मुख्य चुनाव आयुक्त से आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत करेंगे : विजेन्द्र गुप्ता

नई दिल्ली । दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता एवं दक्षिणी दिल्ली के सांसद रमेश बिधूड़ी ने प्रदेश कार्यलाय पर एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में जानकारी दी कि वे कल भारत के मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा से मिलकर आम आदमी पार्टी द्वारा आदर्श आचार संहिता के लगातार गंभीर उल्लंघन की शिकायत करेंगे। इस प्रेस वार्ता में प्रदेश मीडिया प्रमुख अशोक गोयल देवराहा उपस्थित थे।
नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने बताया कि आम आदमी पार्टी चुनाव प्रचार के समय गाय व बछड़े की फोटो को लेकर संप्रदाय विशेष की धार्मिक भावनाओं को आहत कर रही है। वह विभिन्न समुदायों के बीच आपसी मतभेद पैदा करने का भी प्रयास कर रही है। इससे सांप्रदायिक सदभावना तथा आपसी भाईचारे व शांति को खतरा है। इसके साथ ही केजरीवाल सरकार, सीसीटीवी कैमरे लगवाने के नाम पर विधायकों के नेतृत्व में कालोनियों व मार्केटों का निरीक्षण करवा अपनी प्रशासनिक शक्तियों का भी दुरूपयोग कर रही है। इसके साथ ही आम आदमी पार्टी के काल सेंटर पहले के भांति ही वोटरों को भ्रमित कर उनका नाम काटे जाने और केजरीवाल द्वारा उनके नाम जुड़वाये जाने को लेकर भ्रम फैलाये जा रहे हैं।
विजेन्द्र गुप्ता तथा रमेश बिधूड़ी भारत के मुख्य चुनाव आयुक्त से अनुरोध करेंगे कि स्वतंत्र तथा निष्पक्ष लोकसभा चुनावों के लिये यह आवश्यक है कि वह इन तीनों मामलों में आदर्श आचार संहिता के गंभीर उल्लंघन के विरूद्ध तुरंत कार्यवाही करें तथा दोषियों को कानून सम्मत सजा दिलवायें।
नेता विपक्ष तथा सांसद ने जानकारी दी कि 16 मार्च को आम आदमी पार्टी के मुख्य संयोजक अरविंद केजरीवाल के नजदीकी राघव चडढा ने एक ट्वीट किया था, जिसमें गाय और बछड़े को एक मकान के दरवाजे पर खड़ा हुआ दिखाया गया था। इस फोटो की केप्शन थी “भाजपा द्वारा डोर-टू-डोर केम्पेन“। इस ट्वीट पर पार्टी द्वारा जिम्मेदारी के साथ कार्यवाही नहीं की गई अपितु, कार्यवाही करने के स्थान पर अरविन्द केजरीवाल तथा आम आदमी पार्टी के अन्य नेताओं ने इसे “लाइक“ किया। धार्मिक शांति और सद्भावना को चुनौती देने वाली इस कार्यवाही को देखते हुये गोविंदपुरी थाने में इसकी शिकायत दर्ज करा दी गई है।
विजेन्द्र गुप्ता तथा श्री बिधूड़ी ने कहा कि वे चुनाव आयुक्त से इस बात की शिकायत करेंगे कि कालोनियों तथा मार्केटों में सीसीटीवी कैमरे लगवाने के नाम पर आम आदमी पार्टी अपने विधायकों को यहां निरीक्षण के लिये भेज रही है। आदर्श आचार संहिता किसी भी विधायक को किसी भी कार्य के लिये निरीक्षण की अनुमति नहीं देता। परंतु ठीक इसके विपरीत संबंधित विधायक तथा सरकारी अधिकारी रेजिडेट वेलफेयर एसोसिएशनों तथा मार्केट एसोसिएशनों के प्रतिनिधियों के साथ उन स्थलों का घूम-घूम कर निरीक्षण कर रहे हैं जहां सीसीटीवी केमरे लगाये जाने हैं।
नेता विपक्ष तथा सांसद ने कहा कि आम आदमी पार्टी के विधायक सीसीटीवी कैमरा लगाने के लिये जिस प्रकार जगह-जगह निरीक्षण कर रहे हैं वह आदर्श आचार संहिता का गंभीर उल्लंघन है। उन्होंने आम आदमी पार्टी पर आरोप लगाया कि वह वोटरों को सीसीटीवी कैमरा लगाने के नाम पर लालच देकर अपने पक्ष में प्रभावित कर रही है। इस पर तुरंत रोक लगाये जाने की आवश्यकता है।
भाजपा नेताओं ने कहा कि वे मुख्य चुनाव आयुक्त को जानकारी देंगे कि आम आदमी पार्टी ने चुनाव आयोग के आदेशों तथा दिल्ली पुलिस की कार्यवाही के बाद भी काल सेंटरों के माध्यम से दुष्प्रचार नहीं रोका है। बड़ी संख्या में अभी भी वोटरों को भ्रमित किया जा रहा है कि भाजपा द्वारा 30 लाख नाम कटवाये गये हैं और उसमें काल किये जाने वाले का नाम अथवा उसके किसी परिवार के सदस्य का नाम काट दिया गया है। उन्हें आश्वासन दिया जा रहा है कि आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल उनका नाम जुड़वायेंगे। इस प्रकार आम आदमी पार्टी द्वारा वोटरों को अपने पक्ष में कर आचार संहिता की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं।
नेता विपक्ष और सांसद ने कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के अनैतिक गठबंधन को दिल्ली की जनता के साथ सबसे बड़ा धोखा बताते हुये कहा कि आगामी चुनावों में अपनी हार से डरकर कांग्रेस और आम आदमी पार्टी की बौखालाहट दिल्ली की जनता के सामने उनके अंतर्कलह के रूप में स्पष्ट नजर आ रही है। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी गठबंधन में लड़े या फिर अलग-अलग लड़े, हम दिल्ली की जनता के बीच सबका साथ सबका विकास के आधार पर भाजपा के पक्ष में 51 प्रतिशत मत प्राप्त करने के लक्ष्य को लेकर जायेंगे। दिल्ली की जनता आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के आपसी तालमेल को समझ चुकी है और उनके झूठे भ्रम का जवाब अगामी चुनावों में देने के लिए तैयार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »