ताजा ख़बर

भाजपा ने 2019 में दिल्ली की सातों सीटें जीतने का संकल्प लिया

नगर संवाददाता

नई दिल्ली । दिल्ली भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक आज नई दिल्ली के डा. अम्बेडकर सेन्टर में प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी की अध्यक्षता में संपन्न हुई।
बैठक में भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री डॉ. अनिल जैन ने कार्यकारिणी के समक्ष 2019 चुनाव में विजय के लिये रोड मैप रखा तो प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू एवं सह-प्रभारी तरूण चुघ ने संगठनात्मक विषयों पर दिशानिर्देश रखे। आज की बैठक में केन्द्रीय मंत्री विजय गोयल, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दुष्यन्त कुमार गौतम, राष्ट्रीय मंत्री सरदार आर.पी. सिंह, प्रदेश संगठन महामंत्री श्री सिद्धार्थन, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष प्रो. विजय कुमार मलहोत्रा, मांगे राम गर्ग एवं सतीश उपाध्याय, सांसद रमेश विधूडी, श्रीमती मीनाक्षी लेखी, डा. उदित राज, प्रदेश महामंत्री कुलजीत सिंह चहल, रविन्द्र गुप्ता एवं राजेश भाटिया, वरिष्ठ नेता पवन शर्मा सहित प्रदेश पदाधिकारी और कार्यकारिणी सदस्य सम्मिलित हुऐ।
बैठक में महामंत्री राजेश भाटिया ने एक राजनीतिक प्रस्ताव रखा जिसको दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता एवं राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दुष्यन्त कुमार गौतम के द्वारा अनुमोदन और सदन में चर्चा पश्चात पारित किया गया। तीनों नेताओं ने अपने संबोधनों में केजरीवाल सरकार की विफलताओं एवं जनता की निराशा का विस्तार से जिक्र किया।
सांसद मनोज तिवारी, रमेश बिधूडी एवं श्रीमती मीनाक्षी लेखी ने अपने सांसद वृत रख अपनी कार्य रिपोर्ट दी। इसकी विशेषता रही कि सभी सांसदों ने दिल्ली की ट्रैफिक समस्या हल करने, रेलवे से जुड़ी परियोजनाओं को पूर्ण करने, केन्द्रीय स्कूल लाने और ओपन जिम खुलवाने के लिये किये कार्यों का उल्लेख किया। तीनों नगर निगमों की ओर से महापौरों ने अपने कार्य की रिपोर्ट रखी।
संगठन मंत्री श्री सिद्धार्थन ने संगठन कार्यों पर वृत रखा और जिला अध्यक्षों एवं मोर्चा अध्यक्षों से कार्य समीक्षा ली।
महामंत्री कुलजीत सिंह चहल ने केन्द्र में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी सरकार के द्वारा दिल्ली को दिल्ली मेरठ हाईवे, डॉ. अम्बेडकर सेन्टर जैसे तोहफों देने और देश में समाजिक परिवर्तन के लिये लाये तीन तलाक अध्याधेश के साथ ही ओ.बी.सी. कमीशन की स्थापना करने, अनुसूचित जाति के लोगों को समाजिक सुरक्षा का भाव देने के लिये आभार प्रकट किया।
अपने सम्बोधन में प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने 2019 के लोकसभा चुनाव के लिये ’बूथ चलो संघर्ष करो’ एवं ‘केन्द्र सरकार की उपलब्धियों की चर्चा अंतिम व्यक्ति तक ले जाने’ का अभियान छेड़ने का आवाहन किया।
उन्होंने कहा हमें केजरीवाल सरकार की विफलताओं को लेकर जिला मंडल स्तर पर प्रदर्शन करने होंगे और खासकर दिल्ली देहात एवं अंधिकृत कालोनियों से विकास पर धोखे को उजागर करना होगा।
दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने सीलिंग के मुद्दे पर बोलते हुऐ कहा कि अपने दिल्ली के विभिन्न क्षेत्रों में प्रवासों के दौरान पाया है की माॅनिटरिंग कमेटी मनमाने ढंग से, बिना नोटिस दिये और मास्टर प्लान के संशोधनों की भी अवेहलना कर सीलिंग करवा रही है। भाजपा इसका कड़ा विरोध करती है। जहाँ एक ओर केन्द्र सरकार एवं डी.डी.ए. जनता को सीलिंग से राहत देने के लिये हर सम्भव प्रयास कर रहे हैं वहीं दिल्ली में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी ने न्यायालय में दिल्ली वालों की सीलिंग से जुड़ी समस्याओं को रखने में कोताही के साथ ही लोगों को राहत देने के लिये निगमों के द्वारा दिये सड़क नोटिफिकेशन को बाधित किया।
मनोज तिवारी ने कहा की हम दिल्लीवासियों की सीलिंग की समस्या को भलीभांति समझते हैं, हमने 2004 से 2007 तक संघर्ष कर दिल्ली को राहत दिलवाई थी और आज भी दिल्ली भाजपा संगठन मनमाने तरीके से की जा रही सीलिंग को रूकवाने के लिये संघर्ष करेंगे।
सम्पूर्ण कार्यकारिणी ने करतल ध्वनि से श्री मनोज तिवारी के द्वारा मनमानी सीलिंग अभियान के विरूद्ध संघर्ष का समर्थन किया।
भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री डॉ. अनिल जैन ने अपने सम्बोधन में कहा की भाजपा की गत राष्ट्रीय कार्यकारिणी में प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने हमें 2019 में विजय के लिये अजय भारत अटल भाजपा का पाथय दिया और दिल्ली के कार्यकर्ताओं को अपना पुरुषार्थ जगा कर संकल्प के साथ ना केवल 2019 में सातों लोकसभा सीटों पर विजय पानी है । दिल्ली के कार्यकर्ताओं को यह सुनिश्चित करना होगा की जिस दिल्ली ने जनसंघ को पहली सत्ता दी, अनेक बार स्थानीय सत्ता दी है वहां अब हम पुनः सत्ता में आ कर दिल्ली वालों को वह विकास दें जिसके वह हकदार हैं।
श्याम जाजू ने कहा कि 2019 और उसके उपरान्त देश एवं दिल्ली में यदि हम भाजपा की सरकार लाकर समाज में रचनात्मक परिवर्तन करना चाहते हैं तो उसका मूल संकल्प है कि हम संगठन को एक जुट रखकर कार्य करें। भाजपा कार्यकर्ता अपने संस्थापक नेताओं के आदर्शों का पालन करते हुये गठ व्यवस्था बनाने पर ध्यान देंगे और व्यक्तिवादी राजनीति से दूर रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *