ताजा ख़बर

राजेंद्र पाल गौतम ने पटाखों का बहिष्कार करने की अपील की

नगर संवाददाता
नई दिल्ली। दिल्ली सरकार के समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने कहा कि दीपावली खुशियों का त्यौहार है और हम अपने खुशियों को व्यक्त करने के लिए दीपावली पर पटाखे जलाते हैं। किन्तु पटाखों से पर्यावरण को बहुत हानि है, वायु प्रदूषण और ध्वनि प्रदुषण का स्तर बढ़ जाता है। उन्होंने छात्राओं से अपील की वे इस दिवाली दिल्ली की खराब आबोहवा के चलते पटाखों का बहिष्कार करें। श्री गौतम यह बात जनक पुरी स्थित भारती कालेज छात्र संघ के नव निर्वाचित पदाधिकारियों के शपथ समारोह में छात्राओं को सम्बोधित करते हुए कही। श्री गौतम ने भारती कालेज की स्टूडेंट यूनियन की अध्यक्ष परिधि बबुलुकर, उपाध्यक्ष वर्षा, सचिव खुशबु शर्मा, सह-सचिव वन्दना, कोषाध्यक्ष हेमलता को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई।
इस से पूर्व संरक्षण एन जी ओ की ओर से भारती कालेज परिसर में ही ‘सुरक्षित दिवाली-हरित दिवालीÓ के नारे के तहत वृक्षारोपण का आयोजन किया गया जहां श्री गौतम ने पौधारोपण किया। इस अवसर पर विधायक राजेश ऋषि, भारती कालेज प्रबंध समिति के चेरयमैन अजय गौर, कोषाध्यक्ष पामिल भूटानी, प्रिंसिपल डॉ. मुक्ति सान्याल व सीनियर प्रशासनिक अधिकारी पी के बब्बर भी मौजूद थे।
संरक्षण एनजीओ के संयोजक संजय पुरी ने कहा कि दिवाली के दौरान छोड़े जाने वाले तेज आवाज के पटाखे पर्यावरण पर कहर बरपाने के अलावा जन स्वास्थ्य के लिये खतरे पैदा कर सकते हैं। दिवाली के दौरान पटाखों एवं आतिशबाजी के कारण दिल के दौरे, रक्त चाप, दमा, एलर्जी, ब्रोंकाइटिस और निमोनिया जैसी स्वास्थ्य समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है। पिछले कई सालों से यह देखा जा रहा है कि दिवाली के बाद अस्पताल आने वाले हृदय रोगों, दमा, नाक की एलर्जी, ब्रोंकाइटिस और निमोनिया जैसी बीमारियों से ग्रस्त रोगियों की संख्या अमूमन दोगुनी हो जाती है। साथ ही जलने, आंख को गंभीर क्षति पहुंचने और कान का पर्दा फटने जैसी घटनायें भी बहुत होती हैं। श्री पुरी ने छात्राओं को इस दिवाली पटाखे न जलाने की शपथ दिलाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *