शिक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता होगी : मनीष सिसोदिया

http://doris-cappell.de/550-csde85152-erinnern-an-englisch.html नई दिल्ली। दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दिल्ली सचिवालय में सोमवार को कार्यभार संभालने के तुरंत बाद फाइनेंस विभाग और दिल्ली के शिक्षा विभाग की बैठकों की अध्यक्षता की। दिल्ली में आम आदमी पार्टी की लगातार तीसरी बार सरकार बनने पर उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पूर्व की तरह ही इस बार भी वित्त एवं शिक्षा विभाग की जिम्मेदारी संभाल रहे है।
वित्त विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ हुई बैठक की अध्यक्षता करते हुए उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने फाइनेंस विभाग के अधिकारियों द्वारा विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार के उन्मूलन की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि विभागीय भ्रष्टाचार का उन्मूलन करने के लिए सख्त कदम उठाने जरूरी हैं, ताकि विभाग से भ्रष्टाचार को पूरी तरह खत्म किया जा सके। उन्होंने कहा कि राजस्व संबंधी प्रभावी लक्ष्यों की स्थापना हमारा अगला कार्य होना चाहिए।
उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की। उन्होंने टीम को निर्देश दिया कि वह स्कूलों के बुनियादी ढांचे में सुधार लाने और नई कक्षाएं बनाने की प्रक्रिया में तेजी लाने पर ध्यान दें। हमें अपने स्कूलों के बुनियादी ढांचे में सुधार लाने पर काम करना जारी रखना होगा।
मनीष सिसोदिया ने कहा कि हमें सीसीटीवी कैमरों की स्थापना में तेजी लाने और छात्रों के लिए और अधिक नई कक्षाएं सुनिश्चित करने की आवश्यकता है। मनीष सिसोदिया ने कहा कि एसएमसी (स्कूल प्रबंधन समिति) का प्रभावी उपयोग भी महत्वपूर्ण है। उन्होंने अधिकारियों को स्कूलों और साईन बोर्डो की चारदीवारी की जांच करने का भी निर्देश दिया।
उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि दो विश्वविद्यालयों (दिल्ली स्किल एवं एंटरप्रिन्योरशिप यूनिवर्सिटी और स्पोट्र्स यूनिवर्सिटी) की स्थापना की प्रक्रिया में तेजी लाना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकताओं में शामिल है। आगे उन्होंने कहा कि दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान आम आदमी पार्टी का शिक्षा प्रमुख मुद्दा रहा और ऐसा लगता है कि जनता ने नई सरकार चुनने के दौरान शिक्षा को विशेष महत्व दिया है। लिहाजा शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने निदेशक मंडल को निर्देश दिया कि बारहवीं कक्षा के बोर्ड परीक्षा में 60 प्रतिशत से अधिक अंकों के साथ उत्तीर्ण होने वाले छात्रों को कालेजों में प्रवेश दिलाने में सहायता दी जाए।
उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली स्पोट्र्स यूनिवर्सिटी का मुख्य उद्देश्य उन छात्रों का प्रबंधन करना है जिनमें विभिन्न खेलों में उत्कृष्टता प्राप्त करने की क्षमता है। दिल्ली सरकार छात्रों को व्यावसायिक विषयों में प्रशिक्षित करने के लिए स्किल एवं एंटरप्रिन्योरशिप यूनिवर्सिटी भी स्थापित कर रही है, जिससे अंतत: बेरोजगारी के मुद्दे का समाधान होगा और अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा।

Leave a Reply

singlar i nybro-s:t sigfrid Your email address will not be published. Required fields are marked *

hamarøy single

Translate »