पानी का बकाया बिल भरने पर लेट पेमेंट पूरी तरह माफ, मूल बिल में भी भारी छूट की घोषणा

नई दिल्ली।  अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों को पानी के मामले में बड़ी राहत देने का एलान किया है। पानी के अब तक के शेष बिल (एरियर) को चुकाने वाले लोगों के लिए अब लेट पेमेंट सरचार्ज को पूरी तरह माफ कर दिया गया है। यह सुविधा सभी कैटेगरी के लोगों को मिलेगी। जबकि E, F, G और H कैटेगरी के इलाकों में रहने वाले लोगों के मूल बिल को भी पूरी तरह माफ कर दिया गया है। A और B कैटेगरी वाले इलाकों में रहने वालों के मूल बिल में 25 फीसदी की माफी देने की घोषणा की गई है, C कैटेगरी के लोगों के बिल में 50 फीसदी और D कैटेगरी वाले लोगों के मूल बिल में 75 फीसदी की छूट दी गई है। 
इस योजना का लाभ लेने के लिए अरविंद केजरीवाल की तरफ से सभी उपभोक्ताओं के पास पत्र भेजा जायेगा। इस योजना का लाभ केवल उन्हें ही मिलेगा जिनके पास चालू हालत में पानी के मीटर लगे हुए हैं। जिनके घरों में अभी तक पानी के मीटर नहीं लगे हैं, वे 30 नवंबर तक मीटर लगवा कर इस योजना का लाभ उठा सकेंगे।
जल बोर्ड को उम्मीद है कि इस माफी योजना से उसे 600 करोड़ रुपये की आय होगी। कॉमर्शियल कनेक्शन लेने वाले उपभोक्ताओं को केवल लेट पेमेंट से माफी दी गई है। लेकिन वे अपना बिजली का बिल तीन आसान किस्तों में चुकाने की सुविधा दी गई है।कितने लोगों को मिलेगा लाभ इस योजना से 13.50 लाख लोगों को सीधा लाभ मिलेगा। इसमें E,F,G और H के 10.50 लाख लोगों का बिल पूरी तरह माफ कर दिया गया है। एरियर के रूप में दिल्ली जल बोर्ड का 2500 करोड़ रुपये बकाया है, इसमें 1500 करोड़ रुपये कॉमर्शियल कनेक्शन वाले लोगों के हैं। 
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जब उन्होंने सरकार सम्भाली थी, दिल्ली की केवल 58 फीसद एरिया में पाइप लाइन बिछी हुई थी। आज यह आंकड़ा 93 फीसदी तक पहुंच चुका है। उन्होंने लीकेज को रोका है और असली ग्राहकों की संख्या 19 लाख रुपये से बढ़कर 23.73 लाख हो गई है। इससे जल बोर्ड की आय में भी वृद्धि हुई है। यह लाभ उस स्थिति में हुआ है जबकि सरकार 20 हजार लीटर तक पानी इस्तेमाल करने वाले उपभोक्ताओं का बिल पूरी तरह माफ कर चुकी है। 
अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वे दिल्ली के लोगों को 24 घण्टे पानी की उपलब्धता सुनिश्चित करना चाहते हैं। इसके लिए दिल्ली में जल उत्पादन बढ़ाया जा रहा है। इसके लिए 15 नई और पुरानी झीलें विकसित की जा रही हैं। यमुना के किनारे जल संग्रह करने की योजना बनाई जा रही है। इससे आने वाले समय में दिल्ली को चैबीस घण्टे पानी मिल सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »