सड़क पर सभी करे कानून का पालन, लेकिन प्रताडऩा हो बंद : पम्मा

नई दिल्ली। मोटर वाहन कानून में संशोधन के नाम पर आम लोगों को प्रताडि़त करने संबंधी सरकार के निर्णय के खिलाफ नेशनल अकाली दल ने प्रदर्शन कर सरकार से लोगों को प्रताडि़त करना बंद करने की मांग की। पार्टी अध्यक्ष परमजीत सिंह पम्मा ने कहा कि हम भी चाहते है कि सड़क पर सभी तय नियमों से चले लेकिन जिस प्रकार पुलिस 50-50 हजार रुपये के चालान कर रही है उससे लोग परेशान है। यही कारण है कि लोग अपने वाहनों को जला रहे है और यदि यह हालत रही तो लोग आत्महत्या तक करने के लिए मजबूर हो जाएगें। ऐसे में सरकार को तुंरत समाधान निकालना चाहिए।
जंतर मंतर पर श्री पम्मा ने कहा आपराधिक कानून में भी अदालत दोषी ठहराए गए व्यक्ति को कई धाराओं में अलग-अलग सजा देती है लेकिन फैसले में स्पष्ट होता है कि सभी सजाएं एक साथ चलेगी। यानि जो सजा सबसे ज्यादा होगी दोषी को वह सजा भुगतनी होगी। वहीं पुलिस वाहन चालाकों को परेशान करने के लिए सभी धाराओं में अलग-अलग जुर्माना कर उनको प्रताडि़त कर रही है। यह भी हास्यपद है कि जघन्य अपराध करने वाले को एक सजा लेकिन मोटर वाहन कानून का उल्लंघन करने वाले को कई सजाएं एक साथ।
पम्मा ने कहा सरकार से मोटर वाहन कानून में संशोधन आम लोगों की सुरक्षा के लिए किया है न कि उन्हें परेशान करने के लिए। उन्होंने कहा जिस प्रकार पुलिस इस कानून की आड़ में वाहन चालकों के 25 हजार से एक लाख रूपये तक के चालान कर रही है उससे स्पष्ट है कि वह भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रही है। पुलिस के रवैये से स्पष्ट है कि वह रिश्वत के अपने नए रेट तय करने के लिए लोगों को परेशान कर रही है।
श्री पम्मा ने कहा इस कानून के लागू होने के बाद से लोगों ने अपने वाहनों को जलाना शुरु कर दिया है क्योंकि पुराने वाहन की उतनी कीमत ही नहीं है जिससे ज्यादा उस पर जुर्माना किया जा रहा है। उन्होंने कहा यदि ऐसा ही होता रहा तो लोग मजबूर होकर आत्महत्या जैसा कदम या कानून हाथ में लेना शुरु कर सकते है। ऐसा हो इससे पहले ही सरकार को पुलिस पर अंकुश लगाना चाहिए ताकि देश में शांति बनी रहे और कानून तोडऩे वाले को भी सबक मिले।
इस अवसर पर नेशनल अकाली दल के दलजीत सिंह चग्गर ;मनजीत सिंह जसवीर सिंह सरना ,बिंदिया मल्होत्रा, भावना धवन,रश्मीत कौर बिंद्रा,जसविंदर सिंह सभरवाल ,परविंदर सिंह सभरवाल गुरप्रीत सिंह हैरी, आईपीएस बेदी, रेनू लूथरा, उषा निश्चित, कुलदीप सिंह सहित अनेक लोग ने भी संबंधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »