क्रांतिकारियों के परिवारों को अनदेखा करती है राजनीतिक पार्टियां : पम्मा

नई दिल्ली। देश के सबसे गुस्सैल आदमी का खिताब पा चुके वा नेशनल अकाली दल के अध्यक्ष परमजीत सिंह पम्मा लगातार देश की आजादी में शहीद हुए क्रांतिकारियों को शहीद का दर्जा दिलाने की लड़ाई लड़ रहे हैं। इसी क्रम में अमृतसर स्थित जलियांवाला बाग से वहां की मिट्टी लाकर भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, राजगुरु ,सुखदेव सहित अनेक क्रांतिकारियों को शहीद का दर्जा दिलाने की शपथ ली और साथ में देश व समाज के हित के लिए कार्य करने की भी कसम खाई।
परमजीत सिंह पम्मा ने कहा बड़े दुख की बात है सभी राजनीतिक दल शहीदों के नाम पर राजनीति तो करती है मगर उनके परिवार को कुछ देने की बात आती है तो वह मुंह बंद करके बैठ जाती है अब समय आ गया है कि हमें क्रांतिकारियों व उनके परिवार के लिए यह लड़ाई जोर शोर से लड़नी पड़ेगी। पम्मा ने कहा किसी भी राजनीतिक दलों ने एक भी टिकट शहीदों के परिवार को नहीं दी जबकि सभी खिलाड़ियों व कलाकारों को टिकट बांटने की होड़ में लगे हुए हैं और यहां तक कि जो कलाकार व खिलाड़ी चुनकर संसद सदस्य बने थे उनमें से अधिकतर लोगों की संसद भवन में उपस्थिति ना के बराबर रही है।
परमजीत सिंह पम्मा ने कहा बड़े ही शर्म की बात है दलबीर कौर जो कि सरबजीत ही नहीं कई लोगों की बहन का रूप निभाकर पाकिस्तान की धरती पर ही तालिबानियों को ललकार कर आई उस बहन को महिला दिवस के उपलक्ष पर भी सम्मानित तक नहीं किया गया। परमजीत सिंह पम्मा ने और इस अवसर पर जलियांवाला बाग से लाई हुई मिट्टी उन्होंने दिल्ली स्थित अपने घर के पौधों पर डाल कर शपथ लेते हुए कहा कि वह देशवासियों के लिए हर तरफ से उनकी हक की लड़ाई लड़ेंगे और समाज के हित के लिए कार्य करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »