कांग्रेस की जीत से कमलनाथ खुश, कहा- मध्य प्रदेश से भाजपा का विदाई कार्यक्रम शुरू

नई दिल्ली, 08 अगस्त। मध्य प्रदेश में चुनावी वर्ष में भाजपा को बड़ा झटका लगा है। राज्य के 14 जिलों में नगर निगमों की 14 सीटों पर कराये गये उपचुनाव में कांग्रेस ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 14 में से 9 सीटों पर विजय हासिल की जबकि भाजपा को मात्र चार सीटों से ही संतोष करना पड़ा। एक सीट पर एक निर्दलीय उम्मीदवार की जीत हुई है। राज्य में भाजपा चैथी बार सत्ता में आने का प्रयास कर रही है और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान जन आशीर्वाद यात्रा पर निकले हुए हैं और फिर से सरकार बनाने के लिए आश्वस्त नजर आ रहे हैं। लेकिन इन 14 निकाय सीटों के परिणाम दर्शाते हैं कि सरकार के प्रति निचले स्तर पर नकारात्मक प्रभाव है तथा कांग्रेस यदि और मेहनत करे तो राज्य के राजनीतिक परिणाम उसके पक्ष में भी जा सकते हैं।

इन उपचुनावों के लिए 3 अगस्त को मतदान कराया गया था। भाजपा के लिए चिंताजनक बात यह है कि इंदौर जहां पर भाजपा की मजबूत पकड़ मानी जाती है वहां हुए उपचुनाव में भी भाजपा की करारी हार हुई है। कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार की इंदौर जिला पंचायत में वार्ड नंबर-3 पर विजय हुई है। इस सीट पर प्रचार के लिए भाजपा ने अपने मजबूत नेता कैलाश विजयवर्गीय को उतारा था जिन्होंने घनश्याम पाटीदार के लिए प्रचार किया था जबकि कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी और जिला कांग्रेस अध्यक्ष सदाशिव यादव ने जिस निर्दलीय उम्मीदवार दिनेश ठाकुर को मैदान में उतारा था वह चुनाव जीत गये।

इसके अलावा कांग्रेस ने निकाय चुनावों में भाजपा से दो सीटें छिंदवाड़ा में छीन लीं। कांग्रेस ने भोपाल, बुरहानपुर, नीमच, ग्वालियर, सिंगरौली, सतना और गुना में भी एक-एक सीट पर विजय हासिल की। भाजपा के लिए राहत की बात यह रही कि मंदसौर में अपनी सीट पर कब्जा रखने में सफल रही। मंदसौर वही जगह है जहां पिछले वर्ष किसान आंदोलन की चिंगारी भड़की थी। भाजपा इसके अलावा दमोह, दतिया और अनूपपुर में जीत हासिल करने में सफल रही। भिंड से निर्दलीय उम्मीदवार जीतने में सफल रहा।

भाजपा ने उपचुनाव नतीजों पर प्रतिक्रया देते हुए कहा है कि निकाय चुनावों में स्थानीय मुद्दे हावी होते हैं इसलिए इनका विधानसभा चुनावों पर कोई असर नहीं पड़ेगा। पार्टी प्रवक्ता दीपक विजयवर्गीय ने कहा कि पार्टी ने विधानसभा चुनावों में भाजपा एक बार फिर जीत हासिल करेगी। दूसरी ओर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा है कि यह परिणाम दर्शाते हैं कि हवा बदल रही है। कमलनाथ ने कहा, भाजपा की विदाई का कार्यक्रम शुरू हो गया है। इन उपचुनाव परिणामों ने दर्शा दिया है कि शिवराज सिंह चैहान की सरकार विफल साबित हुई है। —————(वेबवार्ता)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *