ताजा ख़बर

आलोचक मत बनो, समस्या तकनीकी नहीं मानसिक हैः कोहली

लंदन, 09 अगस्त (वेबवार्ता)। कप्तान विराट कोहली ने भारतीय क्रिकेट के प्रशंसकों से आग्रह किया कि केवल एक टेस्ट मैच के बाद टीम की खराब बल्लेबाजी प्रदर्शन को लेकर सीधे निष्कर्ष पर नहीं पहुंचे क्योंकि समस्या तकनीक के बजाय मानसिकता से जुड़ी है। भारत ने इंग्लैंड से पहला टेस्ट मैच 31 रन से गंवाया। उस मैच में केवल कोहली ही दोनों पारियों में 50 रन की संख्या पार कर पाये।

कोहली ने दूसरे टेस्ट मैच की पूर्व संध्या पर कहा, हमें इतनी जल्दी नतीजे पर नहीं पहुंचना चाहिए। एक टीम के तौर पर हम संयम बनाये रखते हैं। हम इतनी जल्दी अनुमान नहीं लगाते। हम (असफलताओं के लिये) कोई तरीका नहीं देखते। जहां तक तेजी से विकेट गिरने की चिंता है तो यह तकनीक से नहीं जुड़ा है बल्कि यह मानसिक पहलू अधिक है। उन्होंने कहा, पहली 20-30 गेंदें कैसे खेलनी हैं इसको लेकर रणनीति स्पष्ट होनी चाहिए और अमूमन इस रणनीति में आक्रामकता नहीं जुड़ी होती है। इस समय हमें आक्रामकता के बजाय संयम बरतने की जरूरत हाती है। बल्लेबाजी इकाई के रूप में हमने इस पर चर्चा की।

कोहली ने कहा कि टीम के हिसाब से वे इसका विश्लेषण नहीं करते कि हार कितनी बुरी थी क्योंकि उनका ध्यान अगले मैच में गलतियों पर कटौती करने पर होता है। उन्होंने कहा, बाहर से देखने पर यह बहुत बुरा लगता है विशेषकर तब जबकि यह टेस्ट क्रिकेट हो और हम इंग्लैंड में खेल रहे हों जहां यह हर हाल में मुश्किल होना है। लेकिन हमें केवल गलतियों में कमी करने की जरूरत है और इससे आगे हमें बहुत चिंता करने की जरूरत नहीं है।

कोहली की कप्तानी पर सवाल उठाये जा रहे हैं लेकिन कप्तान ने स्वयं का बचाव करते हुए कहा कि वह अपनी तरफ से सर्वश्रेष्ठ दे रहे हैं। उन्होंने कहा, एक कप्तान के रूप में मैं जितना प्रयास कर सकता हूं कर रहा हूं तथा टीम प्रबंधन से भी लगातार फीडबैक मिलता रहता है। लोगों का खेल को देखने का अपना नजरिया होता है और कप्तानी के मामले में उनके अपने विचार होते है लेकिन मुझे लगता है कि मेरा सभी खिलाड़ियों के साथ अच्छा संवाद है।कोहली ने संकेत दिये कि पिच सूखी हुई दिख रही है और ऐसे में रविंद्र जडेजा या कुलदीप यादव के रूप में दूसरा स्पिनर उतारा जा सकता है।

उन्होंने कहा, यह आकर्षक लग सकता है। अभी पिच देखकर आया हूं जो कभी कड़ी और बहुत शुष्क लग रही है। पिछले दो महीनों से लंदन में काफी गर्मी है। पिच पर अच्छी घास भी है और यह विकेट के लिये जरूरी भी है।कोहली ने कहा, दो स्पिनरों के साथ उतरने का विचार अच्छा लग रहा है लेकिन हम टीम संतुलन को देखकर फैसला करेंगे। लेकिन दो स्पिनर निश्चित तौर पर टीम में जगह के दावेदार हैं।
——————–(वेबवार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *