हिन्दी के प्रसार बढ़ाने के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी को अपनाना होगा : राष्ट्रपति

नई दिल्ली। राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द मॉरिशस में आयोजित 11वें विश्व हिन्दी सम्मेलन में सम्मानित भारतीय विद्वानों के अभिनंदन समारोह में शामिल हुए। इस अवसर पर राष्ट्रपति ने कहा कि विश्व में हिन्दी की उपस्थिति मजबूत है। भारत के बाहर एक करोड़ से अधिक लोग हिन्दी बोलते हैं और प्रमुख विश्वविद्यालयों में हिन्दी पढ़ाई जाती है। ग्यारहवें विश्व हिन्दी सम्मेलन में 45 देशों के 2000 से अधिक प्रतिनिधियों ने भाग लिया। राष्ट्रपति ने कहा कि हिन्दी को अपनी उपस्थिति बढ़ाने के लिए विषय और प्रसार दोनों में विज्ञान और प्रौद्योगिकी को अपनाना होगा। राष्ट्रपति ने कहा कि हम टेक्नोलॉजी के युग में रह रहे हैं। स्मार्ट फोन भाषाओं की दूरियां कम कर रहे हैं। इसी तरह हिन्दी के प्रचार-प्रसार में टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जा सकता है। राष्ट्रपति ने भारत और भारत से बाहर हिन्दी को लोकप्रिय बनाने में हिन्दी सिनेमा की भूमिका की सराहना की।
(पीआईबी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *