पंजाबी बाग के खेल-परिसर में रमेश चंद शर्मा (सोती) मेमोरियल टूर्नामेंट U/13 का आयोजन

नई दिल्ली। रमेश चंद शर्मा (सोती) मेमोरियल टूर्नामेंट U/13 RGM Galaxy के सौजन्य से इंद्रप्रस्थ क्रिकेट अकैडमी ने गुरू नानक पब्लिक स्कूल, पंजाबी बाग के खेल-परिसर में रमेश चंद शर्मा (सोती) मेमोरियल टूर्नामेंट U/13 का आयोजन किया। प्रतिवर्ष यह टूर्नामेंट स्वर्गीय रमेश चंद शर्मा (सोती) जी की मधुर स्मृति में उनकी पुत्री श्रीमती बीना शर्मा द्वारा सम्पन्न करवाया जाता है। रमेश चंद जी को क्रिकेट से बहुत प्यार था। उनका सपना था कि वे देश भर के छोटे-छोटे बच्चों में क्रिकेट प्रेम को जागरूक करें और नन्हें खिलाडिय़ों को प्रोत्साहन देकर देश के भावी क्रिकेट-खिलाडिय़ों की श्रृंखला में सम्मिलित करके अपना अमूल्य योगदान दें। उनकी पुत्री बीना ने उनके सपने को पूरा कर दिखाने का बीड़ा उठाया है और उनके इस नेक काम को अंजाम दे रही है।
‘इंद्रप्रस्थ क्रिकेट अकैडमी’ यह अकैडमी इस क्षेत्र में पिछले 8 वर्षों से लगातार प्रयास रत है और आज कामयाबी की बुलन्दियों पर है।
इस टूर्नामेंट में दिल्ली की 8 टीमों ने भाग लिया। फाइनल मैच, कोच मयंक निगम के नेतृत्व में, इंद्रप्रस्थ क्रिकेट अकैडमी और कोच जतिन कुमार के नेतृत्व में, एयरलाइनर क्रिकेट अकैडमी के बीच 7 अप्रैल 2019 को पंजाबी बाग खेल-परिसर में हुआ। मैच बहुत ही रोमांचकारी और कांटे की टक्कर का रहा। जीत का सेहरा ‘इंद्रप्रस्थ क्रिकेट अकैडमी’ के सिर बांधा गया।
टूर्नामेंट के बेस्ट बैट्समेन का खिताब इंद्रप्रस्थ क्रिकेट अकैडमी के मयंक मलिक कोय बेस्ट बोलर का खिताब अर्णव अरोड़ा को तथा ‘द मोस्ट प्रोमिसींग प्लेयर ऑफ द सिरीज’ का खिताब अश्विनी कुमार को दिया गया। इनके अलावा मुदित जैन, सात्विक मेहता तथा लक्ष्य जैन को उनके सर्वश्रेष्ठ खेल प्रदर्शन के लिए पुरस्कृत किया गया। एयरलाइनर क्रिकेट अकैडमी से बेस्ट बैट्समेन के रूप में कृष बोहट, अंशुल बिरला तथा देवांश भारद्वाज को पुरस्कृत किया गया।
इस टूर्नामेंट का मुख्य उद्देश्य क्रिकेट के उभरते हुए सितारों की हौंसला-अफजाही करना है। सभी प्रतियोगियों को ड्रेस दी गयी। मैच के दौरान उनके खान-पान की उचित व्यवस्था की गयी। मेडल्स, ट्रोफीस, सम्मान पदक तथा प्रशस्ति-पत्र देकर सभी खिलाडिय़ों का उत्साहवर्धन किया गया। क्योंकि, प्रशंसा ही एक-मात्र ऐसा साधन है, जिसके द्वारा हम खिलाड़ी के हुनर को दुनिया के सामने ला सकते हैं। उसे अपनी प्रतिभा को खुलकर आजमाने का मौका दे सकते हैं। आज के वैज्ञानिक दौर में बच्चों के मानसिक विकास और विचार-मंथन के लिए पढ़ाई-लिखाई के अतिरिक्त खेलकूद तथा अन्य सामाजिक गतिविधियां भी अपनाई जानी अति आवश्यक हैं और फिर, आज के युवाओं की दीवानगी का दूसरा नाम है ‘क्रिकेट’ है।
टूर्नामेंट की सफलता में कोच मयंक निगम का योगदान अति सराहनीय है। वे अपने शिष्यों के लिए कड़ी मेहनत और परिश्रम की एक बड़ी मिसाल हैं। उनके प्रशिक्षण में यश ढुल, राघव सिंह और अर्पित राणा हाल ही में दिल्ली स्टेट अंडर-16 का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। रामदेव आचार्य इस वर्ष सौराष्ट्र स्टेट से अंडर-16 खेले हैं। अमन जैनवाल हिमाचल स्टेट से अंडर-19 खेले हैं। और श्वत्सल गोविन्द शर्मा ने इसी वर्ष कूच-बिहार ट्रॉफी अंडर-19 में 1,235 रन बनाकर भारत के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज होने का गौरव हासिल किया है। यही नहीं, वत्सल ने केरल स्टेट की ओर से रणजी ट्रॉफी में भी अपना नाम किया है और इण्डिया अंडर-19 में भी अच्छा प्रदर्शन करके न केवल अपने परिवार, अपने गुरुजनों और अपनी मातृभूमि का भी नाम रोशन किया है।
हम इंद्रप्रस्थ क्रिकेट अकैडमी को उसके सफलतम प्रयासों के लिए बधाई देते हैं और भविष्य में उनके द्वारा की जाने वाली नवीन उपलब्धियों की शुभकामनाएं दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »