ताजा ख़बर

भारत के भविष्य पर चर्चा के लिए कांग्रेस को न्योता देगा आरएसएस

नई दिल्ली, 27 अगस्त। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पिछले कुछ समय से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के निशाने पर रहा है. इस बीच आरएसएस अगले माह होने वाले अपने एक कार्यक्रम के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और लेफ्ट नेता सीताराम येचुरी को निमंत्रण भेजने की तैयारी कर रहा है । आरएसएस का ये कार्यक्रम अगले महीने 17 से 19 सितंबर तक चलेगा. इसमें भविष्य का भारत कार्यक्रम के तहत राहुल और येचुरी समेत अन्य राजनीतिक दलों को आरएसएस न्योता भेजेगा.वहीं संघ के न्योते पर कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि पार्टी इस पर तभी बोलेगी जब उन्हें आधिकारिक तौर पर निमंत्रण मिलेगा।  वह पहले न्योते की भाषा देखना चाहती है। राहुल गांधी लगातार आरएसएस और भारतीय जनता पार्टी पर आक्रामक रूप से निशाना साधते रहे हैं।

हाल ही के दिनों में राहुल सीधे आरएसएस का नाम ले उसपर देश को बांटने का आरोप लगाते रहे हैं। हाल ही में अपने विदेशी दौरे के दौरान भी राहुल गांधी ने आरएसएस पर देश की संस्थाओं पर अपना एकाधिकार चलाने का आरोप लगाया था।  आपको बता दें कि भविष्य के भारत की परिकल्पना और संघ की सोच के विषय पर मोहन भागवत संवाद करेंगे। मोहन भागवत देश के प्रबुद्ध नागरिकों से  भविष्य का भारत- आरएसएस का दृष्टिकोण विषय पर 17 से 19 सितंबर तक दिल्ली के विज्ञानभवन में संवाद करेंगे।  प्रबुद्ध वर्ग राष्ट्रीय महत्व के विषयों पर संघ का दृष्टिकोण जानने को उत्सुक है इसलिए समसामयिक मुद्दों पर संघ के विचार मोहन भागवत सबके सामने रखेंगे। आरएसएस प्रचारक अरुण कुमार का कहना है कि इस बैठक में समाज के हर क्षेत्र के लोगों को बुलाया जाएगा।

जाहिर है कि राजनीतिक दलों को भी बुलाया जाएगा, हम सभी राजनीतिक पार्टियों को न्योता देंगे।  उन्होंने राहुल पर निशाना साधते हुए कहा कि जो अभी तक भारत को नहीं समझ पाया है, वह संघ को क्या समझेगा। अरुण कुमार ने कहा कि सारी दुनिया मुस्लिम आतंकवाद, मुस्लिम ब्रदरहुड से कितनी पीड़ित है।  अगर ये समझते तो ये नहीं कहते, वैसे भी वो कहते हैं कि अभी पूरे भारत को नहीं समझ पाए हैं, जब भारत को नहीं समझा है तो संघ को नहीं समझ पाएंगे।

(वेबवार्ता)

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *