भगवान श्रीराम के आदर्शों पर चलने से होगा सामाजिक भेदभाव का अंत : मनोज तिवारी

नगर संवाददाता
नई दिल्ली । दिल्ली भाजपा अध्यक्ष एवं उत्तर पूर्वी दिल्ली के सांसद मनोज तिवारी ने कहा है कि अगर देश और समाज के लोग भगवान श्रीराम के आदर्शों को अपनाएं तो समाज से भेदभाव का अंत हो सकता है और अगर सामाजिक भेदभाव खत्म हो जाए तो एक मजबूत समाज भारत की एकता और अखंडता मे बुनियाद की शिला का काम कर सकता है। सामाजिक भेदभाव न सिर्फ समाज की जड़ों को खोखला करता है बल्कि इस भेदभाव के चलते ही देश में, देश के टुकड़े टुकड़े कर देने वाली शक्तियों को पनपने का मौका मिलता है यह वार्ता मनोज तिवारी ने यमुना विहार में आयोजित एक राम कथा के आयोजन में उपस्थित हजारों श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कथावाचक श्री मुरलीधर से नतमस्तक होकर आशीर्वाद लिया, उन्होंने कथा का श्रवण किया और भजन सुनाकर उपस्थित हजारों श्रद्धालुओं के हृदय में श्रद्धा की अलख जगायी।
मनोज तिवारी ने कहा कि बरसों से समाजों के बीच में भिन्नता पैदा कर कई राजनैतिक लोगों ने राजनीति में अधर्म का समावेश किया जो न सिर्फ देश के लिए घातक है बल्कि अधर्मी राजनीति भारतीय संस्कृति के लिए गंभीर खतरा है राजनीति में धर्म होना चाहिए जिसका पालन करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सवर्णों और अन्य जाति के लोगों के बीच नफरत पैदा करने एवं गरीब और गरीब के बीच में भेदभाव करने वाली खाई को पाटने के लिए सवर्णों को 10 प्रतिशत आरक्षण देकर कमजोर और वंचित के बीच में एकता और सद्भाव का राम सेतु बनाया है।
इस अवसर पर जिला अध्यक्ष अजय महावर, पूर्व स्टैंडिंग कमेटी के अध्यक्ष शैलेन्द्र सिंह मोंटी, जोन चेयरमैन प्रमोद गुप्ता, सांसद प्रतिनिधि राम नरेश पारासर ओबीसी मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. यू के चैधरी सहित कई भाजपा पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *