ई कॉमर्स , रिटेल में एफडीआई एवं सीलिंग के खिलाफ व्यापारियों की विराट रैली

नगर संवाददाता
नई दिल्ली। देश में रिटेल व्यापार में एफडीआई और ई कॉमर्स के कारण तेजी से बिगडते व्यापारिक माहौल और दिल्ली में सीलिंग के कारण तबाह हो रहेव्यापार पर अपना रोष प्रकट करते हुए आज दिल्ली में दिल्ली सहित देश के हजारों व्यापारियों ने कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) द्वारा आयोजित एक विराट व्यापारी रैली में केंद्र सरकार से पुरजोर मांग की की रिटेल व्यापार में एफडीआई को कोई अनुमति न दी जाए औरजो अनुमति दी गई है उसे वापिस लिया जाएँ वहीँ ई कॉमर्स के लिए एक पालिसी बनाई जाए तथा सीलिंग को रोकने के लिए संसद के चालू सत्रमें एक विधेयक लाया जाए अथवा संसद सत्र के तुरंत बाद सरकार एक अध्यादेश लाये ! रैली की अध्यक्षता कैट की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीबी.सी.भरतिया ने की !
रैली को सम्बोधित करते हुए कैट की राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा की सरकार अविलम्ब व्यापारियों द्वारा उठाये गए इन मुद्दोंपर ध्यान दे और तत्काल आवश्यक कदम उठाये ! ई कॉमर्स और रिटेल में एफडीआई एक नासूर की तरह देश के रिटेल व्यापार को खा रहा हैजिससे निश्चित रूप से आने वाले समय में देश की अर्थव्यवस्था खोखली होगी ! उन्होंने कहा की कैट देश के 7 करोड़ व्यापारियों की ताकत केसाथ मिलकर इस मुद्दे पर एक राष्ट्रव्यापी आंदोलन चलाएगी ! इसकी रणनीति तय करने के लिए आगामी 12 -13 जनवरी को भोपाल में कैट की राष्ट्रीय गवर्निंग कॉउन्सिल में तय होगी ! रैली में श्री खंडेलवाल ने व्यापारियों का एक 16 सूत्रीय राष्ट्रीय चार्टर भी जारी किया !
कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी.सी.भरतिया ने कहा की देश में बेलगाम ई कॉमर्स एवं रिटेल व्यापार में एफडीआई के आने से दिल्ली सहित देशभर में व्यापारियों के व्यापार का बुरा हाल है ! विदेशी कंपनियां हर हथकंडा अपना कर देश के रिटेल बाज़ार पर अपना कब्ज़ा ज़माने की नीयत सेकाम कर रही हैं और सभी तरह के अस्वस्थ तरीके अपना रही है ! देश के कुछ बड़े कॉर्पोरेट घराने अपने स्वार्थ के लालच में इन विदेशी कंपनियोंका सहयोग कर रहे हैं ! बार बार सरकार का ध्यान इस ओर दिलाने के बावजूद भी आज तक इन कंपनियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई है !इन कंपनियों पर सरकार का कोई नियंत्रण न होने से ये कंपनियां मनमाने तरीके से व्यापार कर रही हैं ! इन कंपनियों पर लगाम कसने के लिएदेश में तुरंत एक ई कॉमर्स पालिसी बने तथा रिटेल व्यापार में एफडीआई को अनुमति न देने की मांग भी पुरजोर तरीके से रैली की गई !
कैट के वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ब्रजमोहन अग्रवाल ने बताया की इस मुद्दे पर गत 15 सितम्बर को दिल्ली के लालकिले से कैट ने एकसम्पूर्ण रिटेल क्रान्ति रथ यात्रा शुरू की थी जो देश के लगभग 26 राज्यों के 400 शहरों से होकर आज दिल्ली पहुंची है ! इस रथ ने देश भर में93 दिनों में लगभग 23 हजार किलोमीटर की यात्रा तय की है और व्यापारियों से संपर्क कर रिटेल व्यापार की अनदेखी और दुर्दशा का सन्देशदिया है !
श्री खंडेलवाल ने कहा की दिल्ली में सीलिंग के कारण व्यापारियों में चारों तरफ हाहाकार मचा हुआ है ! व्यापार पर अनिश्चितत्ता के बादल मंडरारहे हैं ! किसी भी सरकारी विभाग को सीलिंग के विषय में कोई अधिकृत जानकारी नहीं है जिसके कारण से दिल्ली का व्यापार गत वर्षों केमुकाबले काफी कम हो गया है ! दिल्ली के बाहर अन्य राज्यों से दिल्ली आने वाले व्यापारियों की संख्यां काफी कम हो गई है जिसका सीधा बुराअसर दिल्ली के व्यापार पर पड़ रहा है ! दिल्ली में सदियों से देश के सभी राज्यों को माल भेजा जाता है जिसके कारण दिल्ली देश का सबसे बड़ाव्यापारिक वितरण केंद्र है लेकिन सीलिंग के चलते दिल्ली का व्यापारिक वितरण स्वरुप बुरी तरह विकृत हो गया है !
उन्होंने कहा की एक साल से ज्यादा का समय होगया जब दिल्ली के विभिन्न क्षेत्रो में हजारों दुकानो की सीलिंग की गई थी ! मास्टर प्लान मेंसंशोधन आने के बाद भी आज तक एक भी दूकान की सील खुली नहीं है ! मॉनिटरिंग कमेटी अपने अड़ियल रवैय्ये के कारण दिल्ली के व्यापारको बर्बाद करने पर तुली है ! लाखों लोगों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है ! ऐसे में अब केंद्र सरकार के हस्तक्षेप और संसद के चालूसत्र में इस मुद्दे पर एक विधेयक लाकर सीलिंग रोकना ही एकमात्र विकल्प है !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »