ताजा ख़बर

आम आदमी पार्टी मुस्लिम तुष्टिकरण की राजनीति कर रही है : शाजिया इल्मी

नई दिल्ली । भारतीय जनता पार्टी दिल्ली प्रदेश उपाध्यक्ष श्रीमती शाजिया इल्मी ने आज प्रदेश कार्यालय पर इंडिया इस्लामिक कल्चरल सेन्टर में आयोजित होने वाले कार्यक्रम तालीम और तरबियत में दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी और उपाध्यक्ष श्रीमती शाजिया इल्मी के बतौर मुख्य अतिथि के रूप में सम्मिलित होने को लेकर विपक्ष के साथ मिलकर आम आदमी पार्टी द्वारा चुनाव आयोग को पत्र लिखने पर प्रेसवार्ता की। इस प्रेसवार्ता में मीडिया प्रभारी श्री प्रत्युष कंठ, सह-प्रभारी श्री नीलकांत बक्शी एवं प्रमुख अशोक गोयल देवराहा उपस्थि थे।
पत्रकारों को सम्बोधित करते हुये श्रीमती शाजिया इल्मी ने कहा कि भाजपा की बढ़ती लोकप्रियता और ताकत से आम आदमी पार्टी की बौखलाहट आज खुलकर सबके सामने आ गई है। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी और मुझे इंडिया इस्लामिक कल्चरल सेन्टर में तालीम और तरबियत कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बुलाया गया है जिसे लेकर आम आदमी पार्टी इतनी डर गई है। उन्होंने कहा कि जबकि यह कार्यक्रम मुस्लिम समाज को बेहतर शिक्षा कैसे दी जाये, महिलाओं को सशक्त कैसे बनाये जाये जैसे तमाम सामाजिक मुद्दों पर इस कार्यक्रम में चर्चा होनी है। लेकिन विपक्ष से मिलकर केजरीवाल की पार्टी कार्यक्रम को रोकने के लिए चुनाव आयोग का दरवाजा खटखटाया है।
श्रीमती शाजिया इल्मी ने कहा कि पिछले 5 सालों तालीम और तरबियत संस्था द्वारा यहां होने वाला यह 36वां कार्यक्रम है। लगभग हर कार्यक्रम में वित्तीय मुद्दों पर बात की जाती है जिसका मकसद होता है कि समाज के सबसे कमजोर वर्ग की आर्थिक स्थिति को कैसे मजबूत किया जाये। यह कार्यक्रम जनहित में यूनियन बैंक आफ इंडिया और नेशनल स्टाॅक एक्सचेंज द्वारा संयुक्त रूप से कराया जा रहा है। केजरीवाल को लोकसभा चुनाव में अपनी हार दिख रही है जिस कारण वे ऐसे कार्यक्रमों का भी अब विरोध कर रहे हैं। इस कार्यक्रम में कांग्रेस, समाजवादी पार्टी के साथ भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने शामिल होना था। आम आदमी पार्टी एक सीधे सादे कार्यक्रम को साम्प्रदायिकता का रंग देकर मुस्लिम तुष्टिकरण की राजनीति कर रही है जिसकी जितनी भी निंदा की जाये कम है।
श्रीमती शाजिया इल्मी ने कहा कि केजरीवाल के मन में न तो महिलाओं के प्रति कोई सम्मान है और न ही मुस्लिम समाज के प्रति किसी तरह का कोई आदर है। अगर केजरीवाल के मन में महिलाओं के प्रति जरा भी सम्मान होता तो रामपुरा में समाजवादी पार्टी एवं बीएसपी तथा आरएलडी गठबंधन के उम्मीदवार आजम खान द्वारा भाजपा उम्मीदवार श्रीमती जया प्रदा पर की गई अभ्रद्र टिप्पणी पर अपनी प्रतिक्रिया अवश्य देते। श्रीमती जया प्रदा के लिए आजम खान की बेहुदा व घिनौनी टिप्पणी उनकी औछी मानसिकता और सोच का दर्शाता है। भारतीय जनता पार्टी ऐसे किसी भी वक्तव्य की कड़ी शब्दों में निंदा करती है और यह मांग करती है अखिलेश यादव, डिम्पल यादव, अरविन्द केजरीवाल, राहुल गांधी जवाब दें कि श्रीमती जय प्रदा का अपमान करने का अधिकार आजम खान को किसने दिया यह केवल जय प्रदा का ही अपमान नहीं है समस्त नारी जाति का अपमान है।
मीडिया सह-प्रभारी नीलकांत बक्शी ने कहा है कि कांग्रेस के चार पूर्व मुस्लिम विधायकों ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को पत्र लिखकर दिल्ली में मुस्लिम समुदाय का लोकसभा उम्मीदवार बनाने की मांग करके मुस्लिम और हिन्दु समुदाय को बांटने का काम किया है। केजरीवाल का एक वीडिओ सामने आया था जिसमें उन्होंने कहा था कि मोदी को गाली दो तो मुस्लिम हमारी पार्टी को वोट देंगे। क्या यह वीडिओ केजरीवाल की साम्प्रदायिक सोच को दिल्ली की जनता से सामने उजागर करने के लिए कम है। एक तरफ दिल्ली को धर्म और जाति के नाम पर बांटने वाली आम आदमी पार्टी है और दूसरी तरफ राष्ट्रवाद की सोच व देश हित को सर्वोपरी मानने वाले प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी है। दिल्ली की जनता ने मन बना लिया है कि नरेन्द्र मोदी को पुनः प्रधानमंत्री बनाना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *