कैट का प्रतिनिधिमंडल वस्त्र मंत्री श्रीमती स्मृति ईरानी से मिला

नई दिल्ली । कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) का एक प्रतिनिधिमंडल कैट के राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीण खंडेलवाल के नेतृत्व में केंद्रीय कपड़ा, महिला और बालविकास मंत्री श्रीमती स्मृति ईरानी से मिला और देश के टेक्स्टायल व्यापार से सम्बंधित समस्याओं का एक ज्ञापन उन्हें दिया । ज्ञापन में टेक्स्टायल व्यापारकी आयात निर्यात और जीएसटी से सम्बंधित समस्याओं का ज़िक्र किया है वहीं दूसरी ओर देश के वस्त्र व्यापार को अधिक सुगम बनाए एवं नई सम्भावनाएँतलाशने पर भी ज़ोर दिया है ।
श्रीमती ईरानी ने प्रतिनिधिमंडल से बातचीत करते हुए कहा की वो व्यापारी वर्ग के सहयोग से देश में वस्त्र व्यापार एवं उध्योग को उन्नत करने के लिए उत्सुकहैं । देश का वस्त्र व्यापार विश्व के अन्य देशों की बराबरी करे यह आवश्यक है । प्रधानमंत्री श्री मोदी के डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के अंतर्गत वस्त्र व्यापार कोडिजिटल तकनीक से जोड़ना भी उनकी प्राथमिकता में है । उन्होंने कहा की विश्व भर में व्यापार करने का तौर तरीक़ा तेज़ी से बदल रहा है और इस दृष्टि सेभारत में भी व्यापारियों को अपने व्यापार में परिवर्तन लाने की आवश्यकता है और सरकार व्यापारियों के साथ सहयोग करने के लिए तत्पर है ।कैट द्वारासुझाव दिया गया कीं इस संदर्भ में देश की सभी प्रमुख कपड़ा व्यापारिक संगठनों का एक राष्ट्रीय सम्मेलन दिल्ली में आयोजित किया जाए जिसमें व्यापारियोंकी समस्याओं पर विचार होकर समाधान निकले तथा सरकार की नीति को समझ कर वस्त्र व्यापारी उसका पालन करें । श्रीमती ईरानी ने कैट के इस सुझावको स्वीकार किया और जल्द ही ऐसे सम्मेलन में आने की स्वीकृति भी दी ।
श्रीमती ईरानी ने इच्छा व्यक्त की की देश भर के व्यापारी संगठन महिला और बाल विकास के काम में भी सरकार के साथ जुटे क्योंकि देश के हर हिस्से मेंव्यापारी हैं और आर्थिक के साथ साथ सामाजिक बदलाव में भी बड़ी भूमिका निभा सकते हैं । देश में ज़्यादा से ज़्यादा महिला व्यापारी को प्रोत्साहित किया जाएवहीं महिला व्यापारियों की समस्याओं का प्राथमिकता के साथ निराकरण किया जाए । देश में महिला व्यापारियों के लिए सुलभता से व्यापार करने हेतु एकसुरक्षित व्यापारी माहौल तैयार करना ज़रूरी है । उन्होंने कहा की इसका मुख्य फोकस बिंदु भारत के व्यापारिक भाईचारे, महिला व्यापारियों के विकास औरप्रोत्साहन, खुदरा व्यापार क्षेत्र में काम करने वाली महिलाओं के लिए सुरक्षा और कौशल विकास में महिलाओं का अधिक प्रतिनिधित्व सुनिश्चहित किया जाए ।उन्होंने तह भी कहा की बाल श्रम देश में एक बड़ी समस्या है और व्यापारियों को अपने यहाँ बाल श्रम को रोकने में सरकार की सहायता करनी चाहिए जिससेदेश में बाल श्रम का उन्मूलन होगा। यह पहली बार होगा, मंत्रालय ऐसे कार्यक्रमों के लिए भारत के किसी भी व्यापार मंडल के साथ सहयोग करेगा।
कैट प्रतिनिधिमंडल ने श्रीमती ईरानी के सुझाव का स्वागत करते हुए कहा की देश का व्यापारी वर्ग इस पहल में उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करेगाऔर महिल विकास के साथ साथ व्यापार में बाल श्रम उन्मूलन को भी प्रोत्साहित करेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *