ताजा ख़बर

शर्मिष्ठा मुखर्जी के नेतृत्व में ‘’महिला कांग्रेस जनता के बीच’’ की शुरुआत

नगर संवाददाता
दिल्ली प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्षा शर्मिष्ठा मुखर्जी के नेतृत्व में एक अनोखा कार्यक्रम ’’महिला कांग्रेस जनता के बीच’’की शुरुआत की। कार्यक्रम में दिल्ली प्रदेश महिला कांग्रेस की पदाधिकारियों व महिला कार्यक्रर्ताओं ने पूरी दिल्ली में बसों में सफर करके सवारियों से मुलाकात करके पेट्रोल और डीजल के दामों की बेहताशा वृद्धि पर उनकी प्रतिक्रियाओं की रिकॉर्डिंग की। उन्होंने कहा कि दिल्ली में पेट्रोल की कीमतें बेहतहाशा बढ़कर लगभग 82 रुपये प्रतिलीटर और डीजल की कीमतें लगभग 74 रुपये प्रति लीटर तक पहुॅच गई है, जिसके लिए केन्द्र की मोदी सरकार व आप पार्टी की दिल्ली सरकार दोनो जिम्मेदार है। शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि कांग्रेस की यूपीए सरकार के कार्यकाल की तुलना में आज अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल के दामों में भारी गरावट आने के बावजूद भी केन्द्र की मोदी सरकार ने पेट्रोल पर एक्साईज़ ड्यूटी को 9.48 रुपये प्रतिलीटर से बढ़ाकर 19.49 रुपये प्रति कर दिया है। इसी प्रकार केजरीवाल की दिल्ली सरकार ने पेट्रोल पर वेट की दर को 20 प्रतिशत से बढ़ाकर 27 प्रतिशत कर दिया है और डीजल पर वेट की दर 12.5 प्रतिशत से बढ़ाकर 18 प्रतिशत कर दिया है।
दिल्ली प्रदेश महिला कांग्रेस की कार्यकर्ताओं ने आज दिल्ली के आम लोगों से बसों में सफर करते हुए मुलाकात की और पेट्रोल व डीजल पर बढ़ी हुई कीमतों के बारे प्रतिक्रियाओं और उनके विचारों को रिकॉर्ड भी किया। शर्मिष्ठा मुखर्जी ने बताया कि महिला कार्यकर्ताओं द्वारा लोगों से बसों में मिलने पर यह सामने आया कि लोग बढ़ी हुई दरों से ही प्रभावित तो हो ही रहे है बल्कि लोगों ने यह भी शिकायत की कि अधिक संख्या में लोग बेरोजगार हो रहे है। कई युवाओं ने बसों में सफर करते हुए बताया कि उनकी डिग्री बेकार है। उन्होंने कहा कि जब युवाओं के पास रोजगार नही होगा तो उन्हें गैर समाजिक और गलत तरीके से पैसा कमाने लिए मजबूर होना पड़ेगा। जिसके कारण अपराधिक मामले बढ़ रहे है। उन्होंने बताया कि बसों में सफर करते हुए कुछ युवा महिलाओं ने महिला सुरक्षा संबधी मामले पर भी प्रश्न उठाये। इस अवसर पर शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा एक राजनीतिक दल होने के नाते कांग्रेस पार्टी की यह जिम्मेदारी है कि हम आम जनता से जुड़े मुद्दो को उठाए। उन्होंने कहा कि प्रभावित लोगों की आवाज को मौजूदा सरकार तक पहुचाने का यह एक सीधा तरीका है। शर्मिष्ठा मुखर्जी ने दोनो मोदी सरकार व केजरीवाल सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि वे दिल्ली के लोगों की लड़ाई लड़ने में विफल साबित हुए है। उन्होंने कहा कि दोनो सरकारें न केवल दामों में वृद्धि में नियत्रंण करने में विफल रही हैं बल्कि इनकी गलत नीतियों की वजह से भी दामों में वृद्धि हो रही है। शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि मोदी सरकार और केजरीवाल सरकार दौहरा चरित्र इस बात से साबित हो जाता है कि गरीब लोगों के हितों के लिए पेट्रोल और डीजल के दामों में वृद्धि को रोक नही रहे है जबकि केन्द्र व राज्य सरकार अगर पेट्रोल और डीजल पर टैक्सों को घटा दे तो लोगों को राहत मिल जाएगी।
शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि कार्यक्रम में दिल्ली प्रदेश महिला कांग्रेस की पदाधिकारियों व महिला कार्यक्रर्ताओं ने पूरी दिल्ली में बसों में सफर करके सवारियों से मुलाकात करके पेट्रोल और डीजल के दामों की बेहताशा वृद्धि पर ली गई प्रतिक्रियाओं की रिकॉर्डिंग और वीडियो को दिल्ली वालों की आवाज बनाकर केन्द्र की मोदी सरकार और दिल्ली में केजरीवाल सरकार को भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि महिला कांग्रेस कार्यकर्ता केन्द्र व दिल्ली की गूंगी बहरी व उदासीन सरकारों को जगाने के लिए यह प्रयास कर रही है। हम दोनो सरकारों को लोगों की पीड़ा के बारे में बताना चाहते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *