भाजपा ने निर्वाचन आयोग से ‘आप’ के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की

नगर संवाददाता
नई दिल्ली । दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी व दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता के नेतृत्व में दिल्ली भाजपा के नेताओं का प्रतिनिधिमण्डल मुख्य निर्वाचन आयुक्त से आम आदमी पार्टी द्वारा समाज को जातियों में बांटने, चुनाव आयोग के खिलाफ आपत्तिजनक टिपण्णी करने और भाजपा पर मतदाता सूची से वोट कटवाने के झूठ के दुष्प्रचार की शिकायत कर आम आदमी पार्टी के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने की मांग की । इस प्रतिनिधिमण्डल में चुनाव विशेषज्ञ श्री ओम पाठक, दिल्ली भाजपा कानूनी और विधिक विषय विभाग के प्रमुख नीरज गुप्ता एवं मीडिया सह-प्रभारी श्री नीलकांत बक्शी सम्मिलित थे।
प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने बताया कि मुख्य चुनाव आयुक्त से आज मिलकर उन्हें आम आदमी पार्टी के द्वारा दिल्ली के लोगों को धर्म जाति में बांटने, दिल्ली के मतदाताओं के पास फर्जी फोन के माध्यम से मतदाता सूची से नाम कटने की जानकारी देने और फिर यह कहना कि भाजपा ने आपका वोट कटवा दिया है और दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने आपका वोट जुड़वा दिया है तथा केजरीवाल व उनके नेताओं का चुनाव आयोग पर आपत्तिजनक टिपण्णी करने को लेकर एक शिकायत पत्र दिया।
श्री तिवारी ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल के आधिकारिक ट्वीटरहैंडल से दिनांक 4 दिसम्बर और 6 दिसम्बर, 2018 को कई ऐसे बयान जारी किये गए है जिसमें दिल्ली के मतदाताओं को धर्म एवं जाति में बांटकर उनके वोट कटने के झूठ का दुष्प्रचार कर वोट कटवाने का सीधा आरोप भाजपा पर लगाकर पार्टी के सम्मान को ठेस पहुंचाने का कार्य किया गया है। आम आदमी पार्टी के नेताओं ने भी कई बार प्रेस वार्ता कर चुनाव आयोग व भाजपा पर ऐसी आपत्तिजनक टिपण्णी की है जो उनकी पार्टी के चरित्र को साफ दर्शाती है। दिल्ली भाजपा ने चुनाव आयुक्त से मांग की है कि वह आम आदमी पार्टी के संयोजक, नेताओं व पदाधिकारीयों पर सख्त कार्यवाही करते हुये आम आदमी पार्टी की मान्यता रद्द कर चुनाव चिन्ह जब्त करे ताकि देश की एकता व अखण्डता में जाति का विष घोलने वाले ऐसे लोगों को रोका जा सके।
श्री तिवारी ने कहा कि केजरीवाल के इशारे पर फोन व सोशल मिडिया के माध्यम से दिल्ली के मतदाओ को फर्जी फोन करवाकर वोट कटने के झूठ का दुष्प्रचार कर दिल्ली की जनता को गुमराह किया जा रहा है जिसकी शिकायत चुनाव आयोग से कर दी गई है और मुख्य चुनाव आयुक्त ने हमारी शिकायत पर जल्द से जल्द कार्यवाही करने का आश्वासन दिया है साथ ही दिल्ली भाजपा आम आदमी पार्टी के खिलाफ इस पूरे प्रकरण को माननीय न्यायलय के समक्ष भी रखने जा रही है। चुनाव आयोग ने स्पष्ट रूप से बताया था कि वर्ष 2015 से 2018 के बीच 13,73,300 नाम जोड़े गये हैं। केवल वैश्य समुदाय के 5 लाख मतदाता जुड़े हैं लेकिन केजरीवाल व उनके नेताओं का बार-बार भाजपा पर वोट कटवाने का तथ्यविहीन और निराधार आरोप लगाना कहीं न कहीं दिल्ली में उनकी राजनीतिक जमीन को खिसकता हुआ दर्शा रहा है।
दिल्ली सदन में नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि आम आदमी पार्टी व उनके नेताओं द्वारा लगातार कई महीनों से भाजपा व चुनाव आयोग जैसी सवैंधानिक संस्था पर आपत्तिजनक टिप्पणी करना व दिल्ली की जनता को जाति-धर्म में बांटना देशद्रोह है और जिसका जवाब दिल्ली की जनता आम आदमी पार्टी को आगामी चुनावों में अवश्य देगी। आम आदमी पार्टी के नेता दिल्ली में अपनी हार को लेकर इतने डरे हुये है कि वह इस प्रकार के दुष्प्रचार का सहारा लेकर भाजपा को बदनाम करना चाहते है। वोट कटने व वोट जुड़ने की अपनी एक सवैंधानिक प्रक्रिया है लेकिन केजरीवाल खुद को ही चुनाव आयोग समझे बैठे है और बिना तथ्यों के कोई भी अनर्गल बात करने से नहीं चुकते है। मुख्य चुनाव आयुक्त से हमारी मुलाकात में वह हमारी बातों को सुनकर अंचभित रह गये कि कोई पार्टी व सरकार किस स्तर तक गिर सकती है तथा संज्ञान लेते हुये उन्होनें उचित कार्यवाही करने का आश्वसन हमें दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »