प्रधानमंत्री का महाराष्ट्र दौरा, 41000 करोड़ की विकास योजनाओं की दी सौगात

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के कल्याण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ठाणे-भिवंडी-कल्याण और दहिसर-मीरा-भायंदर मेट्रो की आधारशिला रखी। यहां से उन्होंने सिड़को हाउजिंग स्कीम का भी शिलान्यास किया। इसमें प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 18,000 करोड़ रुपये की लागत से 89,771 किफायती आवासों का निर्माण किया जाना है। पीएम श्री मोदी ने कहा कि मुंबई और ठाणे भारत के उन हिस्सों में से हैं, जिन्होंने राष्ट्र को अपने सपने को साकार करने में मदद की है। छोटे शहरों और गांवों से आने वाले लोग यहां अपना नाम बना चुके हैं और भारत को गौरवाविंत किया है। यहां जन्मे और रहने वाले लोग बड़े दिल के हैं, जिन्होंने सभी को यहां जगह दी है।
उन्होंने कहा कि आज मुंबई का विस्तार हो रहा है, चारों ओर विकास हो रहा है। लेकिन इसके साथ-साथ यहां संसाधनों पर भी दबाव बढ़ा है। विशेषतौर पर यहां के ट्रांसपोर्ट सिस्टम, सड़क और रेल व्यवस्था पर इसका प्रभाव दिखने को मिलता है। इसी को ध्यान में रखते हुए बीते चार-साढ़े चार वर्षों में मुंबई और ठाणे समेत इससे सटे तमाम इलाकों के ट्रांसपोर्ट सिस्टम को बेहतर करने के लिए अनेक प्रयास किए गए हैं। आज भी यहां जो 33 हजार करोड़ रुपये से अधिक के प्रोजेक्ट्स का शिलान्यास किया गया है, उसमें दो मेट्रो लाइन भी शामिल हैं। इसके अलावा, ठाणे में 90 हज़ार गरीब और मध्यम वर्ग के परिवारों के लिए अपने घरों के निर्माण से जुड़े प्रोजेक्ट की भी शुरुआत आज की गई है।
पीएम मोदी ने कहा कि मुंबई में पहली बार साल 2006 में मेट्रो की पहली परियोजना की शुरुआत की गयी थी। लेकिन 8 साल तक क्या हुआ, कहां मामला अटक गया, बताना मुश्किल है। पहली लाइन 2014 में शुरू हो सकीए वो भी सिर्फ 11 किलोमीटर की लाइन 8 साल में सिर्फ और सिर्फ 11 किलोमीटर। 2014 के बाद हमने तय किया कि मेट्रो लाइन बिछाने की स्पीड भी बढ़ेगी और स्केल भी बढ़ेगी। पिछले चार साल में मुंबई में मेट्रो का जाल बिछाने के लिए अनेक नई परियोजनाओं की शुरुआत की गई है। इसी सोच पर चलते हुए आज दो और मेट्रोलाइनों का शिलान्यास किया गया है। आने वाले 3 साल में यहां 35 किलोमीटर की मेट्रो क्षमता और जुड़ जाएगी। इतना ही नहीं साल 2022 से 2024 के बीच मुंबई वासियों को पौने तीन सौ किलोमीटर की मेट्रो रेल लाइन उपलब्ध हो जाएगी।
(पीआईबी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »