एनडीएमसी सचिव ने विज्ञान मेले का उद्घाटन किया

नगर संवाददाता
नई दिल्ली। नई दिल्ली नगर पालिका परिषद् के विद्यालयों में आगामी शिक्षा सत्र से प्राथमिक कक्षाओं को स्मार्ट क्लासेस में बदला जाएगा । इस आश्य का एक निर्णय नई दिल्ली नगरपालिका परिषद् द्वारा 8573 स्कूली, बच्चों, अध्यापकों, प्रशासकों और अभिभावकों से प्राप्त हुए फीडबेक के आधार पर किया गया है । यह निर्णय पालिका परिषद् के विद्यालयों की शिक्षा को सम्पूर्ण स्मार्ट शिक्षा में परिवर्तित करने में सहायक होगा।
यह बात नई दिल्ली नगर पालिका परिषद् की सचिव श्रीमती रश्मि सिंह ने विज्ञान मेले का उद्घाटन करने के बाद कही, इस विज्ञान मेले का आयोजन नगर पालिका सह-शिक्षा उच्च माध्यमिक विद्यालय (प्राथमिक शाखा), लोदी रोड, नई दिल्ली में जीवन की चुनौतियों के वैज्ञानिक समाधान- विषय किया गया है । इस विज्ञान मेले में पब्लिक विद्यालयों, केन्द्रीय विद्यालयों, दिल्ली सरकार के विद्यालयों और अन्य विद्यालयों के विद्यार्थियों ने भी पहली बार भाग लिया है ।
श्रीमती रश्मि सिंह ने कहा कि बच्चों में वैज्ञानिक रूझान पैदा करने के और उनकी सृजनात्मक कल्पनाशीलता को साकार रूप देने के उद्देश्य से इस प्रकार के विज्ञान मेले के आयोजन से उन्हें एक अवसर और प्लेटफार्म मिलता है, जहॉं वें अपनी वैज्ञानिक प्रतिभा के सृजनात्मक नमूनों की प्रदर्शनी लगा पाते है । उन्होने कहा कि नवोन्मेषकारी मस्तिष्क के पोषण के लिए एक अटल टिकरिंग लेब और दो पालिका टिकरिंग लेब पालिका परिषद् और नवयुग विद्यालयों के विद्यार्थियों में वैज्ञानिक रूझान प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से स्थापित की जा चुकी है।
श्रीमती सिंह ने इस अवसर पर बताया कि इस वर्ष पालिका परिषद् के सभी विद्यालयों की कक्षाओं में पाइलट परियोजना के आधार पर 27 माध्यमिक और उच्च माध्यमिक विद्यालयों में टेबलेट आधारित वाई-फाई से सुसज्जित कक्षाओं का शुभारंभ किया गया है । उन्होंने यह भी कहा कि नई दिल्ली नगरपालिका परिषद् के विद्यालयों में फाइबर ऑप्टिकल आधारित डिजिटल कनेक्टीविटी, डिजिटल पुस्तकालय, प्रयोगशालाओं का उन्नयन, सभागार, ज्वायफुल पुस्तकालय, तरणताल, भाषा-प्रयोगशाला और अन्य नवोन्मेष तकनीक पर आधारित योजनाओं का शुभारंभ किया जाएगा ।
उन्होंने यह भी बताया कि प्राकृतिक वातावरण में कक्षाएं, आपातकालीन पैनिक बटन और दस साल तक के बालकों के लिए फुटबाल अकादमी जैसे समग्र विकासकारी कार्यों को भी पालिका परिषद् के विद्यालयों में चालू किया जाएगा । इस विज्ञान मेले में 50 से अधिक विद्यालयों के 500 से अधिक विद्यार्थियों ने अपने 300 विज्ञान मॉडलों की प्रदर्शनी लगाकर भाग लिया है इस मेले मे पहली बार पब्लिक स्कूलों, केन्द्रीय विद्यालयों और दिल्ली सरकार के विद्यालयों ने भी बढ-चढ कर हिस्सा लिया है ।
इस विज्ञान मेले में प्रदर्शित किए गए मॉडल स्वास्थ्य और तंदुरूस्ती, संसाधन-प्रबंधन और खाद्य सुरक्षा, कचरा प्रबंधन और जल संचयन, परिवहन और संचार, डिजिटल और तकनीकि समाधान तथा गाणितीय मॉडल जैसे विषयों है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »