ताजा ख़बर

अवसर मिले तो लड़कियां भी चुनौतियों का सामना कर सकती हैं : राठौर

नगर संवाददाता

नई दिल्ली। सूचना एवं प्रसारण तथा युवा एवं खेल मामलों के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) कर्नल राज्यवर्धन राठौर ने महिला पर्वतारोही दल को हिमाचल प्रदेश के माउंट मनीरंग ( 6593 मीटर- 21631 फुट) अभियान पर झंडी दिखाकर रवाना किया। यह अभियान महिलाओं के 1993 के माउंट एवरेस्ट अभियान की रजत जंयती के उपलक्ष्य में आयोजित किया गया है।

कर्नल राठौर ने महिला पर्वतारोही दल को मनीरंग अभियान पर भेजने के लिए भारतीय पर्वतारोहण फाउंडेशन के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि इससे समाज में यह संदेश गया है कि यदि अवसर दिए जाएं तो लड़कियां भी चुनौतियों का सामना कर अपनी पहचान बना सकती हैं। उन्होंने कहा कि यह इस बात का भी संकेत है कि बच्चों को यह फैसला लेने का मौका दिया जाना चाहिए कि आखिर वह भविष्य में क्याकरना चाहते हैं। कर्नल राठौर ने कहा कि प्रधानमंत्री यह कहते रहे हैं कि जो खेलों में हिस्सा लेते हैं वहीं फलते फूलते हैं। उन्होंने कहा कि माउंट मनीरंग अभियान दल में शामिल लड़कियों में से कुछ ऐसे राज्यों  से भी हैं जहां न तो पर्वत है और नही बर्फ  है। यह चुनौतियों से निपटने की लड़कियों की दृढ़ इच्छा शक्ति को दर्शाता है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि देश में साहसिक खेलों को बढ़ावा देने के लिए ज्यादा वित्तीय मदद की जरुरत है।

माउंट मनीरंग अभियान पर निकले 19 सदस्यीय महिला पर्वतारोही दल की अगुवाई जानी-मानी पर्वतारोही सुश्री बिमला नेगी कर रही हैं। वह 1993 में माउंट एवरेस्ट अभियान पर गये महिला दल में भी शामिल थीं। माउंट मनीरंग अभियान दल में उत्तहराखंड, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, झारखंड, महाराष्ट्रम मध्य प्रदेश, हरियाणा, गुजरात, मणिपुर और हिमाचल प्रदेश की युवा महिला पर्वतारोहियों के अलावा 1993 के अभियान दल की 9 सदस्या भी शामिल हैं। इस अभियान दल के 24 अगस्त को माउंट मनीरंग पर पहुंचने की संभावना है।

वर्ष 1993 में माउंट एवरेस्टम अभियान पर गया भारत-नेपाल पवर्तारोही दल भारतीय पर्वतारोहण फाउंडेशन की ओर से भेजा गया पहला महिला पर्वतारोही दल था। इस अभियान को खेल और युवा मामलों के मंत्रालय की ओर से वित्तीरय मदद दी गई थी। इस 21 सदस्यीय दल की अगुवाई सुश्री बछेन्द्री पाल ने की थी। अभियान दल ने कई विश्व कीर्तिमान बनाए थे, जिसमें एक अकेले अभियान में सबसे ज्यादा 18 लोगों के माउंट एवरेस्ट को फतह करने तथा एक ही देश की सबसे ज्यादा 6 महिला पर्वतारोहियों के माउंट एवरेस्टज पर पहुंचना शामिल था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *