कोरोना के डर ने पानी के टैंकरों की डिमांड भी घटाई

नई दिल्ली: कोरोना संक्रमण के खौफ के बीच दिल्ली में इस बार पानी सप्लाई की शिकायतें काफी अधिक आने लगी हैं। हालांकि पानी की समस्या न होने की बात दिल्ली जल बोर्ड ने कही है। जल बोर्ड अधिकारियों के अनुसार इस सीजन में पानी के टैंकरों की डिमांड काफी कम है। लोग टैंकर की बजाय सप्लाई से ही पानी की डिमांड कर रहे हैं। बॉर्डर सील होने, कर्मचारियों की कमी, लेबर न मिल पाने की वजह से दिल्ली जल बोर्ड के कई काम नहीं हो पा रहे हैं। जल बोर्ड के अनुसार टैंकरों में पानी की व्यवस्था के लिए पूरा नेटवर्क तैयार है। लोगों को बताया जा रहा है कि सप्लाई का पानी जितना सुरक्षित है, उतना ही टेंकर का पानी भी सुरक्षित है।
कमांड टैंक में आने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों तक के रोज स्क्रीनिंग हो रही है। इसके बाद ही उन्हें टैंकर हेंडओवर किया जाता है। इसके अलावा टैंकर आने के बाद भी भीड़ न लगे और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो इसकी व्यवस्था भी की गई है। टैंकर के साथ संबंधित पुलिस थाने या चौकी का स्टाफ आता है तो लोगों को भीड़ नहीं करने देता।
गर्मियों के दौरान पानी की डिमांड करीब 1000 से 1200 एमजीडी हो जाती है, जबकि जल बोर्ड की सप्लाई 925 एमजीडी की है। जहां पर सप्लाई नहीं होती या फिर कम प्रेशर होने की वजह से जिन घरों में पानी नहीं पहुंच पाता, टैंकरों से पानी भिजवाने की व्यवस्था होती है। जल बोर्ड के अनुसार जल बोर्ड के पास 407 वॉटर टैंकर कॉन्ट्रेक्ट पर हैं, 420 उसने हायर किए हुए हैं। 250 डिपार्टमेंट के अपने वॉटर टैंकर हैं। ऐसे में गर्मियों के दौरान अप्रैल से जुलाई के दौरान 1077 वॉटर टैंकर पानी की कमी वाले जगहों पर जाकर पानी उपलब्ध करवाते हैं। लेकिन इस बार टैंकरों से पानी लेने को लोग तैयार नहीं है। उनका कहना है कि टैंकर से पानी लेने के दौरान भीड़ रहेगी और जिसकी वजह से वह संक्रमण की चपेट में आ सकते हैं। (साभार : नवभारत टाइम्स)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »