ताजा ख़बर

‘आर्थिक आधार पर आरक्षण संविधान के विरुद्ध’ शीर्षक पर सम्मेलन का आयोजन

नगर संवाददाता
नई दिल्ली। सवर्णों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने के केन्द्र सरकार के फैसले के विरुद्ध सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी आफ इन्डिया द्वारा नई दिल्ली के इन्डिया इन्टरनेशनल सेन्टर मे 7 फरवरी 2109 को ”आर्थिक आधार पर आरक्षण सम्विधान के विरुद्ध” शीर्षक पर एक कन्वेन्शन का आयोजन किया गया जिसमें विभिन्न सामाजिक, राजनैतिक एंव मानवाधिकार संगठनो के प्रतिनिधियों समीत बुद्धजीवियों, न्याय विदियों और पत्रकारों ने भाग लिया कन्वेन्शन की अध्यक्षता सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी आफ इन्डिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष एम के फैजी ने किया। इस अवसर पर उनहोने अपने सम्बोधिन मे कहा कि हमारे देश में आरक्षण की अवधारणा गरीबी उन्मूलन कार्यक्रम नहीं बल्कि समाज में उपेक्षित वर्ग एवं सदियों से सामाजिक, शैक्षणिक व राजनैतिक रुप से पिछड़े दलित व पिछड़े वर्ग को साशन सत्ता में प्रतिनिधित्व व न्याय देना, भागीदारी, राष्ट्र निर्माण और लोकतंत्र को मजबूत करना है। सवर्णों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने का केन्द्र सरकार का फैसला संविधान विरोधी है। भाजपा ने सत्ता में आने के बाद बाबा साहेब भीम राम अंबेडकर के सपनों के भारत व उनके लिखे संविधान को बदलने की हर संभव कोशिश की है तथा आरक्षण का यह बदलाव उसके खात्मे की तैयारी है। सत्ता व शासन की संस्थाओं में पहले से ही सवर्णों की भागीदारी आबादी के अनुपात से कई गुणा ज्यादा है। इसलिए सवर्णों को आरक्षण देना सत्ता-शासन की संस्थाओं में उसके वर्चस्व को बनाए रखने की गारंटी की कोशिश है। इसे देश स्वीकार नहीं करेगा। क्योंकि यह दलित व पिछड़े वर्ग को शासन-सत्ता व शैक्षणिक संस्थाओं में भागीदारी व प्रतिनिधित्व के अवसरों की संवैधानिक व्यवस्था के खात्मे की तैयारी है।
कन्वेन्शन को विख्यात अधिवक्ता महमूद पराचा, जन सम्मान पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक भारती, राष्ट्रीय जनहित पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष भानुप्रताप सिंह, एसडीपी आई के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शरफुद्दीन अहमद, दहलान बाकवी, समाजसेवी नाहीद अकील एंव आरिज मोहम्मद ने भी सम्बोधित किया सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी आफ इन्डिया के राष्ट्रीय महासचिव अब्दुलम जीद ने उद्धाटन भाषण तथा कार्यक्रम के संयोजक व सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी आफ इन्डिया के राष्ट्रीय सचिव डा. तसलीम अहमद रहमानी ने सबका स्वागत किया। कार्यक्रम का संचालन एसडीपीआई दिल्ली प्रदेश के संयोजक डा. निजामुद्दीन खान ने किया |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *