ताजा ख़बर

महाराजा अग्रसेन मॉडल स्कूल, सी.डी. ब्लॉक, पीतमपुरा, दिल्ली में ‘युगावली’ वार्षिकोत्सव का आयोजन

नगर संवाददाता
नई दिल्ली। महाराजा अग्रसेन मॉडल स्कूल, सी.डी. ब्लॉक, पीतमपुरा, दिल्ली में ‘युगावली’ वार्षिकोत्सव का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में नारायण दास गुप्ता, सदस्य राज्यसभा तथा विशिष्ट अतिथि डॉ. सुमेर M.D. (Radiology), Founder (Delhi Academy of Medical Science and TeleRad Providers) ने उपस्थित होकर समारोह को महिमा मंडित किया। इस अवसर पर अनेक विद्यालयों के प्रधानाचार्य / प्रधानाचार्या तथा प्रबंध समिति के सदस्य गण तथा अभिभावक वर्ग ने उपस्थित होकर सम्पूर्ण विद्यालय परिवार को गौरवान्वित अनुभव करने का अवसर प्रदान किया। इस समारोह का आरम्भ मुख्य अतिथि के कर कमलों द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। सर्वप्रथम विद्यालय अध्यक्ष आर.डी. गोयल ने सभी विशिष्ट अतिथियों, अभिभावकों के प्रति आभार व्यक्त करते हुए स्वागत भाषण प्रस्तुत किया। प्रधानाचार्या श्रीमती प्रतिभा कोहली तथा उप-प्रधानाचार्या श्रीमती सिम्मी भाटिया ने विद्यालय प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए शैक्षिक, सह शैक्षिक क्षेत्र में प्राप्त उपलब्धियों तथा शिक्षकों की कार्यशैली में विकास करने हेतु आयोजित कार्यशालाओं और कार्यक्रमों पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों में प्रदर्शन करने वाले योग्य छात्रों को प्रशस्ति पत्र तथा स्मृति चिह्न प्रदान कर सम्मानित किया गया। यह विद्यालय के लिए अत्यंत सौभाग्य की बात है कि विद्यालय के प्रथम सत्र (1992-93) के विद्यार्थी भी इस अवसर पर उपस्थित थे। उन सभी विद्यार्थियों को स्मृति-चिह्न प्रदान कर गौरवान्वित होने का अवसर प्राप्त हुआ। समारोह का मुख्य आकर्षण रंगारंग कार्यक्रम था। कक्षा चौथी तथा पांचवीं के छात्रों ने गणेश वंदना करते हुए कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु शास्त्रीय नृत्य प्रस्तुत किया। इस अवसर पर वरिष्ठ विद्यार्थियों ने भारत की पौराणिक गाथा पर आधारित चार युगों को दर्शाती नृत्य-नाटिका युगावली प्रस्तुत कर दर्शक वर्ग को विस्मय-विमुग्ध कर दिया। युगावली नृत्य-नाटिका का मुख्य उद्देश्य इस विचार धारा पर प्रकाश डालना था कि सतयुग में दो लोकों में युद्ध हुआ जबकि त्रेतायुग में दो देशों, द्वापर युग में दो परिवारों में युद्ध हुआ। आज, कलयुग में प्रत्येक मनुष्य अन्तर्मन में संघर्ष कर रहा है क्योंकि अपनी सुरसा के मुंह की भांति बढ़ती इच्छाओं की पूर्ति न होने पर वह केवल अपने से लड़ता रहता है। छात्रों ने अंग्रेजी कहानी Red Riding Hood पर आधारित नृत्य नाटिका द्वारा Scarlet नामक बालिका की चातुर्य तथा बुद्धिमानी को प्रदर्शित किया। सभी दर्शकों ने छात्रों के प्रदर्शन की भूरि-भूरि प्रशंसा की। विद्यालय प्रबंधक आर.के. बंसल द्वारा धन्यवाद प्रस्तुत किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *