ताजा ख़बर

अरविंद केजरीवाल ने सिग्नेचर ब्रिज का उद्घाटन किया

नगर संवाददाता
नई दिल्ली। देश के विकास के लिए मंदिर मजिस्द की नहीं स्कूल और अस्पताल की जरूरत है। यह कहना है मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का। रविवार को सिग्नेचर ब्रिज का उद्घाटन करते हुए उन्होंने कहा कि आप सरकार ने ईमानदारी से काम करते हुए दिल्ली में स्कूल और अस्पताल बनवाए। उन्होंने कहा कि दिल्ली पहले लाल किला, कुतुबमीनार के लिए जाना जाता था अब सिग्नेचर ब्रिज के लिए जाना जाएगा। इस ब्रिज को जापान, इटली, फ्रांस की बड़ी कंपनियों के सहयोग से बनाया गया है।
अभी तक इंजीनियर बाहर से आते रहे हैं। हमारी कोशिश है कि आने वाले दिनों में यदि जापान में कोई ब्रिज बनें तो उसे देश का इंजीनियर बनाए। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने राजधानी में एक हजार मोहल्ला क्लीनिक बनाए हैं। केंद्र सरकार को सभी गांव में मोहल्ला क्लीनिक बनाने चाहिए। दिल्ली सरकार ने स्कूलों में 18 हजार कमरे बनवाए। केंद्र सरकार को हर गांव में स्कूल बनाने चाहिए। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार शानदार स्कूल बना रही है।
दिल्ली को आधुनिक रिसर्च केंद्र बनाना चाहती है। हमारी कोशिश है कि जापान और अमरीका को टक्कर दिया जाए। उन्होंने दिल्लीवालों से कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान मंदिर मस्जिद के चक्कर में मत पड़ना। जो वोट मांगने आए उससे पूछना कि आपने कितने स्कूल बनाए, कितने अस्पताल बनवाए। यदि नहीं बनवाए तो उन्हें वोट मत देना। उन्होंने कहा कि हमें तय करना होगा कि हमें स्कूल-अस्पताल चाहिए कि मंदिर मस्जिद।
सिग्नेचर ब्रिज के खुलने पर उत्तर-पूर्वी दिल्ली के लोगों का 45 मिनट का सफर 10 मिनट में पूरा हो सकेगा। अभी मंजनू के टीले से भजनपुरा चौक तक का सफर तय करने में लोगों को जाम का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा वजीराबाद पुल पर भी जाम में फंसना पड़ता था। सिग्नेचर ब्रिज बनाने की योजना 2004 में बनी थी। उस समय इसकी लागत करीब 464 करोड़ रुपये अनुमानित थी। साल 2007 में शीला दीक्षित कैबिनेट ने इसको मंजूरी दी। शुरुआत में इसका लक्ष्य 2010 के कॉमनवेल्थ गेम्स से पहले पूरा करने का था लेकिन पर्यावरण की मंजूरी न मिलने के कारण 2010 में वर्कऑडर हो पाया। इसके निर्माण की शुरुआत कॉमनवेल्थ गेम्स से पहले मार्च 2010 में हो पाया और वर्ष 2013 इसे बनाने का लक्ष्य रखा गया। साल 2011 में इसकी कीमत बढ़कर 1131 करोड़ रुपये हो गई और अब यह आखिरकार 1518.37 करोड़ रुपये में बनकर तैयार हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *