ताजा ख़बर

पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने पार्टी के लिये अपना बलिदान दिया : अमित शाह

नगर संवाददाता
नई दिल्ली। एकात्म मानववाद के प्रणेता पं. दीनदयाल उपाध्याय जी के बलिदान दिवस पर दीनदयाल उपाध्याय पार्क, नई दिल्ली में दिल्ली भाजपा द्वारा समर्पण दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, राष्ट्रीय महामंत्री संगठन रामलाल, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री दुष्यंत गौतम, राष्ट्रीय मंत्री तरुण चुघ, दिल्ली भाजपा अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी, दिल्ली प्रदेश के लोकसभा प्रभारी जयभान सिंह पवैया, प्रदेश महामंत्री संगठन श्री सिद्धार्थन, प्रदेश महामंत्री राजेश भाटिया, रविन्द्र गुप्ता, कुलजीत चहल, केन्द्रीय मंत्री विजय गोयल, सांसद श्रीमती मिनाक्षी लेखी, सांसद प्रवेश वर्मा, सांसद महेश गिरी, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सतीश उपाध्याय समेत राष्ट्रीय व दिल्ली प्रदेश के पदाधिकारी भी मौजूद रहे। इस कार्यक्रम में दिल्ली के सभी जिला पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने भी उपस्थित रहकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी को श्रद्धांजलि दी। प्रदेश कोषाध्यक्ष श्री विष्णु मित्तल, आजीवन सहयोग निधि प्रमुख श्री सुमन कुमार गुप्ता तथा उनकी टीम के संयोजन में यह कार्यक्रम किया गया।
कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि आज का दिन हम सभी कार्यकर्ताओं के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है, आज ही के दिन मुगल सराय रेलवे स्टेशन जो आज पंडित दीनदयाल रेलवे स्टेशन के नाम से जाना जाता है वहां उनकी निर्मम हत्या कर दी गयी थी। पार्टी का काम करते करते आज ही के दिन पंडित जी ने अपना बलिदान दिया। भाजपा अपने स्थापना काल से इस दिन को समर्पण दिवस के रूप में मनाती है। दीनदयाल जी ने जो राजनीति में एक विचार का आरम्भ किया था उस विचार को आगे बढाने वाले हम सभी कार्यकर्ता है। देश में आजादी के बाद बहुत सारे लोगों को ऐसा लगता था कि लोकतंत्र को यदि सफल बनाना है तो पश्चिमी विचारधारा से दूर अपनी संस्कृति की लोकतांत्रिक भावनाओं की अभिव्यक्ति करने वाली एक पार्टी बनानी है। लोकतंत्र की भावना चाहे पश्चिम की हो या हमारे देश की हो, मूलतः उसमें कोई अंतर नहीं है परन्तु लोकतांत्रित मुल्यों का जतन, संवर्धन और संरक्षण अगर किसी एक संस्कृति ने किया है, तो वो भारतीय संस्कृति ने किया है। इसलिए एक ऐसी पार्टी बनायीं जो देश की संस्कृति के आधार पर लोकतंत्र के अन्दर नए आयामों का सर्जन कर सके जिसके लिए जनसंघ की स्थापना हुई।
श्री शाह ने कहा कि दीनदयाल जी शुरुवाती सालों में हमारे जनसंघ की विचार की विचारधारा नींव रखने वाले हमारे प्रज्ञापुरुष थे और उन्होंने ही हमारी एक वैचारिक यात्रा को बल दिया, उसका शुभारम्भ कराया उसको एक मील के पत्थर तक पहुंचाने की शुरुआत की। दीनदयाल जी ने एक ऐसी पार्टी की परिकल्पना की, जिस पार्टी का आधार नेताओं का न हों, बल्कि कार्यकर्ता और संगठन हों। उन्होंने ऐसी पार्टी की कल्पना की थी, जो चुनाव जीतने के लिए ओछे हथकंडे न अपनाए, बल्कि विचारधारा की स्वीकृति और संगठन की शक्ति के आधार पर चुनाव जीते।
श्री शाह ने कहा कि दीनदयाल जी ने पार्टी का जो एक बीज बोया था, वो आज एक विशाल वट वृक्ष के रूप में हमारे सामने है। दीनदयाल जी के जीवन का एक और पहलू है, उनके समय में न केवल संगठन सुद्रढ़ हुआ, न केवल संगठन का विस्तार हुआ, न केवल सिद्धांतों का प्रतिपादन हुआ, न केवल विचारधारा की व्याख्या की गयी, उनके समय में चुनावी सफलता भी जनसंघ को बहुत अच्छे तरीके से दिलाने का काम उन्होंने किया। खुद को प्रसिद्धि से दूर रखकर संगठन के माध्यम से चुनाव कराने का जो मंत्र दीनदयाल जी ने दिया था, वो आज भी हमारे लिए प्रेरणास्रोत है। उन्होंने कहा कि दीनदयाल जी ने एक बहुत ही महत्वपूर्ण चीज की व्याख्या की है कि जब तक ध्येय को प्राप्त करने का साधन शुद्ध नहीं होता है तब तक ध्येय की प्राप्ति साधन शुद्धि के साथ नहीं हो सकती। हमारे ध्येय को प्राप्त करने का साधन भाजपा का संगठन है। हम सांस्कृतिक राष्ट्रवाद और गरीब कल्याण के ध्येय को लेकर आगे बढ़े हैं। इस देश में कोई भूखा न हो, कोई बीमार न हो, कोई अनपढ़ न हो इस प्रकार के ध्येय की रचना करना अन्त्योदय के आधार पर ही हो सकती है।
श्री शाह ने कहा कि मोदी जी ने सभी राजनीतिक पार्टियों पर कालेधन के प्रभाव को नकेल कसने का काम किया है, 2000 रुपये से ज्यादा का चंदा कोई भी राजनीतिक दल कैश में नहीं ले सकता, इसकी शुरुआत मोदी जी ने की है। विगत 4 साल में पार्टी ने समर्पण दिवस और आजीवन सहयोग निधि को एक वैज्ञानिक रूप से आगे बढाने की शुरुआत की है। सब राजनीतिक आपझापियों में इस पर जितना ध्यान दिया जाना चाहिए वो नहीं दिया गया, लेकिन 7 राज्य ऐसे हैं जिन्होंने कार्यकर्ताओं के समर्पण से इतना निधि इकठ्ठा कर लिया है कि इससे 7 राज्यों के कार्यालय और 7 राज्यों का पार्टी का खर्चा पूरा कार्यकर्ताओं के समर्पण से हो रहा है।
श्री शाह ने कहा कि देश में मोदीजी के नेतृत्व में भ्रष्टाचार के खिलाफ बहुत बड़ी लड़ाई शुरू हुई है। प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में काले धन पर नकेल कसने के लिए कानूनों को इतना कड़ा कर दिया गया है कि अगर कानून के चैराहे से बाहर अगर कोई निकल गया तो भी वह सलामत नहीं रहेगा, पकड़ा जायेगा। श्री शाह ने कहा कि पहले घोटाले करने वाले सत्ता में बैठे लोगों के भागीदार थे, इसलिए देश से नहीं भागते थे। चैकीदार के आने के बाद से सारे लुटेरे भागने लगे हैं।
समर्पण दिवस के अवसर पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय महामंत्री संगठन श्री रामलाल जी ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी का जन्मदिन और उनकी पुण्यतिथि पर देश भर में जो हम कार्यक्रम करते हैं ये उसके स्थायी कार्यक्रम हैं। डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी और पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी का पुण्यस्मरण हमारे सभी कार्यकर्ताओं के मन में रहे और वे उनसे प्रेरणा लें इस दृष्टि से हमने इन कार्यक्रमों की रचना की है। पंडित जी ने न केवल जनसंघ की रचना की बल्कि पार्टी को खड़ा करने में भी उनका अमूल्य योगदान रहा है। उन्होंने कहा कि डॉ. मुखर्जी के बलिदान के पश्चात पार्टी की बागडोर जिन लोगों के कन्धों पर आई उनमे प्रमुख महामंत्री के रूप में कार्य कर रहे पंडित जी ही थे। उन्होंने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी का जीवन न केवल भारतीय जनता पार्टी के लिए बल्कि सभी दलों के लिए एक रोल मॉडल का जीवन है। एक बड़े स्थान पर पहुँच कर भी कैसे सादगी से रहा जा सकता है, सभी से कैसे सम्बन्ध बनाये जा सकते हैं, सभी कार्यकर्ताओं की चिंता करते हुए संगठन का विस्तार भी कैसे किया जा सकता है ये पंडित जी ने सभी को बड़े ही सहज रूप से बताया है। भारतीय जनसंघ की स्थापना दुनिया में भारत को सम्मान दिलाने के लिए हुई है और पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी के जीवन से प्रेरणा लेते हुए हमारी पार्टी त्याग तपस्या और बलिदान करते हुए इस ही लक्ष्य की ओर आगे बढ़ रही है।
दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी का नाम लेते ही मन में अन्त्योदय, सांस्कृतिक राष्ट्रवाद, एकात्म मानववाद जैसी भावनाओं का प्रसार होने लगता है। आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में जब हमने 6 करोड़ लोगों तक उज्ज्वला योजना का गैस कनेक्शन पहुंचा दिया, जब इस देश के करोड़ों घरों में शौचालय बन गया तो लगा कि पंडित जी की अन्त्योदय योजना सफल हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *