॉयलेट वैन लगाया गया, सड़कों के दोनों ओर 100-लीटर क्षमता के लगभग 26000 डस्टबिन रखे गए, 12 लीटर क्षमता के प्लास्टिक के लगभग 1 लाख 80 हजार डस्टबिन को वितरित किए गए। केंद्र की भाजपा सरकार ने दिल्ली के लोगों की समस्याओं का निवारण किया और दिल्ली में भाजपा सरकार ही विकास के नए रास्ते खोल सकती है जिससे यहां के लोग भी सहमत हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »