शीला दीक्षित ने दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष का पदभार संभाला

नगर संवाददाता
नई दिल्ली। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की नवनियुक्त अध्यक्ष श्रीमती शीला दीक्षित ने हजारों की संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ताओं एवं नेताओं की मौजूदगी में विधिवत् प्रदेश कांग्रेस का पदभार कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन में संभाला। दिल्ली के इतिहास में पहली बार हुआ है कि इतनी भारी तादात में कांग्रेस कार्यकर्ता अध्यक्ष के पदभार संभालने के समारोह में शामिल हुए है। दिल्ली कांग्रेस के सभी वरिष्ठ नेता श्रीमती शीला दीक्षित के हाथ मजबूत करने के लिए एक मंच पर एकत्र हुए है ताकि एकजुट होकर लोकसभा के आने वाले चुनाव में दिल्ली की सातों सीटों पर कांग्रेस की जीत सुनिश्चित हो सके। पिछले अध्यक्ष अजय माकन जो कि चार वर्षों से अध्यक्ष रहे उन्होंने श्रीमती शीला दीक्षित को प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष का पदभार सौंपा। श्रीमती शीला दीक्षित ने उनको दिल्ली कांग्रेस का अध्यक्ष बनाए जाने पर यूपीए अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधी तथा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का आभार प्रकट किया।
श्रीमती शीला दीक्षित के साथ कार्यकारी अध्यक्ष के रुप में हारुन यूसूफ, देवेन्द्र यादव तथा राजेश लिलोठिया ने भी पदभार संभाला। कार्यक्रम का मंच संचालन दिल्ली महिला कांग्रेस की अध्यक्ष शर्मिष्ठा मुखर्जी ने किया। पदभार संभालने से पहले श्रीमती शीला दीक्षित ने प्रदेश कार्यालय में विधिवत् तौर पर कांग्रेस का झंडा भी फहराया।
श्रीमती शीला दीक्षित ने 1998 में दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की कमान संभाली थी और उसके पश्चात उन्होंने 15 वर्षों तक सफलता पूर्वक दिल्ली की मुख्यमंत्री के रुप में कार्य किया और दिल्ली में अभूतपूर्व कार्य करके लोगों की सेवा की।
कांग्रेस कार्यकर्ताओं की अभूतपूर्व उपस्थिति उनके प्यार और सहयोग का धन्यवाद करते हुए श्रीमती शीला दीक्षित ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से एकजुट होकर कार्य करने की अपील की, ताकि श्रीमती सोनिया गांधी तथा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के हाथों को मजबूत किया। श्रीमती शीला दीक्षित ने कहा कि हमारा ध्येय है कि हम दिल्ली के प्रत्येक कौने में जाकर लोगों से जन सम्पर्क बनाए ताकि दिल्ली में लोकसभा के आने वाले चुनावों में सातों सीटों पर विजय दिला सके। श्रीमती दीक्षित ने कहा कि मैं कांग्रेस कार्यकर्ताओं के लिए 24 घंटे उपलब्ध रहूगी ताकि उनको जमीनी स्तर पर काम करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके।
श्रीमती शीला दीक्षित ने कहा कि दिल्ली कांग्रेस के पास हमारे 15 साल के कार्यकाल में किए गए विकास के कार्यों का ट्रेक रिकॉर्ड है जिसके कारण दिल्ली विश्व प्रसिद्ध शहर बना था। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार कांग्रेस की अगुवाई वाली केन्द्र की यूपीए सरकार द्वारा किए गए प्रत्येक क्षेत्र में विकास के कार्य है जिनको लेकर कांग्रेस कार्यकर्ता दिल्ली की जनता को बताऐगी और इसी के साथ भाजपा की केन्द्र व निगम की सरकार तथा आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार की असफलताओं को भी लोगों तक पहुचाऐगी। श्रीमती दीक्षित ने कहा कि कांग्रेस पार्टी विकास के कार्य करने में विश्वास रखती है न कि दूसरी पार्टियों की तरह लोगों को खोखले वायदे करके उनसे वोट बटौरती है।
श्रीमती शीला दीक्षित ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में जिस प्रकार मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में विजय पताका फहराया है, उसी प्रकार आने वाले लोकसभा चुनाव और उसके बाद दिल्ली के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत सुनिश्चित करेंगे।
पदभार समारोह में पूर्व सांसद संदीप दीक्षित, प्रवेश हाश्मी, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष जे.पी. अग्रवाल, सुभाष चौपड़ा, अरविन्दर सिंह लवली, पूर्व सांसद महाबल मिश्रा, जे.के. जैन, अ.भा.क.कमेटी के सचिव कुलजीत सिंह नागरा, अनिल चौधरी और मनीष चतरथ, दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री डॉ.ऐ.के. वालिया, डॉ. योगानन्द शास्त्री, मंगतराम सिंघल, रमाकांत गोस्वामी, डॉ. नरेन्द्र नाथ, राजकुमार चौहान, डॉ.किरण वालिया, वरिष्ठ नेता जितेन्द्र कुमार कोचर, रोहित मनचंदा, योगेश मलिक, दिल्ली प्रदेश सेवा दल के मुख्य संगठक सुनील कुमार, दिल्ली प्रदेश युवा कांग्रेस के अध्यक्ष विकास छिकारा, एनएसयूआई अध्यक्ष अक्षय लाकरा सहित हजारों कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »