उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने वर्चुअल शिक्षा संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया

नई दिल्ली। उत्तरी दिल्ली नगर निगम शिक्षा समिति की अध्यक्षा सुश्री गरिमा गुप्ता द्वारा वर्चुअल शिक्षा संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की विशेष बात ये रही की इस कार्यक्रम में निगम के सभी 700 स्कूलों के निगम अधिकारी, स्कूलों के प्रधानाचार्य, शिक्षक, स्कूल मैनेजमेंट कमेटी के सदस्य व अभिभावकों समेत लगभग 6000 प्रतिभागी शामिल हुए। निगम शिक्षा विभाग द्वारा ये पहला ऐसा कार्यक्रम था जिसमें एक साथ इतनी बड़ी संख्या में प्रतिभागी शामिल हुए।
गरिमा गुप्ता के स्मरण कराने पर सभी प्रतिभागियों द्वारा सर्वप्रथम अनुबंधित शिक्षिका स्वर्गीय बेकाली सरकार की आत्मा की शांति हेतु 2 मिनट का मोन रखा गया। उन्होंने ने कहा कि कोरोना महामारी में जब लोग अपने घर से बाहर भी नही निकल पा रहे थे तब निगम के हमारे टीचर्स कोरोना वारियर्स के रूप में जरूरतमंदों को राशन बांट कर अपनी ड्यूटी निभा रहे थे। अपने कार्य का निर्वहन करते हुए हमारे अनेक शिक्षक कोरोना से संक्रमित भी हो गए।
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता उपस्थित रहे जिनके द्वारा सभी प्रतिभागियों को प्राथमिक शिक्षा के सम्बन्ध में नई शिक्षा निति के क्रियान्वन तथा कोरोना संकट काल में भी छात्रों को गुणवत्ता परख शिक्षा उपलब्ध कराने हेतु निगम शिक्षा विभाग के अथक प्रयासों के बारे में अवगत करवाया गया। इस जन संवाद कार्यक्रम को आयोजित करने के लिए सुश्री गरिमा गुप्ता की सराहना की।
अध्यक्षा शिक्षा समिति ने नई शिक्षा निति के विषय में कहा की ये हम सबके लिए बड़ा ही हर्ष का विषय है की माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में अनेक वर्षो के गहन विचार विमर्श के बाद नई शिक्षा निति लाई गई है जिससे देशभर में शिक्षा का क्षेत्र सृजनात्मक बदलाव की और अग्रसर है। निगम के शिक्षा विभाग कोरोना काल में अपने सिमित संसाधनों के बावजूद भी बच्चों को शिक्षा प्रदान करने का कार्य अविराम कर रहा है जिन बच्चो के परिवार में फोन व् इनटरनेट की सुविधा नहीं है उन्हें निगम के होनहार शिक्षकों द्वारा वर्कशीट्स के माध्यम से पढ़ाया जा रहा है ताकि सभी विद्यालयों में देश और समाज के उज्जवल भविष्य हेतु छात्रों के शिक्षण का कार्य सुचारु रूप से चलता रहे। बच्चों के शिक्षण का कार्य तो हो रहा है साथ ही अभिभावकों, स्कूल मैनेजमेंट कमेटी के सदस्यों व् शिक्षकों के बीच भी सामंजस्य बना रहे, छात्रों की शिक्षा के विषय में किसी प्रकार का कम्युनिकेशन गैप न हो, इसी को देखते हुए तकनीक के माध्यम से आज का ये ‘वर्चुअल शिक्षा संवादÓ कार्यक्रम आयोजित किया गया हैं।
उन्होंने बताया कि शिक्षा निति के अंतर्गत निगम स्कूलों में अनेक बदलाव होने वाले हैं नई शिक्षा नीति में व्यवहारिकता व कौशल विकास पर जोर दिया गया है। नई शिक्षा नीति का उद्देश्य बच्चों की क्षमता को बढ़ाना तथा उन्हें गुणवत्ता परक शिक्षा उपलब्ध कराना है, इसमें बच्चों की रूचि अनुसार उन्हें कैसे पढ़ाना है, इस बात पर जोर दिया जायेगा। इससे बच्चे का विकास होगा और ये नीति बच्चों को क्रिएटिव बनाएगी। चाहे कोई बच्चा विकलांग हो, आर्थिक रूप से गरीब हो या फिर किसी भी कारण पढऩे में असमर्थ हो, ऐसे बच्चो को शिक्षा दिलवाना मेरी प्राथमिकता है।
अंत में कार्यक्रम से जुड़ कर कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए उन्होंने सभी प्रतिभागियों का धन्यवाद किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »