ताजा ख़बर

आदेश गुप्ता ने शिकायतों के समाधान हेतु हेल्प लाइन नम्बर जारी किया

नगर संवाददाता
नई दिल्ली। उत्तरी दिल्ली के महापौर आदेश गुप्ता ने उत्तरी दिल्ली नगर निगम के अधिकार क्षेत्र में एक छोटे सरल नम्बर-155304 पर शिकयत दर्ज करने की सेवा का शुभारंभ किया। आदेश गुप्ता ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि समय-समय पर नागरिकों की विभिन्न प्रकार की शिकायतों एवं समस्याओं के समाधान हेतु हेल्प लाइन न-कंट्रोल रूम न- जैसे 18002008701@1800118700@1266 एवं समीर ऐप (सीपीसीबी फोन एप्लीकेशन बनाये गये थे। उन्होंने बताया कि निगम द्वारा शुरू की गई इस नई व्यवस्था में अब क्षेत्र के नागरिक को एक ही नम्बर-155304 पर अपनी शिकायतें दर्ज कराने की सुविधा उपलब्ध होगी। जिससें स्थानीय नागरिक नगर निगम से संबंधित विभिन्न विषयों से जुड़ी 37 प्रकार की शिकायतें दर्ज कर सकते हैं।
जिनमें सड़क पर कूड़ा पड़ा होना] सफाई न होने पर] कूड़ेदान @ ढलाव की सफाई न होने पर] सार्वजनिक शौचालय@जलरहित मूत्रालय की सफाई] जलभराव] अनधिकृत निर्माण] अतिक्रमण] अनधिकृत मोबाइल टावर] मलबा पड़ा होना] अनधिकृत निर्माण के कारण वायु प्रदूषण संबंधी] जर्जर भवन] खतरनाक अवस्था में भवन संबंधी] सड़क परे गड्ढ़ों की मरम्मत संबंधी] स्ट्रीट लाइट्स] आवारा पशु] मरे हुए पशुओं संबंधी] पेड़ अथवा उसकी शाखा गिरने@पेड़ों की छटाई संबंधी] अनधिकृत फैक्ट्री] डेंगू] मलेरिया एवं चिकुनगुनिया (मच्छरों की उत्पत्ति] 4 फीट से छोटी व बड़ी नालियों की सफाई संबंधी] मूत्रालय @ शौचालय ब्लॉक की सफाई संबंधी] घर से कूड़ा एकत्रित करने वाले वाहन ना आने पर] सड़कों व मध्य पट्टी से झाडू लगने के उपरांत कूड़ा अथवा मिट्टी न उठने पर] ढलाव@कूड़ेदान की मरम्मत@दरवाजे ना लगे होने पर] ढलाव@कूड़ेदान के आस पास गन्दगी] औद्योगिक उत्सर्जन संबंधी शिकायत प्रमुख है।
महापौरी आदेश गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि जैसे ही उपरोक्त नम्बर पर शिकायत प्राप्त होगी, उसे विषय एवं क्षेत्र के अनुसार स्वत: छटनी कर निवारण हेतु संबंधित प्राधिकारी को तुरंत दे दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि यही नहीं शिकायत कर्ता की सुविधा के लिए उसे एस-एम-एस द्वारा शिकायत -का नम्बर भी दिया जायेगा जिसमें दिये लिंक के माध्यम सेे वेबसाइट पर जाकर संबंधित शिकायत के संबंध में की जा रही कार्यवाही अथवा शिकायत की वास्तविक स्थिति बारे में जानकारी ली जा सकती है। इसके अतिरिक्त 48 घंटे के समय से अधिक वाली शिकायतें लाल ले-आउट तथा प्रक्रियाधीन शिकायतें पीले ले-आउट में शामिल होंगी। महापौर ने यह भी बताया कि इसकी कार्यप्रणाली पर निरंतर निगरानी रखते हुए इसमें और सुधार एवं सरलीकृत करने का प्रयास जारी रहेगा।
महापौर आदेश गुप्ता ने कहा कि बेहतर एवं सरल रूप से नागरिक सेवाएं उपलब्ध करवाने हेतु उत्तरी दिल्ली नगर निगम द्वारा यह व्यवस्था की गई है। इस प्रकार की व्यवस्था से शासन में पारदर्शिता तो स्थापित होगी ही साथ ही संबंधित अधिकारियों की जवाबदेही भी सुनिश्चित की जा सकेगी।
श्री गुप्ता ने बताया कि 22 नवंबर 2018 से 155304 न- पर शिकायते प्राप्त होना शुरू हुई थी] और अब तक विभिन्न विषयों से संबंधित लगभग 1697 शिकायतें समाधान हेतु प्राप्त हो चुकी हैं। महापौर ने कहा कि यह शुरूआत नागरिक सुविधाओं को बेहतर बनाने की दृष्टि से सफल एवं सराहनीय रही है।
इस अवसर पर स्थायी समिति की अध्यक्षा वीना विरमानी] निगम आयुक्त] सुश्री वर्षा जोशी, अतिरिक्त आयुक्त] आई-टी] आर-एस मीना के अलावा अन्य निगम अधिकारी भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *