आम आदमी पार्टी का मैनिफेस्टो झूठ का पुलिंदा है : मनोज तिवारी

नई दिल्ली। दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी के मैनिफेस्टो को झूठ का पुलिंदा बताते हुए प्रदेश भाजपा कार्यालय में एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि ये मैनिफेस्टो इस लायक नहीं है कि इस पर चर्चा की जाए क्योंकि इसमें वहीं पुराने वादे हैं जो 2015 विधानसभा चुनाव के मैनिफेस्टो में थे और कुछ वादे तो भाजपा के संकल्प पत्र की नकल है। इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, पूर्व केंद्रीय मंत्री व राज्यसभा सांसद श्री विजय गोयल, राष्ट्रीय मीडिया सह-प्रमुख श्री संजय मयूख, प्रदेश उपाध्यक्ष श्रीमती शाजिया इल्मी, प्रदेश मीडिया सह-प्रभारी श्री नीलकांत बक्शी व मीडिया प्रमुख श्री अशोक गोयल देवराहा उपस्थित थे।
दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने कहा कि आम आदमी पार्टी का मैनिफेस्टो स्पष्ट बता रहा है कि पिछले पांच साल में आम आदमी पार्टी पूरी तरह से फेल रही है। 2020 के मैनिफेस्टो में फिर से जनलोकपाल बिल और स्वराज लाने का वादा किया जा रहा है और यही वादा 2015 विधानसभा चुनाव के मैनिफैस्टो में भी किया गया था। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी का मैनिफेस्टो 2015 में किए गए 70 वादों का कापी पेस्ट है। यमुना के साफ-सफाई का वादा कर के आम आदमी पार्टी ने साबित कर दिया है कि पांच सालों में यमुना नदी और प्रदुषित हो गई है। आम आदमी पार्टी की नींद अभी तक नहीं खुली है, ये आज भी जहां झुग्गी, वहां मकान और अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित करने की बात रहे हैं जबिक मोदी सरकार के नेतृत्व में ये दोनों काम तेजी से हो रहा है और घरों के मालिकाना हक के लिए लाखों लोंगों डीडीए के पोर्टल पर रजिस्ट्री भी करा ली है। संविदा कर्मचारियों की नौकरी स्थाई करने के बात करने वाले केजरीवाल ने तो पांच सालों में कईयों को नौकरी से निकाल दिया। भाजपा के संकल्प पत्र की नकल करते हुए केजरीवाल जॉब गारंटी के वादे कर रहे हैं। आम आदमी पार्टी का मैनिफेस्टो इस बात की गवाही दे रहा है कि आम आदमी पार्टी जो कहती है वो कभी नहीं करती और न ही पांच सालों में कुछ किया।
केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि आम आदमी पार्टी और केजरीवाल ये सोच रहे हैं कि जो 70 वादे उन्होंने पिछले विधानसभा में किए थे उसे वेबसाइट से हटाकर दुबारा दिल्ली के लोगों को झांसे में ले आएंगे। 70 वादों में से एक भी वादा नहीं किया इसलिए उन्हीं में से कुछ वादों को 2020 के मैनिफेस्टो में लिख दिया और कुछ भाजपा के संकल्प पत्र वाले वादों को दोहरा दिया, लेकिन दिल्ली के लोगों को पता है कि आम आदमी पार्टी ने न प्रदूषण के लिए, न यमुना की सफाई के लिए, न साफ जल के लिए और न ही सफाई कर्मचारियों के लिए कोई कार्य किया। केजरीवाल हमको देशभक्ति का पाठ पढ़ाने की बात करते हैं और खुद देश तोड़ने वालों के साथ खड़े होकर दिल्ली का माहौल खराब करते रहे हैं, लेकिन दिल्ली के लोग एक बार उनके वादों में फंस गए लेकिन पांच साल में उन्हें केजरीवाल का असली चेहरा उनके सामने आ गया। अब कोई भी केजरीवाल के झांसे में आने वाला नहीं है।
पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री विजय गोयल ने कहा कि केजरीवाल सत्ता के मोह में फसकर भटक गए हैं और दिल्ली को स्लम बना दिया। इसलिए उनके पास नया कहने को कुछ नहीं बचा है। यही कारण है कि आज तक वे कोई चुनाव नहीं जीत सके हैं। चुनाव में केजरीवाल हर हथकंडा अपनाते हैं, लेकिन अब केजरीवाल की गारंटी कौन लेगा, क्योंकि पांच साल वादा करने के बाद भी कोई काम जब उन्होंने नहीं किया तो इस बात की क्या गारंटी है कि वे आगे कोई काम करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »