ताजा ख़बर

गैर कानूनी सीलिंग के खिलाफ कांग्रेस की हुंकार रैली

नगर संवाददाता
नई दिल्ली। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन के नेतृत्व में राजधानी में गैर कानूनी सीलिंग के मुद्दे पर कांग्रेस के‘‘न्याय युद्ध’’ को मिल रहे अभूतपूर्व समर्थन के बाद चौतरफा आलोचना का सामना कर रही भाजपा और आप पार्टी पर कांग्रेस ने जबरदस्त हमला बोल दिया है और पार्टी ने बेरोजगारी और कमरतोड़ मंहगाई को भी मुद्दा बनाने का फैसला ले लिया है। अभियान समिति के संयोजक व वरिष्ठ नेता मुकेश शर्मा ने आज यह घोषणा की है कि कांग्रेस पार्टी न्याय युद्ध के पांचवे-छठे चरण में उतरी पश्चिमी संसदीय क्षेत्र के बवाना में 30 सितम्बर को ‘‘ललकार रैली’’ और 7 अक्टूबर को उतर पूर्वी संसदीय क्षेत्र के घोंडा में ‘‘हुंकार रैली’’ का आयोजन करेगी।
मुकेश शर्मा ने कहा कि गैर कानूनी सीलिंग के मुद्दे पर पूरी दिल्ली में धरने प्रदर्शनों का दौर जारी है इसी कड़ी में आज गांधी नगर में दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री अरविन्दर सिंह लवली के नेतृत्व में घरेलू उद्योग की परिभाषा को बदलने की मांग को लेकर गुस्साऐं कारोबारियों व पीड़ित लोगां ने धरना भी दिया। धरने पर बैठे हजारों लोगों ने मांग की है कि मास्टर प्लान में तत्कालीन केन्द्रीय शहरी विकास राज्यमंत्री श्री अजय माकन द्वारा मास्टर प्लान में किए गए प्रावधानों के अनुसार केन्द्र व दिल्ली सरकार तुरंत प्रभाव से घरेलू उद्योग की परिभाषा को नए सिरे से परिभाषित करके 5 किलोवाट और 11 किलोवाट और 5 कर्मचारियां की जगह 11 कर्मचारी करने के आदेश जारी करें। श्री शर्मा आज प्रदेश कार्यालय राजीव भवन में एक संवाददाता सम्मेलन में बोल रहे थे। संवाददाता सम्मेलन में बवाना के पूर्व विधायक श्री सुरेन्द्र कुमार, घोंडा के पूर्व विधायक श्री भीष्म शर्मा व कांग्रेस नेता श्री चतर सिंह व जसबीर कराला, दिल्ली कांग्रेस के लीगल एवं मानव अधिकार विभाग के चैयरमैन एडवोकेड सुनील कुमार भी मौजूद थे।
मुकेश शर्मा ने कहा कि केन्द्र की भाजपा और दिल्ली सरकार लगातार गैर कानूनी सीलिंग के मुद्दे पर दिल्ली की जनता को गुमराह कर रही हैं। उन्होंने भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी पर तंज कसते हुए कहा कि आज उन्हें सील तोड़ने की बजाय भाजपा नेताओं के गरीब व जन विरोधी दिमाग की सील को तोड़ने पर जोर देना चाहिए ताकि दिल्ली के लोगों को राहत मिल सके। श्री शर्मा ने कहा कि राजधानी में साढ़े आठ लाख से भी ज्यादा लोग गेर कानूनी सीलिग के चलते बेरोजगार हो चुके है और गैर कानूनी सीलिंग से हुई बेरोजगारी और उपर से कमरतोड़ मंहगाई से पीड़ित लोग आज आत्महत्या तक करने को मजबूर हो रहे है। इसके साथ-साथ राजस्व में भी कमी आ रही है। उन्होंने यह भी कहा कि गैर कानूनी सीलिंग और बेरोजगारी से सबसे अधिक क्षति पूर्वाचंल के लोगों को हुई है जो अनाधिकृत कालोनियों में रहते है। उन्होंने यह भी कहा कि गांवों के लोगों की स्थिति और भी दयनीय है जिनके पास आज किसी किस्म को रोजगार नही है। मुकेश शर्मा ने कहा कि 30 सितम्बर की ‘‘ललकार रैली’’ और 7 अक्टूबर को होने वाली ‘‘हुकार रैली’’ की तैयारियों के सिलसिले में सुरेन्द्र कुमार व भीष्म शर्मा 200 से अधिक छोटी बड़ी सभाए करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *