कांग्रेस जिला पर्यवेक्षकों और 280 ब्लाक पर्यवेक्षकों की बैठक

नई दिल्ली। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश लिलौठिया के नेतृत्व में नव नियुक्त सभी 14 जिला पर्यवेक्षकों सहित 280 ब्लाक कांग्रेस कमेटी के पर्यवेक्षकों की लम्बी बैठक हुई। बैठक में ब्लाक पर्यवेक्षकों को हिदायत दी कि वे नए ब्लाक अध्यक्षों की नियुक्ति की प्रकिया में जिम्मेदारी से इसकी सूची तैयार करें। सभी 280 ब्लाक पर्यवेक्षकों को यह भी कहा गया कि 10 दिनों में अपनी रिपोर्ट जिला पर्यवेक्षकों के द्वारा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती शीला दीक्षित को सौंपे। प्रदेश कार्यालय राजीव भवन में आयोजित बैठक में मौजूद सभी ब्लाक जिला एवं 280 ब्लाक पर्यवेक्षकों ने दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्षा श्रीमती शीला दीक्षित का उन्हें यह महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौपने पर एक स्वर में हार्दिक धन्यवाद किया। बैठक का संचालन लोकसभा चुनाव में हार के कारणों की जांच के लिए बनी पांच सदस्यीय कमेटी के चेयरमैन डॉ.ए.के.वालिया ने किया।
दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष श्रीमती शीला दीक्षित ने लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी की हार के कारणों की जांच के लिए पांच सदस्यीय कमेटी बनाई थी, कमेटी की रिपोर्ट के बाद ही 280 ब्लाक कांग्रेस कमेटी को भंग दिया गया था और नए ब्लाक अध्यक्षों की नियुक्ति के लिए यह प्रक्रिया शुरु की गई है। लेकिन जिन ब्लाक अध्यक्षों ने लोकसभा चुनाव में सराहनीय काम किया है उन्हें दोबारा ब्लाक अध्यक्ष बनाया जा सकता है।
बैठक में प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश लिलौठिया सहित जिला पर्यवेक्षकों में दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री डॉ. ए.के. वालिया, मंगत राम सिंघल, रमाकांत गोस्वामी, डॉ. किरण वालिया और डॉ. नरेन्द्र नाथ, पूर्व विधायक हसन अहमद, चौ. मतीन अहमद, जितेन्द्र कुमार कोचर, रोहित मनचंदा, सी.पी. मित्तल, राजेन्द्र शर्मा, चरणजीत राय, सुभाष भारद्वाज और देशराज चौधरी शामिल थे।
सभी 280 ब्लाक पर्यवेक्षकों को यह कहा गया कि वे ब्लाक कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष तय करने से पहले पूर्व सांसद, पूर्व विधायक, निगम पार्षद, पूर्व निगम पार्षद, वरिष्ठ नेताओं और क्षेत्रीय कांग्रेस कार्यकर्ताओं के सुझाव भी ले। ब्लाक पर्यवेक्षकों का निर्देश दिए कि इस प्रक्रिया का मुख्य उद्देश्य कांग्रेस पार्टी को जमीनी स्तर पर मजबूत करके बूथ स्तर पर मजबूत करना है, ताकि आने वाले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार पूरी मजबूती के साथ तैयार हों। ब्लाक पर्यवेक्षकों को जिला पर्यवेक्षकों से लगातार सम्पर्क में रहकर उनके सुझाव लेकर ब्लाक अध्यक्षों के लिए अपनी रिपोर्ट प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती शीला दीक्षित जी को सौपंनी है।
चौ. मतीन अहमद ने कहा कि ब्लाक अध्यक्षों की चयन की प्रक्रिया हेतु नियुक्त ब्लाक पर्यवेक्षक और जिला पर्यवेक्षक सम्बन्धित क्षेत्र में जाकर बैठक करे और वहां के क्षेत्रीय नेताओं और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के सुझाव लेए ताकि क्षेत्रीय कर्मठ और कर्तव्यनिष्ठ कार्यकर्ता को ब्लाक अध्यक्ष बनाया जा सके।
प्रदेश प्रवक्ता रमाकांत गोस्वामी ने कहा कि जमीनी स्तर के कार्यकर्ता कांग्रेस पार्टी की रीढ़ है और ब्लाक पर्यवेक्षक प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को अपनी रिपोर्ट सौंपने से पहले ब्लाक के जमीनी स्तर के कार्यकर्ता, बूथ स्तर के कार्यकर्ता और वरिष्ठ नेताओं से सुझाव लेने जरुरी होंगे।
प्रदेश प्रवक्ता जितेन्द्र कुमार कौचर ने कहा कि ब्लाक पर्यवेक्षकों को बहुत ही महत्वपूर्ण और अहम जिम्मेदारी दी गई है क्योंकि उनकी सिफारिशों के आधार पर ही नए ब्लाक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षों की नियुक्ति की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *