मनोज तिवारी ने वाटर हार्वेस्टिंग गड्ढे का उद्घाटन किया

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने ग्रीन पार्क के एम.ब्लाक में वर्षा के जल को एकत्रित करने के लिए कम बजट में तैयार 10 नये जल संचयन गड्ढों का रिबन काटकर शुभारम्भ किया। इस अवसर पर मीडिया सह-प्रभारी नीलकांत बक्शी, भाजपा नेता शैलेन्द्र सिंह मोंटी, निगम पार्षद श्रीमती राधिक अब्रोल, पूर्व निगम पार्षद प्रवेश वाही सहित आर.डब्ल्यू.ए. के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।
उपस्थित स्थानीय निवासियों को जल संचयन का महत्व समझाते हुये दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि आप लोगों का यह प्रयास सराहनीय है और आपसे प्रेरित होकर दिल्ली के सभी लोगों को अपने-अपने मोहल्लों के नजदीक वर्षा जल संचयन के लिए निर्माण कार्य करना चाहिए। दिल्ली में पानी का संकट गहराता जा रहा है। पानी की आपूर्ति को लेकर दिल्ली सरकार का जल बोर्ड पूरी तरह से विफल साबित हुआ है। केजरीवाल सरकार दिल्ली की सबसे बड़ी समस्या जल संकट पर कोई काम नहीं कर रही है। भाषण बाजी करना और मीडिया में जल संकट को लेकर काम करने का दिखावा करना यह सब केजरीवाल की राजनीति का हिस्सा है।
श्री तिवारी ने कहा कि वर्षा में देरी हो रही है और दिल्ली में लगातार पानी की समस्या बनी हुई है जिसे लेकर केजरीवाल उदासीन हो चले है। ग्रीन पार्क के लोगों ने केजरीवाल सरकार को जल संचयन गड्डे बनाकर यह संदेश दिया है कि यदि आप काम नहीं करेगें तब भी दिल्ली के लोग जल संकट से निपटने के लिए आगे आयेंगे। जल ही जीवन है और जल की एक-एक बूंद महत्वपूर्ण है। वर्षा के जल का संचयन कर हम जल संकट की समस्या से बच सकते है। जल बोर्ड के मुखिया व मुख्यमंत्री केजरीवाल दिल्ली में पानी की बढ़ती समस्या के लिए सीधे तौर पर जिम्मेदार है। गर्मियों को लेकर सरकार ने कोई भी एक्शन प्लान नहीं बनाया जिसके कारण आज दिल्ली जल संकट का सामना करने को मजबूर है। ऐसे में वर्षा के जल का प्रयोग कर हम अपने घरों में पानी की आपूर्ति कर सकते है। हम सभी को वर्षा जल संचयन के लिए समाज में जागरूपता लानी होगी।
श्री तिवारी ने कहा कि वर्षा जल को एकत्रित कर हम जिन इलाकों में पानी की कमी है वहां इसका प्रयोग कर सकते है। ग्रीन पार्क के लोगों की सकारात्मक सोच का परिणाम वर्षा जल संचयन के गड्डो का क्षेत्र में निर्माण है। हम चाहते है कि दिल्ली के सभी लोग जल के महत्व को समझते हुये पानी की बचत करते हुये वर्षा के जल को यू ही नालियों में न बहने दे उसको पुन: प्रयोग में लाने के लिए जल संचय करें। श्री तिवारी ने कहा कि प्रकृति तो हमें पानी दे रही है हमें उसे संग्रह करके भविष्य के लिए बचाना चाहिये। ऐसे छोटे-छोटे प्रयास दिल्ली के हर कोनों में होने चाहिये जिससे दिल्ली को भविष्य में पानी की कमी से जूझना नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जल संचय का विश्य स्तर पर आवाहन किया है क्योंकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आगामी संकटों से निपटने की रणनीति बना लेते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »