ताजा ख़बर

दिल्ली हाट में आयोजित मेले “चार साल बेमिसाल” का शानदार समापन

नगर संवाददाता
नई दिल्ली । उत्तर-पश्चिम दिल्ली सांसद डॉ. उदित राज के नेतृत्व में कल रात्रि में सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के साथ दिल्ली हाट में चल रहे तीन दिवसीय मेले “चार साल बेमिसाल कार्यक्रम का शानदार समापन हुआ | कल शाम सांस्कृतिक कार्यक्रमों के शुरू होने से पहले डॉ. उदित राज ने सबसे पहले दिल्ली के पूर्व मुख्य मंत्री श्री मदन लाल खुराना को श्रधांजलि देते हुए दो मिनट का मौन रखा | उसके बाद अन्य कार्यक्रमों की प्रस्तुती की गयी | मेले के अंतिम दिन उज्वला योजना के अंतर्गत लाभान्वित होने वाले कुछ लाभार्थियों को कल के मुख्य अतिथि श्री विजेंदर गुप्ता जी की उपस्थिति में सम्मानित किया गया, इसके अतिरिक्त 20 सामाजिक क्षेत्र में असाधारण काम करने वाली महिलाओं एवं पुरुषों को भी डॉ. उदित राज एवं विजेंदर गुप्ता के द्वारा शाल, ट्राफी और पुरस्कार से सम्मानित किया गया | समापन अवसर पर विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति की गयी जिसमे मुख्य रूप से दिव्यांग बच्चो द्वारा फैशन शो की प्रस्तुति, जे डी इंस्टिट्यूट की तरफ से बच्चो के द्वारा फैशन शो, राजस्थानी लोक नृत्य की प्रस्तुति सहित कई कार्यक्रम आयोजित किये गए | कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर शमिल हुए नेता प्रतिपक्ष विजेंदर गुप्ता ने कहा कि “सामान्यतः मैं प्रतिदिन किसी न किसी कार्यक्रम में शामिल होता है और त्यौहारों के दौरान मेले के कार्यक्रमों में भी जाना होता रहता है | लेकिन डॉ. उदित राज ने जो मेला आयोजित किया यह वाकई में एक अनोखी पहल है, इसमें लोग सुबह से शाम तक अपने काम करा सकते थे, जैसा कि मुझे पता चला कि इन तीन दिनों के दौरान कई सौ लोगों ने केंद्र सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ लिया, और शाम में भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आनंद उठाया | मैं डॉ. उदित राज एवं उनकी टीम के मुख्य सदस्य सी. एल. मौर्या, अनमोल अग्रवाल और अक्षित अग्रवाल को इस सफल आयोजन के लिए बधाई देता हूँ | वहीँ डॉ. उदित राज ने कहा कि “सबसे पहले मैं भगवान से प्रार्थना करता हूँ कि स्व. श्री मदनलाल खुराना जी को आत्म शांति की प्राप्ति हो | श्री खुराना जी को हम सब जानते थे वह कैसे निडर व्यक्तित्व के नेता थे, उन्हें दिल्ली का शेर यूँ ही नही कहा जाता था, उन्होंने वाकई में दिल्ली की जनता के लिए जो किया वह आज तक कोई भी नही कर सका है | चूँकि यह कार्यक्रम सरकारी था इसलिए मैंने इसे स्थगित करना उचित नही समझा क्योंकि आज अंतिम दिन था और आम जनता अपने कार्य हेतु यहाँ भारी संख्या में आ रही थी, और मेरी तरफ से यह एक श्रद्धांजलि की तरह है कि आज उनकी याद में मैंने सैकड़ों लोगों का सरकारी योजनाओं के माध्यम से उन्हें लाभान्वित कर पाया, उन्होंने अपना पूरा जीवन सामाजिक जीवन की तरह व्यतीत किया | मैं यहाँ सम्मानित होने वाले समाज के उन जागरूक लोगो को बधाई देता हूँ उनकी सतर्कता और जुझारूपन से क्षेत्र में कई विकास कार्य संभव हो पाए है, इसके अतिरिक्त मैं फिर से मेरी टीम के मुख्य सदस्य और इस तरह के अनोखे मेले का आयोजन करने वाले सीएल मौर्या और अनमोल अग्रवाल को धन्यवाद करता हूँ, इन लोगो के प्रयास से इन तीन दिनों के दौरान सैकड़ों क्षेत्रवासी लाभान्वित हुए |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *