सफाई कर्मचारियों की हड़ताल के लिए भाजपा व जिम्मेदार : शर्मिष्ठा मुखर्जी

http://ibyang.com/1594-cs34315-gambling-online-forum.html नगर संवाददाता
नई दिल्ली । दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की मुख्य प्रवक्ता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने भाजपा व आम आदमी पार्टी की दोनो सरकारों को दो हफते से ज्यादा से चल रही पूर्वी दिल्ली नगर निगम के सफाई कर्मचारियों की हड़ताल के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि दोनो पार्टियों की लापरवाही से दिल्ली आज गंदगी का ढेर बन गई है और महामारी फैलने की स्थिति दिल्ली में बन गई है। शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि हम पूर्वी दिल्ली नगर निगम के सफाई कर्मचारियों की हड़ताल का पूरा समर्थन करते है और दोनों पार्टियों से अनुरोध करते है कि जल्द से जल्द सफाई कर्मचारियों की मांगों को पूरा किया जाए ताकि हड़ताल खत्म हो सके। ज्ञात हो कि कांग्रेस की दिल्ली सरकार ने अपने 15 वर्षो के कार्यकाल में कभी भी दिल्ली के सफाई कर्मचारियों के हितों की अनदेखी नही की जिससे उन्हें कभी हड़ताल पर नही जाना पड़ा। संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2004 में 4 साल पहले गांधी जयंती के अवसर पर स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की थी परंतु दिल्ली में सफाई कर्मचारियों को उनका वेतन व एरियर न मिलने के कारण हो रही लगातार हड़ताल तथा सीवर सफाई करते समय 6 सफाई कर्मचारियों की मौत ने मोदी के स्वच्छ भारत अभियान के खोखले पन को उजागर कर दिया है। उन्होंने कहा कि बड़े दुख की बात है कि दिल्ली जो देश की राजधानी है वहां पर चारो तरफ गंदगी के ढेर पड़े हुए है और डेंगू, चिकनगुनिया, मलेरिया, डिपथीरियां इत्यादि बीमारियां फैलने की पूरी संभावना है। आज के संवाददाता सम्मेलन शर्मिष्ठा मुखर्जी के साथ वरिष्ठ नेता चत्तर सिंह, पूर्व विधायक जय किशन, चरण सिंह कंडेरा व वीर सिंह धींगान, लीगल एवं मानव अधिकार विभाग के चैयरमेन एडवोकेट सुनील कुमार तथा मुख्य मीडिया कॉआर्डिनेटर मेंहदी माजिद मौजूद थे।
शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत भारत सरकार के नियमों के अनुसार विभिन्न मदों में पैसा जारी किया जाता है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार भी उसमें कुछ अपना प्रतिशत लगाती है। परंतु बड़े दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि दिल्ली सरकार को स्वच्छ भारत के तहत जो राशि मुहैया कराई गई वह खर्च नही की गई। उन्होंने कहा कि 2014-19 में 349.76 करोड़ केन्द्रीय सहायता के तहत इयरमार्क किया गया था परंतु 2015-16 के वित वर्ष के पश्चात कोई पैसा नही दिया गया और शहरी विकास मंत्रालय से 2016-17, 2017-18 और 2018-19 में दिल्ली सरकार और दिल्ली नगर निगम द्वारा पैसे को खर्च करने का प्रमाण न जमा करने के कारण उनको कौई पैसा स्वच्छ भारत मिशन अरबन के तहत नही मिला। अभी तक स्वच्छ भारत मिशन के तहत दिल्ली में138.67 करोड़ रुपया ही रिलीज हुआ है। जिसमें से केवल 20.73 करोड़ रुपया ही खर्च हुआ है।
शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि यदि ऐसी हालत दिल्ली की है तो पूरे देश में स्वच्छ भारत मिशन का क्या हाल होगा।
शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि आप पार्टी की दिल्ली सरकार केन्द्र की मोदी सरकार, दिल्ली के उपराज्यपाल और दूसरों से आए दिन लड़ाई का बहाना बनाकर एक दूसरे पर छीटांकशी करते है परंतु पूर्वी दिल्ली नगर निगम के सफाई कर्मचारियों को हड़ताल पर गए दो हफते से ज्यादा हो गए है परंतु आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार और भाजपा की केन्द्र व तीनों निगमों की सरकार ने अभी तक इनकी हड़ताल को खत्म करवाने के लिए कोई समाधान नही निकाला है। आप पार्टी और भाजपा की सरकारों की वजह से दिल्ली का विकास रुक गया है और हालत बद से बदतर होती जा रही है।
पूर्व विधायक जय किशन, चरण सिंह कंडेरा तथा वीर सिंह धींगान ने कहा कि सफाई कर्मचारी भाजपा व आप पार्टी की सरकार के कार्यकाल में बहुत बुरा समय झेल रहे है। उन्हें समय पर न तो वेतन दिया जा रहा है और न ही उन्हें एरियर मिला है। उन्होंने बताया कि सफाई कर्मचारियों को करोड़ो रुपये की राशि सरकार को देनी बाकी है और कुछ कर्मचारी तो ऐसे है जो दो साल पहले रिटायर्ड हुए थे उनको आज तक पेन्शन तथा दूसरे रिटायरमेन्ट भत्ते नही मिले है। उन्होंने कहा कि बड़े दुख की बात है कि दोनो सरकारे सफाई कर्मचारियों की परेशानियों के प्रति संवेदनशीलता नही दिखा रहीं है जिसके कारण मजबूर होकर सफाई कर्मचारियों को हड़ताल पर जाना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि दोनो सरकारें मजदूर विरोधी, जन विरोधी तथा सफाई कर्मचारी विरोधी है और भाजपा का तो यह हाल है कि उसको आर.एस.एस. चला रही है जो कि दलित विरोधी है।

Leave a Reply

https://empreiteiraprese.com.br/2032-dpt14680-ela-procura-ele-tavira.html Your email address will not be published. Required fields are marked *

bokofra Kūkatpalli

Translate »