ताजा ख़बर

विद्यार्थियों ने पटाखों से दूर रहने का संकल्प लिया

नगर संवाददाता
नई दिल्ली। आज प्रदूषण देश ही नहीं अपितु समूची दुनिया के लिए गंभीर खतरा बन चुका है। इसलिए पर्यावरण को संरक्षित रखने के उपाय करने चाहिए। हमें स्वेच्छा से ही पटाखों से दूर रहने का संकल्प लेना चाहिए। यह बात आज जनक पुरी के पूर्व निगम पार्षद संजय पुरी ने कही. श्री पुरी ने यह बात जनक पुरी स्थित महाराजा सूरजमल इंस्टिट्यूट के विद्यार्थियों को सम्बोधित करते हुए कही।
पर्यावरण संरक्षण के लिए संरक्षण NGO द्वारा चलाए जा रहे अभियान में एक और कड़ी उस समय जुड़ गई जब जनक पुरी स्थित महाराजा सूरजमल इंस्टिट्यूट के विद्यार्थियों ने तेज आवाज व वायु प्रदूषण बढ़ाने वाले पटाखे न जलाने की शपथ ली। इस अवसर पर इंस्टिट्यूट के निर्देशिका डॉ रचिता राणा, डॉ विजय दहिया व डॉ बिरेंदर सिंह भी मौजूद थे. ।
डॉ रचिता राणा ने कहा कि संरक्षण NGO द्वारा पर्यावरण को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए किया जा रहा यह प्रयास काबिले तारीफ है। ऐसे प्रयास से न सिर्फ लोग पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक होंगे बल्कि इसमें खुल कर सह्योग भी करेंगे। उन्होनें छात्र-छात्रओं को अभियान का हिस्सा बनने के लिए प्रेरित करते हुए कहा कि जब तक पर्यावरण संरक्षण के लिए सभी लोग जागरूक नहीं होंगे तब तक पर्यावरण संरक्षण संभव नहीं है। यदि समय रहते हम लोग इस पर गंभीर नही हुए तो वह दिन दूर नहीं कि आने वाले दिनों में सभी का जीवन खतरे में पड़ जाएगा। संजय पुरी ने आगे कहा कि पटाखे की आवाज से बच्चों, रोगियों व वृद्धों को तकलीफ होती है। इसके रासायनिक पदार्थ वातावरण में मिल कर पर्यावरण को प्रदूषित करते हैं जिसके चलते लोगों को विभिन्न प्रकार की बीमारियों के शिकार हो जाते हैं। दिवाली की रात पटाखों से निकलने वाले धुएं से यह प्रदूषण कई गुना बढ़ जाता है। मगर कुछ पल की खुशी और पैसे के दिखावे के आगे लोग आंखें मूंदे रहते हैं। उन्हें शायद पता नहीं होता कि वे पटाखे जला कर वायुमंडल में कितना प्रदूषण घोल रहे हैं। यही वजह है कि दिल्ली में पिछले तीन−चार साल से संरक्षण NGO द्वारा बाकायदा अभियान चलाया जा रहा है।
पुरी ने कहा कि दीपावली भारत का ही नहीं बल्कि विश्व भर के हिंदुओं का त्योहार है। इसमें अन्य धर्मों के लोग भी उत्साह से शामिल होते हैं। इसकी पवित्रता को यों ही धुएं में न उड़ाएं। ईश्वर की बनाई इस सुंदर प्रकृति को बचाए रखने में अपना योगदान दें। इंस्टिट्यूट के विद्यार्थियों ने उत्साहपूर्वक शपथ लेते हुए संजय पुरी को विश्वास दिलाया कि वे दिवाली पर पटाखे नहीं जलायेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *