ताजा ख़बर

दिल्ली सरकार का लक्ष्य विश्वविद्यालय को टॉप-10 में लाना है : केजरीवाल

 नगर संवाददाता

नई दिल्ली।  दुनिया के विभिन्न संस्थानों में उच्च पदों पर भारतीय बैठे हुए हैं, लेकिन दुनिया के टॉप 10 विश्वविद्यालय में एक भी भारतीय संस्थान नहीं है। दिल्ली सरकार का लक्ष्य है दिल्ली के संस्थान यह मुकाम हासिल करें। यह कहना है मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का। श्री केजरीवाल इंद्रप्रस्थ इंस्टीट्यूट ऑफ  इन्फॉर्मेशन एंड टेक्नोलॉजी (आईआईआईटी-दिल्ली) के ओखला कैंपस के फेज-2 कैंपस का उद्घाटन करते हुए उन्होंने कहा कि 10 साल पहले इस कैंपस की क्षमता 60 बच्चों की थी जो आज बढ़कर तीन हजार हो गई है। क्षमता बढऩे के साथ यहां सीट के अलावा खेल, योगा, पुस्तकालय सहित अन्य सुविधाएं भी बढ़ी हैं।

बाजवूद इसके दिल्ली में हजारों बच्चे हैं जिन्हें उच्च शिक्षा नहीं मिल पाती। दिल्ली में हर साल ढाई लाख बच्चे 12वीं पास होते हैं लेकिन लगभग आधे बच्चों को दाखिला नहीं मिल पाता जिसमें 97 फीसदी वाले बच्चे भी शामिल हैं। दिल्ली सरकार इस कमी को दूर करने का प्रयास कर रही है। केजरीवाल ने कहा कि युवाओं को राजनीति में आना चाहिए। इसमें पावर है, आज गलत लोग इसमें है यही कारण है कि इसमें गंदगी है। उन्होंने कहा कि आप किसी पार्टी से जुड़े यह नहीं कहते लेकिन देश पर नजर रखें कि चल क्या रहा है।

श्री केजरीवाल ने कहा कि पढ़ते समय भारत को ध्यान में रखना चाहिए। हमें ध्यान देना चाहिए कि इससे देश को क्या फायदा होगा। उन्होंने अपनी जिंदगी से जुड़ी एक घटना का जिक्र करते हुए कहा कि जब आईआईटी करने के बाद घर पहुंचा जो दादा ने पंखा ठीक करने को कहा। जब नहीं कर पाया तो दादा ने डांट दिया। उन्होंने कहा कि हमें जो पढ़ाया जाता है वह देश के काम नहीं आता। उन्होंने कहा कि अक्सर देखा गया है जो इंजीनियरिंग करते हैं उनमें से 80 फीसदी इसमें रहते ही नहीं। केजरीवाल ने कहा कि संस्थानों को स्किल सिखाने के साथ इंसानियत भी सीखना चाहिए। एक अच्छा इंजीनियर बनने के साथ एक अच्छा इंसान भी बनाना चाहिए।

श्री केजरीवाल ने कहा कि शिक्षा स्तर को सुधारने के लिए दुनियाभर में पढ़ा रहे भारतीयों को बुलाया जाएगा। उनकी मदद से दिल्ली में शिक्षा के स्तर को सुधारा जाएगा। दुनिया के बड़े संस्थानों में भारतीय उच्च पदों पर हैं लेकिन देश में स्थान नहीं है।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *