रेहड़ी-पटरी वालों के हक की लड़ाई हर स्तर पर लड़ेगी कांग्रेस : देवेन्द्र यादव

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में रेहड़ी पटरी वालो के साथ किये जा रहे अन्याय व उन्हें बेवजह परेशान करने के विरोध में आज सोमवार को सैकड़ों रेहड़ी-पटरी वालों ने उत्तरी दिल्ली नगर निगम मुख्यालय सिविक सेंटर पर धरना दिया। धरने में दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष देवेन्द्र यादव, उत्तरी दिल्ली नगर निगम में कांग्रेस दल के नेता एवं वरिष्ठ पार्षद मुकेश गोयल, पार्षद सुश्री पूनम बागड़ी कांग्रेसी नेता अश्विनी बागड़ी एवं टाउन वेडिंग कमेटी के इलेक्टेड मेम्बर मुख्य रूप से शामिल हुए। कांग्रसी नेताओं ने पीड़ित रेहड़ी-पटरी वालों के हक की लड़ाई हर स्तर पर लड़ने व उन्हें न्याय दिलाने का आश्वासन दिया। धरने पर बैठे रेहड़ी-पटरी वालों को संबोधित करते हुए देवेन्द्र यादव ने कहा कि कांग्रेस गरीब रेहड़ी-पटरी वालों के साथ है। पार्टी उनके हक की लड़ाई हर स्तर पर लड़ेगी। श्री यादव ने कहा कि वर्षो पुराने रेहड़ी पटरी वालों को उजाड़े जाने पर निगम प्रशासन व सत्तारूढ भाजपा नेताओं की कड़ी निंदा की। कांगेसी नेताओं ने कहा कि दिल्ली में रेहड़ी-पटरी वाले निगम के इंस्पेक्टर राज से बेखौफ होकर रेहड़ी-पटरी लगा अपना रोजगार कर परिवार का पालन पोषण कर सकें इसके मद्देनजर वर्ष 2014 में तत्कालीन कांग्रेस सरकार की ओर से एक अधिनियम पारित किया गया था। जिसके तहत दिल्ली में रेहड़ी- पटरी वालों का सर्वे कर उन्हें अधिकृत  रूप से तहबाजारी आबंटित की जानी थी। इसमें सुप्रीम कोर्ट की सहमति थी। माननीय कोर्ट के मुताबिक रेहड़ी-पटरी वालों के लिए टाऊन वेंडिंग कमेटी का भी गठन किया जाना था। लेकिन अफसोस की बात है कि सरकार और नगर निगम इस अधिनियम की पूरी तरह से अनदेखी कर रहे हैं। देवेन्द्र यादव ने कहा कि रेहड़ी-पटरी अधिनियम 2014  व सुप्रीम कोर्ट के आदेश अनुसार पूरी दिल्ली में करीब 5 लाख पटरी वालों को तहबाजारी दी जानी है अगर यह तहबाजारी दे दी जाती तो इससे निगम को करीब 200 से 300 करोड़ रूपये प्रतिमाह रेवेन्यू प्राप्त होता लेकिन तहबाजारी आबंटित न होने से अवैध वसूली के चलते प्रतिमाह 25 करोड़ रुपया निगम अधिकारियों की जेब में जा रहा है। पैसे देने बावजूद रेहड़ी पटरी वालों पर अनिश्चितता की तलवार लटकी रहती है कि न जाने कब उन्हें उजाड़ दिया जाए। उतरी दिल्ली नगर निगम में कांग्रेस दल के नेता मुकेश गोयल ने कहा कि इस मुद्दे को निगम सदन में पहले भी उठाते रहे है और रेहड़ी पटरी वालों की लड़ाई को हम आगे भी लड़ते रहेंगे।  निगम पार्षद पूनम बागड़ी व कांग्रेस नेता अश्विनी बागड़ी ने भी रेहड़ी पटरी वालों के हकों की लड़ाई को हर स्तर पर लड़ने को कहा। उत्तरी दिल्ली के जहांगीरपुरी, आजादपुर, परमेश्वरी वाला बाग व ज्वाला हेड़ी पश्चिम विहार सहित अन्य इलाकों से उजाड़े गये सैकड़ों रेहड़ी-पटरी वाले अपनी समस्याओं व नगर निगम अधिकारियों की तानाशाही के खिलाफ आज से सिविक सेंटर पर अनिश्चित कालीन धरने पर बैठे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »