ताजा ख़बर

स्वच्छ भारत मिशन अब जन-आन्दोलन का रूप लेता जा रहा : हरदीप सिंह पुरी

नगर संवाददाता

नई दिल्ली। भारत सरकार के आवास और शहरी मामलों के राज्यमंत्री हरदीप सिंह पुरी ने नई दिल्ली नगर पालिका परिषद् द्वारा दिल्ली के नगर निकायों के लिए ‘स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 विषय पर आयोजित एक कार्यशला का उद्घाटन करते समय कहा कि देश के सभी नगर निकायों को वर्ष 2019 के अन्त तक 5 लाख सामुदायिक और 67 लाख घरेलु शौचालय बनाने के लक्ष्य को पूरा करना होगा और खुले में शौच करने की आदत से मुक्ति पाने के संबंध में देश के ग्रामीण ही नहीं शहरी क्षेत्र में भी जन साधरण की मानसिकता में बदलाव लाने

की जरूरत है ।

इस कार्यशाला का ‘स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 के लिए आयोजन नई दिल्ली नगर पालिका परिषद् द्वारा आवासन और शहरी मामलों के मंत्रालय के संयुक्त तत्वावधान में किया गया। इस कार्यशला में दिल्ली के तीनों नगर निगमों और दिल्ली छावनी बोर्ड से आये हुए प्रतिनिधियों ने भाग लिया ।

हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि खुले में शौच करने की आदत के लिए मानसिकता परिवर्तन करने के कई सामाजिक आयाम है । उनमें महिला सशक्तिकरण, बच्चियों के गौरव और मान-सम्मान की रक्षा, शहरों की हरियाली और स्वच्छता भी सुनिश्चित होगी। उन्होंने यह भी कहा कि शौचालयों के निर्माण के लक्ष्य को पूरा करने के साथ-साथ वैज्ञानिक तरीके से ठोस कूड़ा प्रबंधन की दिशा में भी प्रयास किये जाने की ओर ध्यान दिये जाने की जरूरत है। उन्होंने आगे कहा कि स्वच्छ भारत मिशन एक सरकारी परियोजना के रूप में चालू हुआ था लेकिन अब यह दिन प्रतिदिन एक जन-आन्दोलन का रूप लेता जा रहा है ।

श्री पुरी ने यह भी कहा कि नई दिल्ली नगर पालिका परिषद् ने स्वच्छता सर्वेक्षण-2018 में तीन लाख तक की आबादी वाले शहरों की श्रेणी में पहला स्थान पाया है और पूरे देश में चौथा स्थान प्राप्त किया है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि स्वच्छ सर्वेक्षण-2019 में अपने प्रयासों से नई दिल्ली प्रथम स्थान प्राप्त करेगी ।

उन्होंने यह भी कहा कि स्मार्ट सिटी प्रयासों के अन्तर्गत नई दिल्ली नगर पालिका परिषद् ने कई कीर्तिमान स्थापित किये है, जिनमें वाई-फाई सेवा, स्मार्ट पोल्स, सोलर ट्री, स्टार्टअप वैचारिकी केन्द्र मुख्य है ।

इस कार्यशाला में नई दिल्ली सांसद श्रीमती मीनाक्षी लेखी ने दिन-प्रतिदिन के कार्यो में प्लास्टिक की उपयोगिता को कम करने पर जोर देते हुए कहा कि इस पृथ्वी ग्रह को पर्यावरण अनुकूल बनाने के लिए प्लास्टिक के उपयोग में कमी, उसे दुबारा प्रयोग में लाने और उसे पुर्नचक्रण प्रक्रिया से उपयोगी बनाना आज के समय की एक बड़ी जरूरत है ।

नई दिल्ली नगर पालिका परिषद् के अध्यक्ष नेरश कुमार ने अपने स्वागत भाषण में पालिका परिषद् के द्वारा स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत उपलब्धियों की चर्चा करते हुए कहा कि पालिका परिषद् अपने क्षेत्र में स्मार्ट शौचालयों के निर्माण से महिलाओं को पहले ही इस क्षेत्र में सशक्त कर चुकी है ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *