दिल्ली को दिशा देने वाली भाजपा सरकार चाहिए : नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने द्वारका के डीडीए ग्राउंड में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए दिल्ली को दोष देने वाली नहीं, दिशा देने वाली भाजपा सरकार चाहिए और मैं पूरी जिम्मेदारी के साथ कह रहा हूं कि दिल्ली में भाजपा की सरकार बनने के बाद दिल्ली विकास की नई ऊंचाइयों पर पहुंचेगी। इस अवसर पर राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा, हरियाणा के उपमुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चैटाला, राष्ट्रीय महामंत्री डॉ. अनिल जैन, उपाध्यक्ष श्री दुष्यंत गौतम, केंद्रीय मंत्री श्री हरदीप सिंह पुरी, दिल्ली विधानसभा चुनाव प्रबंधन समिति के संयोजक व राष्ट्रीय मंत्री श्री तरुण चुघ, सांसद रमेश बिधूड़ी, प्रवेश साहिब सिंह व मिजोरम के प्रभारी श्री पवन शर्मा उपस्थित थे। मंच का संचालन प्रदेश महामंत्री श्री राजेश भाटिया ने किया। इस विशाल जनसभा में भारतीय जनता पार्टी के सभी वरिष्ठ नेता, सांसद व पश्चिमी व दक्षिणी दिल्ली विधानसभा के प्रत्याशियों ने अपने विचार व्यक्त किए।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि दिल्ली के लोगों का भाजपा के प्रति उत्साह और भरोसा देखकर ये तय हो गया है कि दिल्ली में भाजपा की सरकार बनेगी। दिल्ली का ये चुनाव इस दशका का पहला चुनाव है, ये दशक भारत की प्रगति आज लिए गए फैसलों पर तय करेगी। आज एक तरफ राष्ट्रहित के लिए फैसले लेने वाली पार्टी हो तो दूसरी तरफ फैसलों के खिलाफ रहने वाला विपक्ष। देश की राजधानी दिल्ली और देश के हित में एकजुट, एक स्वर में पूरी ताकत के साथ भाजपा को लाना है। दिल्ली को रोड़े अटकाने वाली और नफरत फैलाने वाली राजनीति से मुक्ति चाहिए। दिल्ली को उलझाने वाली नहीं सुलझाने वाली राजनीति चाहिए। दिल्ली को विकास की योजनाएं रोकने वाली नहीं सबका साथ, सबका विकास पर विश्वास करने वाला नेतृत्व चाहिए। जो गरीब का हित चाहेगा, जिसके दिल में गरीब के लिए पीड़ा होगी, वो कभी भी गरीबों को केंद्र की जनकल्याणकारी योजनाओं से वंचित नहीं रखेगा लेकिन दिल्ली में पांच साल से हर दिल गरीबों की भलाई के काम में रोड़े अटकाए जा रहे हैं। केंद्र की योजनाओं को दिल्ली में लागू करने से दिल्ली सरकार ने मना कर दिया। दिल्ली के गरीबों का क्या गुनाह जो उन्हें 5 लाख रुपए तक मुफ्त ईलाज देने वाली आयुष्मान भारत की योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। अगर दिल्ली में ये योजना लागू होती तो जरूरत पड़ने पर लाभार्थी दूसरे शहरों में भी इस योजना का तहत मुफ्त ईलाज करवा सकते हैं ले सकते हैं लेकिन दिल्ली के लोग मोहल्ला क्लिनिक को अपने साथ दूसरे राज्य में नहीं जा सकता है। दिल्ली में बेदर्द सरकार बैठी है जिसे लोगों के जिंदगी की परवाह नहीं है। केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गरीबों को पक्का मकान दे रही है लेकिन इस योजना में भी वाली दिल्ली सरकार ने रोड़े अटकाए। विकृत मानसिकता वाली दिल्ली सरकार गरीबों के प्रति नकारात्मक विचार रखती है। दिल्ली के किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ नहीं मिलता, दिल्ली में मेट्रो के चैथे चरण के विस्तार को दो साल तक मंजूरी नहीं दी गई। दिल्ली के लोगों ने देखा कि पांच सालों दिल्ली में स्वार्थ और नफरत की राजनीति की गई। 2015 विधानसभा चुनाव में वोट देते हुए दिल्लीवासियों ने ऐसी दिल्ली के बारे में कल्पना में सोचा भी नहीं होगा। दिल्ली का विकास, 21वीं सदी की आकांक्षाएं, उपेक्षाओं, आवश्कताओं का पूरा होना देश के लिए भी जरूरी है और ये तभी हो सकता है जब नकारात्मकता की राजनीति खत्म हो, जब राजनीति के मूल में देशवासियों, दिल्लीवासियों और राष्ट्र का हित हो।
श्री मोदी ने कहा कि पिछले पांच साल में केंद्र सरकार ने जिस गति से काम किया है ये अपने-आप में अभूतपूर्ण है। आज आयुष्मान भारत योजना, जन-धन योजना का लाभ जितने लोगों को मिला है वो अमेरिका, मैक्सिको, कनाडा की कुल जनसंख्या से भी ज्यादा है। मुद्रा योजना के तहत जितने लोगों को ऋण मिला है वो ब्राजील की जनसंख्या से भी ज्यादा है। बीमा सुरक्षा योजनाओं से जितने लोगों को लाभ मिला है वो रूस की जनसंख्या से भी ज्यादा है। स्वच्छ भारत योजना के तहत जितने शौचालय का निर्माण हुआ है वो इजिप्ट की आबादी से भी ज्यादा है। उज्ज्वला योजना के तहत मुफ्त गैस कनेक्शन मिलने वाले लाभार्थी जर्मनी की आबादी के बराबर है। सौभाग्य योजना के तहत जितने घरों को बिजली मिली वो ऑस्ट्रेलिया की कुल जनसंख्या के भी ज्यादा है। आवास योजना के तहत बनने वाले घरों की संख्या श्रीलंका की आबादी से ज्यादा है। दिल्ली को भी काम की इसी गति की जरूरत है जिससे अनेक समास्याओं का समाधान होगा। यही कारण है कि दिल्ली के लोगों ने लोकसभा चुनाव में भाजपा पर भरोसा दिखाया। आज दिल्ली के लोग कह रहे हैं, देश बदला अब दिल्ली बदलेंगे। दिल्ली को ऐसी सरकार भी चाहिए समय आने पर देश के पक्ष को मजबूत करे, वीर सैनिकों के साथ खड़ी हो। दिल्ली को ऐसी राजनीति नहीं चाहिए जो आतंकी हमलों के समय में भारत के पक्ष को कमजोर करे, जो अपने बयानों से दुश्मनों को भारत पर वार करने का मौका दे। सर्जिकल स्ट्राइक, एयर स्ट्राइक जैसे फैसलों पर दिल्ली सरकार ने सवाल उठाए थे। दिल्ली में ऐसा नेतृत्व चाहिए जो सीएए, अनुच्छेद 370 जैसे राष्ट्रीय सुरक्षा के तमाम फैसलों पर देश का साथ देने वाला हो। अपनी राजनीति के लिए, तुष्टीकरण के लिए लोगों को भड़काने वाले लोग दिल्ली का हित नहीं कर सकते हैं। ये लोग बाटला हाउस के आंतकियों के लिए रो सकते हैं, उनकी सुरक्षा के लिए दिल्ली पुलिस को कटघरे में खड़ा कर सकते हैं लेकिन दिल्ली का विकास नहीं कर सकते हैं। नागरिकता संशोधन कानून बनने के बाद दिल्ली के लोग पहले दिन से देख रहे हैं कि विपक्ष द्वारा लोगों से झूठ बोले जा रहे हैं। वोट बैंक की राजनीति, नफरत की राजनीति, गलत इरादों और गलत नीयत के साथ दिल्ली का विकास नहीं हो सकता है, न ही नए-नए बहानों और कोसने से हो सकता है। विकास के लिए दृढ़-इच्छाशक्ति, खुद को सेवक मानकर गरीब की सेवा करने की भावना, अपने संकल्पों को सिद्ध करने का हौसला चाहिए। अगर बहानों और कोसने से ही काम चलता तो भाजपा सरकार कड़े और बड़े फैसले नहीं ले पाती, बीते पांच साल में मजबूत कदम नहीं उठा पाती।
श्री मोदी ने कहा कि दिल्ली की सबसे बड़ी चिंता 1731 के अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित करने को लेकर था जहां 40 लाख से भी ज्यादा लोग रहते हैं। दिल्ली सरकार इस फिराक में थी कि किसी तरह और एक-दो साल के लिए ये मामला टल जाए लेकिन भाजपा सरकार ने इच्छाशक्ति दिखाते हुए इस चिंता को दूर किया और इन कॉलोनियों में रहने वाले लोगों को मकान-दुकान का मालिकाना हक मिला। दिल्ली के हर चुनाव में अनधिकृत कॉलोनियों को लेकर वादे किए जाते थे किसी ने इसका समाधान नहीं किया। ये वोट की ताकत है और दिल्ली के लोगों का एक-एक वोट जिसने भाजपा के सांसदों को जिताया जिसके कारण केंद्र में पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनी और दिल्ली 40 लाख से भी ज्यादा लोगों को अपने घरों का मालिकाना हक मिला। दिल्ली भाजपा ने ये भी संकल्प की सकार बनने के तुरंत बाद अलग से इन कॉलोनियों के लिए डेवलपमेंट बोर्ड बनाया जाएगा। दिल्ली में आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर हो, ट्रांसपोर्ट का आधुनिक सिस्टम हो, दिल्ली के लोगों के पास सारी बुनियादी सुविधाएं हो, स्वच्छ पानी हो, स्वच्छ हवा हो, ये भाजपा सरकार की प्राथमिकता है क्योंकि भाजपा जा संकल्प लेती है उसे सिद्ध भी करती है। दिल्ली में ईस्टर्न-वेस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे का काम रिकॉर्ड समय में पूरा हुआ जिसके कारण दिल्ली में ट्रैफिक से होने वाले प्रदूषण की समस्या खत्म हुई। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे का काम हुआ, दिल्ली रैपिड रेल पर तेजी से काम चल रहा है। दिल्ली मेट्रो से अटल जी का नाम जुड़ा है, उनके प्रयासों के बाद ही दिल्ली में मेट्रो शुरु हो पाई थी, अब भाजपा सरकार का प्रयास दिल्ली में मेट्रो का विस्तार करना है। दिल्ली और सुंदर बने, यहां के लोग को स्वच्छ और सुरक्षित वातावरण देने की ओर भाजपा प्रयासरत है। यमुना रिवरफ्रंट पर काम लगातार हो रहा है, जो दिल्ली की शान बनेगा और दिल्ली के लोगों के लिए नया आईकोनिक स्पॉट ही नहीं बल्कि ग्रीन कॉरिडोर का ‘लंग्स ऑफ द सिटी’ भी होगा। इंडिया गेट हो या लाल किला हो, संसद हो या नॉर्थ-साउथ ब्लॉक, इन सभी की भव्यता को बढ़ाया गया है साथ ही नेताजी सुभाष चंद्र बोस को समर्पित क्रांति म्युजियम का निर्माण हुआ है, नेशनल वार मेमोरिलय बनवाया गया। अब 26 जनवरी को होने वाली झांकियों को कई दिनों तक लाल किले में रखा जाता है और जिससे एक भारत, श्रेष्ठ भारत का संदेश देशवासियों तक पहुंचता है और छोटे-छोटे व्यापारियों का भी व्यव्साय चलता है।
श्री मोदी ने कहा कि दिल्ली की सरकार में बैठे लोगों ने पुलिस के लिए अभ्रद भाषा का प्रयोग करते हैं, ये कैसे लोग हैं जिन्हें ये तक नहीं पता की आजादी के बाद सामान्य लोगों की रक्षा के लिए 33,000 पुलिस के जवानों ने शहादत दी थी। एक तरफ वो सोच है जो पुलिस के बलिदान को भूल कर उन्हें गाली देती है, एक तरफ भाजपा की सोच है जिसने दिल्ली में पुलिस वालों को इज्जत देने के लिए नेशनल पुलिस मेमोरियल का निर्माण करवाया। 2022 तक भारत वंदना पार्क भी बनकर तैयार हो जाएगा जहां पर्यटक पूरे देश की कला, संस्कृति, खान-पान का अनुभव कर पाएंगे। द्वारा में वर्ल्ड क्लास कनवेंशन सेंटर बनने वाला है जिससे रोजगार के अवसर बढ़ेगे। केंद्र सरकार का निरंतर प्रयास रहा है कि दिल्ली के हर जरूरतमंद के साथ खड़ी हो, उसका साथी बनकर काम करें। बीते पांच सालों में केंद्र सरकार ने दिल्ली की 80,000 गरीब महिलाओं को केंद्र सरकार ने मुफ्त गैस कनेकश्न दिया, एलईडी बल्ब बांटे गए। अलग-अलग योजनाओं के तहत केंद्र सरकार ने दिल्ली के लोगों के बैंक खाते में लगभग 10 हजार करोड़ रुपए ट्रांसफर किए गए जिसमें से 3 हजार करोड़ से ज्यादा सस्ती गैस के लिए, दिव्यांगजनों व बुजुर्गों को लगभग साढ़े 400 करोड़ रुपए दिए गए। सरकार के इन प्रयासों का लाभ हर वर्ग के लोगों को मिला है। गरीबों को शसक्त करना, उनकी चिंता दूर करना, मुश्किल समय में साथ देना ही भाजपा सरकार की संवेदनशीलता दिखाता है। सालों तक देश में असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों के बारे में कभी चर्चा नहीं हुई न ही उनकी सुध ली गई लेकिन भाजपा सरकार ने इन श्रमिकों के लिए 60 वर्ष के आयु की बाद 3000 रुपए की नियमित मासिक पेंशन की सुविधा देने की शुरुआत की है। किसानों, मजबूरों, छोटे-छोटे व्यापारियों को भी पेंशन योजना का लाभ मिलेगा और 2-2 लाख की दुर्घटना व जीवन बीमा भी मिलेगा। ऐसी योजनाएं ही दिल्ली और देश की जनता को ये मजबूती देती है। हमेशा से देश और दिल्ली वासियों के जीवन को सरल बनाना ही भाजपा की प्राथमिकता रही है। आज एक देश एक सुविधा की तरफ आगे बढ़ रहा है, एक देश एक राशन कार्ड से दिल्ली वालों को बहुत लाभ मिलेगा और दूसरे राज्यों में जाने पर अलग राशन कार्ड बनवाने की समस्या खत्म होगी। दिल्ली में राशन कार्ड बनवाने का लेकर कई समस्याएं थी, लेकिन एक देश एक राशन से ये समस्याएं खत्म होंगी। एक देश, एक टैक्स यानी जीएसटी के कारण जरूरतों के 99 प्रतिशत सामानों का दाम कम हुआ है। फास्ट टैग कार्ड की सुविधा भी अब शुरु हो चुकी है जिससे टॉल प्लाजा पर लगने वाले जाम कम हो रहे हैं। एक देश एक कार्ड की व्यवस्था की ओर भी काम चल रहा है जिसमें मेट्रो से लेकर शॉपिंग तक के लिए एक ही कार्ड का प्रयोग होगा। जब सही मायने में व्यवस्था का, परिवर्तन का जज्बा मन में होता है तो बड़े संकल्प सिद्ध होने लगते हैं।
श्री मोदी ने कहा कि दिल्ली भाजपा ने बेटियों की पढ़ाई को प्रोत्साहित करने के लिए जो संकल्प लिए हैं वो सराहनीय है। आर्थिक रूप से कमजोर परिवार की बेटियों को साईकिल और इलेक्ट्रिक स्कूटी देने का वादा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के संकल्प को और मजबूत करेगा। परिवार की पहली दो लड़कियों को 21 साल की उम्र में 2 लाख रुपए देने का वादा केंद्र की सुकन्या योजना को विस्तार देगा। बीते महीनों में दिल्ली के लोगों ने ये अनुभव किया है कि भाजपा हमेशा अपने संकल्प को पूरा करने के लिए प्रयासरत रहती है, बाकियों की तरह चुनाव जीतने के लिए 6 महीने पहले काम करने का तमाशा नहीं करती है। भाजपा को विजयी बनाने के लिए वोट की अपील करते हुए श्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि दिल्ली को सुरक्षित बनाने के लिए, अराजकता और हिंसा से मुक्ति दिलाने के लिए, दिल्ली को विश्वस्तरीय राजधानी बनाने के लिए दिल्ली वाले 8 फरवरी को कमल के निशान का बटन दबाकर दिल्ली में भाजपा की सरकार बनाएं।
राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने कहा कि दिल्ली विधानसभा चुनाव ऐसा चुनाव है जिसमें सामनेवाला प्रचार में जो कुछ भी कह रहा है वो सिर से लेकर पैर तक झूठ में डूबा है जिसने दिल्ली को छला है और जिसने दिल्ली के लोगों को केंद्र की ओर से दिए जा रहे लाभ से वंचित रखा है। आम आदमी पार्टी सरकार ने आर ओ से भी बेहतर पानी देने का वादा किया लेकिन दिल्लीवालों को साफ पानी भी न दे सके, उल्टा गंदा पानी पीने पर मजबूर कर दिया है। शिक्षा, स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी दिल्ली पिछड़ गई है। न नए कॉलेज खुले, न नए स्कूल, हॉस्पिटल वेंटीलेटर पर हैं, मोहल्ला क्लिनिकों में जानवरों ने डेरा जमा लिया है। आम आदमी पार्टी दिल्ली के लोगों के सवालों से बचने के लिए सभा की जगह रोड शो कर चुनाव प्रचार कर रही है। इससे साफ स्पष्ट है कि केजरीवाल दिल्ली की जनता को जबाव देने के लायक नहीं हैं। 8 फरवरी को भाजपा के पक्ष में वोट डालकर दिल्ली के लोग दिल्ली को आगे बढ़ाने में अपना योगदान देंगे।
हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चैटाला ने कहा कि दिल्ली के लिए आगामी 48 घंटे अहम हैं, केंद्र की ताकत को दिल्ली के साथ जोड़ना होगा। दिल्ली की दुर्दशा पर केजरीवाल कहते हैं कि उन्हें काम नहीं करने दिया गया और टीवी पर आकर कहते हैं कि आम आदमी पार्टी सरकार ने दिल्ली में बदलाव और विकास किया है, कोई इनसे पूछे अगर काम करने की ताकत नहीं थी तो ये काम कैसे किए। दिल्ली के लोगों को तय करना होगा कि आपका भविष्य कौन सुरक्षित कर सकता है। दिल्ली को विकास के पथ पर भाजपा सरकार ही ले जा सकती है।
राष्ट्रीय महामंत्री डॉ. अनिल जैन ने कहा कि वर्तमान में दिल्ली में जिस तरह के लोग सत्ता में बैठे हैं, जिस प्रकार से लोगों में झूठ और भ्रम फैला रहे हैं ऐसे लोगों को 8 फरवरी को कमल के निशान का बटन दबाकर भाजपा को प्रचंड बहुमत से विजय दिलाकर सत्ता से बाहर करना है। भले ही दिल्ली में भाजपा की सरकार न हो, लेकिन दिल्ली के विकास के लिए भाजपा ने वो सारे काम किए जो दिल्ली की वर्तमान सरकार ने नहीं किया और न ही कर सकती है। केजरीवाल सरकार झूठ की सरकार है, वास्तविकता से इनका कोई लेना-देना नहीं है।
सांसद प्रवेश साहिब सिंह ने कहा कि दिल्ली के लोगों की समस्याओं को सुन कर उन्हें सुलझाना ही हमारी प्राथमिकता है इसलिए लोगों के सुझाव बहुत महत्वपूर्ण है। मोदी जी ने जो भी वादा जनता से किया उसे पूरा किया है। ये भाजपा की ही सरकार है जो हर वर्ग के लोगों के विकास के लिए काम करती है। भाजपा हमेशा गरीबों के लिए कल्याणकारी योजना लागू करवाने के लिए प्रतिबद्ध है और ये जनकल्याणकारी योजनाएं कभी बंद नहीं होंगी क्योंकि भाजपा का उद्देश्य ही है सबका साथ, सबका विकास और दिल्ली की जनता को भी भाजपा की नीतिओं पर विश्वास है। दिल्ली में भाजपा की सरकार बनाकर दिल्ली के लोग दिल्ली बदलने की राह आसान बनाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »