रूपचन्द इंस्टीट्यूट ऑफ फाईन आर्ट की कला दीर्घा में चित्रकला प्रदर्शनी का शुभारम्भ

real live casino Audincourt नई दिल्ली। अशोक विहार, दीप सैन्ट्रल मार्किट क्षेत्र में स्थित रूपचन्द इंस्टिट्यूट ऑफ़ फ़ाईन आर्ट की कला दीर्घा में ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ शीर्षक से चित्रकला प्रदर्शनी का शुभारम्भ हुआ। इस प्रदर्शनी के क्यूरेटर रूपचन्द ने मुख्य अतिथि प्रसिद्ध आर्ट क्यूरेटर व अल्यूर आर्ट के डारेक्टर उमेश सोइन एंव विशिष्ठ अतिथियों में दि आर्ट ऑफ गिविंग फाउंडेशन ट्रस्ट के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिक्षाविद् दयानन्द वत्स, चित्रकार सुनील दत्त ममगाईं, हर्षवर्धन आर्य, मीरा भटनागर व चित्रकार रश्मि मल्होत्रा विजय बंसल, स्नेह लता त्यागी का स्वागत पुष्पगुच्छ से किया। सभी अतिथियों ने अपने भाषण में कलाकारों को अपनी शुभकामनाएँ दीं।
मुख्य अतिथि उमेश सोइन ने चित्रकला के क्षेत्र में केसे मुकाम हांसिल किया जाए कला विद्यार्थिओं के साथ अपने अनुभवों को साझा किया।
विशिष्ठ अतिथि कला मर्मज्ञ शिक्षाविद् दयानंद वत्स ने रुपचंद इंस्टीट्यूट के कलाकारों द्वारा आत्मसात की गई वसुधैव कुटुम्बकम की थीम की जोरदार प्रशंसा करते हुए कहा कि कला और संगीत की कोई सीमा नहीं है। मानवीय संवेदनाओं और हृदयगत भावनाओं की अभिव्यक्ति एक दूरंदेशी कलाकार ही कर सकता है। वत्स ने क्यूरेटर रुपचंद को इसके लिए अपनी शुभकामनाएं भी दीं।
इस प्रदर्शनी में देश के कई कलाकारों जिसमें चित्रकार महेश कुमार, अमित खुण्डिया, अमन आनन्द, विदुषी, हिमांशी आर्य, अवि शर्मा, सुनील कुमार, तृषा डंग, पारुल, हरिओम, अंजलि खोखर, दीपशिखा, कोमल, वरिंद्र सिंह, अनुराग भास्कर, नीतू गुप्ता, जय सेठिया, कृतिका मित्रा, नीलू खन्ना, रोमी गर्ग, हरीश कुमार एवं अन्य कलाकारों ने अपनी कल्पनाओं को केनवस पर बखूबी उकेरा है ! सभी कलाकारों द्वारा एक अलग प्रकार के रंग संयोजन, विषय एवं तकनीक के कारण इस प्रदर्शनी को काफी संख्या में कला विद्द्यार्थी व दर्शकगण देखने आ रहे हैं। यह प्रदर्शनी 29 सितम्बर 2019 तक प्रातः 11 बजे से सांय 7 बजे तक देखी जा सकेगी। इसी विषय पर चित्रकला प्रदर्शनी अमेरीका के कैलिफोर्निया में रूपचन्द इंस्टीट्यूट ऑफ फाईन आर्ट की कला दीर्घा में भी अमेरिका व भारतीय कलाकारों की भी आयोजित की गई है जिसे कलाकार व शिक्षाविद रेनू जैन ने क्यूरेट किया है !

https://vapeofdubai.com/64102-buy-generic-valtrex-74316/
Translate »