युवाओं को संसदीय प्रणाली की जानकारी होनी चाहिए : मनोज तिवारी

नगर संवाददाता
नई दिल्ली । भय और पक्षपात मुक्त संसदीय व्यवस्था किसी भी देश के स्वस्थ शासन पद्धति के लिए जरूरी है और उसके लिए संसदीय व्यवस्था की संवैधानिक जानकारियाँ होना जरूरी है। समाज के हर वर्ग को खासतौर से युवाओं को संसदीय प्रणाली और उसके संवैधानिक पहलुओं की जानकारी होनी चाहिए जिससे देश की सर्वोच्च संवैधानिक संस्था संसद के कामकाज का सही रूप में कार्यपालन हो सकता है। ये बातें उत्तर पूर्वी दिल्ली के सांसद एवं दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने यमुना विहार के प्रतिभा विकास विद्यालय के सभागार में आयोजित यूथ पार्लियामेंट के प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए कही।
मनोज तिवारी ने कहा कि यूथ पार्लियामेंट के माध्यम से युवाओं में जागरुकता पैदा हो रही है और वो संसदीय व्यवस्था को ना सिर्फ जान रहे हैं बल्कि अपना सार्थक नजरिया पेश कर नये भारत की कल्पना में संसदीय व्यवस्था का स्वरूप भी पेश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सबका साथ सबका विकास के तहत प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने पहली बार सरकार में कौशल विकास मंत्रालय का गठन कर युवाओं को आगे बढ़ने का एक अवसर प्रदान किया और यूथ पार्लियामेंट के माध्यम से युवाओं के सोच के भारत को जानने की कोशिश की जिससे भविष्य के भारत की बुनियाद रखी जा सकेगी।
यूथ पार्लियामेंट में विभिन्न विद्यालयों के बच्चों ने भाग लिया जिनमें से प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान प्राप्त बच्चों को सांसद श्री मनोज तिवारी ने प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया और बेहतर भविष्य की कामना की। उन्होंने बच्चों को सीख दी कि अपने हुनर से कोई भी अपनी मंजिल तक पहुँच सकता है इसलिए हमें अपने अंदर के हुनर को विकसित करना चाहिए और उसका उचित समय पर बेहतर प्रदर्शन करना चाहिए।
इस अवसर पर पूर्वी दिल्ली नगर निगम के महापौर बिपिन बिहारी सिंह, प्रदेश मंत्री एवं पूर्व महापौर श्रीमती मीनाक्षी, जोन चेयरमैन प्रमोद गुप्ता, जिला अध्यक्ष अजय महावर, प्रतिभा विकास विद्यालय के प्रधानाचार्य आर पी सिंह, मीडिया विभाग के प्रदेश सह प्रमुख आनंद त्रिवेदी, वरिष्ठ अधिवक्ता मधु मुकुल त्रिपाठी सहित कई गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *