मनोज तिवारी 9 परियोजनाओं के शिलान्यास का स्वागत किया

नगर संवाददाता
नई दिल्ली । दिल्ली भाजपा अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने आज दिल्ली भाजपा कार्यालय में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना को दिल्ली में केजरीवाल सरकार द्वारा लागू न होने देने, दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण, नमामी गंगे कार्यक्रम के अधीन यमुना नदी के संरक्षण हेतु 2215 करोड़ रूपये की लागत से 9 परियोजनाओं के शिलान्यास और आम आदमी पार्टी में वंशवाद के मुद्दे पर पत्रकारों को सम्बोधित किया। इस अवसर पर मीडिया सह-प्रभारी श्री नीलकांत बख्शी, मीडिया प्रमुख श्री अशोक गोयल, पूर्वांचल मोर्चा अध्यक्ष श्री मनीष सिंह भी उपस्थित थे। पत्रकारों को सम्बोधित करते हुये श्री तिवारी ने बताया कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (अयुष्मान भारत) दुनिया की सबसे बड़ी सरकार प्रायोजित स्वास्थ्य योजना है। इस योजना के अंतर्गत दिल्ली के 6.5 लाख परिवार अथवा 30 लाख लोगों को स्वास्थ्य सुरक्षा देने का प्रावधान है जिसमें ग्रामीण और शहरी दोनों ही क्षेत्र सम्मिलित होंगे। श्री तिवारी ने कहा कि अरविन्द केजरीवाल, लापरवाही और ओछी राजनीति के कारण दिल्ली में अयुष्मान भारत योजना को लागू नहीं कर रहे हैं।
उन्होंने आगे कहा कि समय-समय पर मैं ट्वीटर पर केजरीवाल को अयुष्मान भारत योजना दिल्ली में लागू करने के लिए आग्रह करता रहा हूँ। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री श्री जे पी नड्डा के ट्वीट का हवाला देते हुये कहा कि श्री नड्डा ने भी दिल्ली की जनता के लिए इस योजना को लागू करने के लिए कहा था लेकिन दुर्भाग्यवश अभी तक या तो केजरीवाल सो रहे हैं या जानबूझ कर दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना से दिल्ली की जनता को वंचित कर रहे है जिन्होंने उन्हें सत्ता सौंपी थी। उन्होंने बताया कि आज 8 निजी अस्पतालों ने आयुष्मान भारत योजना को भी लागू किया है जिसके अधीन दिल्ली में अन्य राज्यों से आने वाले लोगों को इसका लाभ मिल पायेगा किन्तु केजरीवाल की ओछी राजनीति और अड़ियल रवैये के कारण दिल्ली की जनता को लाभ नहीं मिलेगा क्योंकि केजरीवाल ने इस योजना को दिल्ली में लागू नहीं होने दिया। श्री तिवारी ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण स्तर बढ़ने से दिल्ली की जनता अत्यंत दयनीय स्थिति से गुजर रही है और दिल्ली सरकार ने प्रदूषण नियंत्रण के लिए कोई कारगर उपाय अब तक नहीं किये हैं जबकि इसके लिए एक ठोस कार्य योजना की आवश्यकता है। उन्होंने देश की राजधानी दिल्ली को एक खतरनाक शहर के रूप में बदलने के लिए दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार की कड़ी भत्र्सना की और कहा कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (अयुष्मान भारत) को दिल्ली में न लागू करके दिल्ली सरकार जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। श्री तिवारी ने दिल्ली की जतना से संबंधित मुद्दों के प्रति अरविन्द केजरीवाल की गंभीरता पर भी प्रश्न उठाये हैं।
श्री तिवारी ने कहा कि दिल्ली की सांसें जानलेवा प्रदूषण से फूल रही है लोग असमय बीमारी की चपेट में आ रहे है लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री प्रदूषण को कम करने के उपायों पर गम्भीर नहीं है। जब प्रदूषण कम करने के उपायों पर मीटिंग बुलाई जाती है तो वह स्वयं मीटिंग से नदारद रहते है। इन मीटिंगों पर जनता की गाढ़ी कमाई का टैक्स रूपी हिस्सा खर्च होता है लेकिन उसका कोई परिणाम नहीं निकलता है। दिल्ली भाजपा यह मांग करती है कि प्रदूषण के विषय पर रखी मीटिंग के परिणाम व खर्च जनता के बीच उजागर किये जाये।
श्री तिवारी ने कहा कि राजनीति की कायापलट करने का दम भरने वाले केजरीवाल सत्ता के लालच में आम आदमी पार्टी का संविधान बदल कर कांग्रेस की तरह पार्टी में वंशवाद को बढ़ावा देना चाहते हैं। आम आदमी पार्टी में अपना पूर्ण आधिपत्य रखने के लिए वह पार्टी का संविधान तक बदलने को तैयार है जो कि उनके दोहरे चरित्र का प्रकटीकरण दिल्ली की जनता के बीच कर रहा है। दिल्ली सरकार का साल भर का बजट 53 हजार करोड़ रूपये है जबकि दिल्ली के सांसदों का सालाना केवल 35 करोड़ रूपये है। किन्तु 53 हजार करोड़ रूपये खर्च करने वाले केजरीवाल केन्द्र पर आरोप प्रत्यारोप करते है कि उन्हें काम नहीं करने दिया जाता। केजरीवाल सावधान हो जाईये दिल्ली की जनता समझदार है और अब वह झूठ और भ्रम के प्रचार का करारा जबाव देगी।
श्री तिवारी ने यह भी बताया कि केन्द्रीय मंत्री श्री नितिन गड़करी द्वारा नमामी गंगे कार्यक्रम के अधीन 2215 करोड़ रूपये की लागत से 9 परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया है। उन्होंने दिल्ली की जनता के लाभ के लिए केन्द्र सरकार की नीतियों की प्रसंशा की और कहा कि मोदी सरकार दिल्ली के विकास के लिए प्रतिबद्ध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *