व्यापारी देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी हैं : मोदी

नई दिल्ली। तालकटोरा स्टेडियम, नई दिल्ली में आयोजित एक राष्ट्रीय व्यापारी महासम्मेलन में दिल्ली एवं देश भर के व्यापारियों को सम्बोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की अर्थव्यवस्था और देश के विकास में व्यापारियों के योगदान को बेहद महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि व्यापारी देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी हैं। महासम्मेलन में देश एवं दिल्ली के हजारों व्यापारियों शामिल थे। व्यापारियों के साथ हुए इस सम्मेलन का वर्तमान चुनावों पर भारी असर पडऩा तय है क्योंकि देश भर में लगभग 7 करोड़ व्यापारी हैं जो लगभग 30 करोड़ लोगों को रोजग़ार देते हैं और देश भर में लगभग 195 लोकसभा सीटें ऐसी हैं जिन पर व्यापारियों का प्रभुत्व है जो हार-जीत का निर्णय कर सकते हैं।
कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने प्रधानमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि व्यापारियों के लिए यह बहुत ही सुखद है कि भाजपा ने अपने चुनाव संकल्प पत्र में देश के व्यापारियों के बेहद महत्वपूर्ण और मूल मुद्दों को शामिल किया है और उम्मीद है कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व वाली सरकार इन मुद्दों को सत्ता में आने पर तुरंत अमली जामा पहनाएगी।
श्री खंडेलवाल ने प्रधानमंत्री से आग्रह किया कि डिजिटल इंडिया को व्यापारियों तक ले जाने के लिए किसी भी व्यापारी द्वारा कंप्यूटर और उससे सम्बंधित सामान की खरीद पर सरकार 50 प्रतिशत की सब्सिडी दे वहीं दूसरी ओर डिजिटल पेमेंट पर लगने वाले लगभग 2 प्रतिशत के बैंक चार्ज से व्यापारियों और उपभोक्ताओं को मुक्त किया जाए और सरकार यह राशि सब्सिडी के रूप में सीधे बैंकों को दे। उन्होंने यह भी आग्रह किया कि ई-कॉमर्स पालिसी को ऐसा बनाया जाए जिसमें सभी वर्गों को बराबर के अवसर मिलें और बाजार में उचित प्रतिस्पर्धा का माहौल हो। मुद्रा योजना में बैंकों के स्थान पर एनबीएफसी एवं माइक्रो फाइनेंस इंस्टीट्यूशन व्यापारियों को कर्ज़ दें। व्यापारियों पर लगे सभी कानूनों की पुन: समीक्षा हो। प्राकृतिक आपदा के समय व्यापारियों के नुक्सान की भरपाई के लिए एक नीति बने। देश भर में बाजारों में मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं और बाज़ारों का कायाकल्प हो। दिल्ली के व्यापारियों को सीलिंग से राहत दिलाने का स्थायी समाधान निकाला जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *