थावर चंद गहलोत ने डा.. भीमराव अम्बेडकर को पुष्पांजिल अर्पित की

नई दिल्ली । जब तक सूरज चांद रहेगा, बाबा साहेब तेरा नाम रहेगा जैसे नारों के शंखनाद के साथ भारतीय जनता पार्टी के दिल्ली प्रदेश कार्यालय में भारत रत्न बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर जयंती की पूर्व संध्या पर अनुसूचित जाति मोर्चा ने भाजपा के वरिष्ठ नेता और केन्द्रीय मंत्री थावर चंद गहलोत, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दुष्यंत कुमार गौतम, प्रदेश संगठन महामंत्री सिद्धार्थन, पूर्व सांसद डा. अनिता आर्या, मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री राजकुमार फुलवारिया एवं मोर्चा के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष प्रकाश तंवर, अनुसूचित जाति मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष मोहनलाल गिहारा, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अनुसूचित जाति मोर्चा रमेश कुमार, मोर्चा महामंत्री राहुल गौतम लाजपत राय, प्रदेश पदाधिकारी, जिला पदाधिकारी एवं मंडल अध्यक्ष, निगम पार्षदों सहित सैकड़ों कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में बाबा साहेब को पुष्पांजलि अर्पित की गई।
इस अवसर पर बाबा साहेब डा.. भीमराव अम्बेडकर को पुष्पांजिल अर्पित करते हुए केन्द्रीय मंत्री थावर चंद गहलोत ने कहा कि बाबा साहेब के विचार उस तरह के नहीं थे, जिस तरह आज की कुछ राजनैतिक पार्टियां उन्हें पेश करती हैं। बल्कि उनका मत ये था कि देश में जो भी अवसर हैं, उस पर सभी का हक है। यहां सबको समान रूप से सु-अवसर मिलना चाहिए। इसके लिए बाबा साहेब ने जीवन भर प्रयास किया। यहां तक की उन्होंने खुद और उनके परिवार ने अन्याय सहे, लेकिन लोगों को न्याय दिलाने का कार्य किया।
थावर चंद ने कहा कि जैसा आजकल की कुछ राजनैतिक पार्टियां बाबा साहेब के विचारों को पेश करती हैं वह बाबा साहेब के विचारों के अनुरूप नहीं है। उनका मकसद वर्ग संघर्ष नहीं बल्कि सामाजिक समरसता समन्यव राजनीतिक, सामाजिक और शैक्षिक रूप से उस पर सबका हक हैं। उन्होंने इसके लिए प्रयास किया। बाबा साहेब उस जमाने में इतने पढ़े लिखे थे कि उन्हें घर बैठे-बैठे आईएएस जैसी नौकरी मिल जाती यहां तक की लंदन में भी वे सर्वोच्च पदों पर होते, लेकिन उन्होंने भारत से समाज के अंतिम पंक्ति में खड़े व्यक्तियों को न्याय दिलाने के लिए संकल्प लिया।
थावर चंद ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सोच भी बाबा साहेब से मिलती है और वे उनके संकल्पों को लेकर आगे बढ़ रहे हैं। वे सबको साथ लेकर सबका साथ, सबका विकास के मंत्र को साकार कर रहे हैं। एक वक्त हमारा देश विश्व आर्थिक महाशक्तियों की सूचि 11वें नम्बर पर था, लेकिन साल 2014 में प्रधानमंत्री ने जिस तरह से कार्य किया वह छठवें नम्बर आ गया। अगर वे इस देश के फिर से प्रधानमंत्री बने तो देश निश्चित ही तीसरे नम्बर पर आ जाएगा। प्रधानमंत्री जी का लक्ष्य है कि जब साल 2047 में भारत अपनी आजादी का 100वां सालगिरह मना रहा होगा। तब भारत एक सम्पूर्ण विकसित और संपन्न राष्ट्र होगा।
थावर चंद ने कहा कि ऐसा नहीं है कि भारत कभी कमजोर रहा है, बल्कि पिछली सरकारों की नीतियां ऐसी रही हैं कि विकास बाधित होता रहा है। उन्होंने बाबा साहेब का उदाहरण देते हुए विपक्षियों पर निशाना साधा और कहा कि बाबा साहेब का उद्देश्य हुल्लड़बाजी नहीं करना था, लेकिन उनके नाम की राजनीति करने वाली मायावती न केवल सीधे मुसलमानों से वोट करने की अपील कर रही हैं बल्कि उमर अब्दुल्ला जैसे लोग यह कह रहे हैं कि कश्मीर का अपना अलग पीएम होगा। तो यह खुद समझ में आ रहा है कि इस बयान किसके इसारे पर दिए जा रहे है। प्रजातंत्र में इस प्रकार से आवाहन करना उचित नहीं है। प्रजातंत्र की मजबूती के लिए भी ये ठीक नहीं है। देश के धर्म संस्कृति हित और विकास के आधार पर इन्हे नहीं वोट देने पर विचार करना चाहिए, लेकिन ये लोग नकारात्मक सोच रखते है। लेकिन वे याद रखे कि जिस कश्मीर के लिए हमारे प्रेरणा स्त्रोत श्यामा प्रसाद मुखर्जी शहीद हुए श्री नरेन्द्र मोदी के दोबारा प्रधानमंत्री बनने के बाद धारा 370 और 35ए समाप्त करेंगे। हमने इसे अपने संकल्प पत्र में भी शामिल किया है। जबकि कांग्रेस ने खुले तौर पर आतंकियों के समर्थन की बात कही है। हम उनके मंसूबों को नेस्ताबूत कर देंगे। आज श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत लगातार तरक्की कर रहा है और विश्व स्तर पर मोदी जी ने भारत का मान बढ़ाया है।

सभा को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री दुष्यंत कुमार गौतम ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ही वो सरकार है, बाबा साहेब से जुड़े स्थानों को पंचतीर्थ में बदला, ये वो सरकार है, जो बाबा साहेब के संकल्प को आगे बढ़ाया। आज बाबा साहेब के विचारों के प्रति सम्पूर्ण समाज की आस्था बढ़ती जा रही है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश में सामाजिक समसरता के साथ जातिवाद से ऊपर उठाकर काम किया है।
श्री गौतम ने कहा कि नरेन्द्र मोदी जी अब तक जितनी भी योजनाएं चलाई हैं, वो सभी गरीबों और दलितों पर केन्द्रित रही हैं। इसलिए गरीब समाज ने भी मोदी जी को हाथों-हाथ लिया है। पहले की सरकारें गरीबों के वोट को बेचने का काम करती थी। वोट हमारा होता था, सरकारें किसी और की बनती थी और गरीब वहीं रह जाता था। लेकिन मोदी जी ने इस सोच को बदलने का कार्य किया है और इसलिए अनुसूचित समाज ने भी मोदी जी को फिर से प्रधानमंत्री बनाने का कार्य किया है। क्योंकि लोग जाति के नाम पर नहीं बल्कि भारत में आए परिवर्तन पर वोट देने का मन बना लिया है।
सभा में संगठन मंत्री श्री सिद्धार्थन ने बाबा साहेब भीम राव को पुष्पांजलि अर्पित किया और कहा कि अगर बाबा साहेब को सपनों को कोई साकार कर सकता है तो वह श्री नरेन्द्र मोदी जी हैं। इसलिए भाजपा के कार्यकर्ताओं को भी अपने स्तर पर यह सुनिश्चित करना होगा वो ज्यादा से ज्यादा लोगों से जुड़ने का कार्य करें। सभी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को बैठकों के सिलसिला तेज करना होगा। सभी को अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करना होगा। तभी साल 2019 के समर में जीत सुनिश्चित होगी।
सभा को संबोधित करते हुए अनुसूचित जाति मोर्चा के अध्यक्ष श्री मोहनलाल गिहारा ने कहा कि भारत रत्न डॉ. भीमराव अम्बेडकर ने आजीवन अनुसूचित जाति के सम्मान व समान अधिकार की लड़ाई लड़ी। विषम परिस्थतियों में भी सामाजिक न्याय की लड़ाई लड़ने के लिए अपना सर्वस्व जीवन न्यौछावर कर समाज के हित की लड़ाई लड़ी। भाजपा ने अनुसूचित जाति के लोगों को समुचित सम्मान दिया है। दिल्ली की सातों सीटें जीतकर अनुसूचित जाति मोर्चा श्री नरेन्द्र मोदी को पुनः प्रधानमंत्री बनाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »