कोरोना के लिए एडवांस तैयारी चल रही हैः सत्येंद्र जैन

rediger annonce site de rencontre Trossingen नई दिल्ली। कोविड के बढ़ते संक्रमण और तैयारी को लेकर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि सरकार की तैयारी एडवांस में चल रही है। जितने मरीज आज हैं, उसके दो से तीन गुणा बढ़ने की आशंका को देखते हुए तैयारी की जा रही है। यह वायरस एकदम से खत्म होने वाला नहीं है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सभी लोग यह अनुमान लगा रहे थे कि कोरोना जल्द खत्म हो जाएगा, लेकिन अब तक यह खत्म नहीं हुआ है, यह लंबे समय तक चलेगा। इसके लिए एडवांस प्लानिंग करके चलना पड़ेगा और अगर केस बढ़ते हैं, तो उसके हिसाब से तैयारी करनी पड़ेगी।
सत्येंद्र जैन ने कहा, ‘हम बहुत सारे नए विचारों को अपना रहे हैं। 5 स्टार होटल को अस्पताल में कन्वर्ट किया। दिल्ली की दो करोड़ की आबादी है। कोविड से संक्रमित लगभग 20 हजार मरीज हैं। दिल्ली के बढ़ते केस को देखते हुए हमें तैयारी करनी जरूरी है और हम कर रहे हैं। जो भी केस पॉजिटिव आ रहे हैं उसका इलाज भी किया जा रहा है।’

stromectol over the counter south africa देश में कहां कितने कोरोना के मरीज, पूरी लिस्ट

http://seasonedtoimpress.com/4299-cs69210-penny-roulette-betfair.html स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इस संक्रमण का डबलिंग रेट 14 दिन के करीब चल रहा है। आज अगर 20 हजार केस है तो आने वाले 14 दिनों में 40 हजार के आसपास पहुंचने वाले हैं, तो तैयारियां उस हिसाब से करके चलनी है। तैयारियां आज करनी हैं न कि 2 महीने बाद। अगले तीन-चार हफ्ते के लिए तैयार होकर चलना है।
सत्येंद्र जैन ने कहा कि यह सीखना पड़ेगा कि इसके साथ कैसे रहना है। इसको एकदम से खत्म नहीं किया जा सकता है। सभी यह अनुमान भी लगा रहे थे कि टेंपरेचर ज्यादा होने से भी यह वायरस खत्म हो जाएगा लेकिन यह नहीं हुआ। इसके साथ कैसे जिया जाए सभी को इसका तरीका निकालना पड़ेगा।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री ने जनता से कहा है कि सब कुछ तैयारी कर ली है। दिल्ली में लगभग 9000 बेड की तैयारी कर ली गई है। एडमिशन 3000 से भी कम है। जो बेड खाली हैं हो सकता है कि तीन-चार दिनों में ही भर जाएं, तो फिर दिल्ली वाले कहां जाएंगे यह सोचने वाली बात है। तैयारी हम दिल्ली वालों के लिए सोच कर चल रहे थे। कई सारे लोग यह कह रहे हैं कि दिल्ली को अपने लिए नहीं सोचना चाहिए सब के लिए सोचना चाहिए। लेकिन दिल्ली वालों के लिए कौन सोचेगा यह भी सोचने वाली बात है। दिल्ली में जो लोग रह रहे हैं उनका तो कोई सोचेगा। अगर उनके लिए हम भी नहीं सोचेंगे तो बाहर वाले भी नहीं सोचेंगे। पूरे देश में यह महामारी फैली है। इस महामारी के लिए अच्छी तैयारी करके रखनी चाहिए। (साभार : नवभारत टाइम्स)

Leave a Reply

Alsfeld rencontre coquine gueret Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »