दिल्ली में संचालित जिमों को बंद नहीं किया जायेगा : हरदीप सिंह पुरी

नई दिल्ली। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल जिम संचालकों की मांगों को लेकर केन्द्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी से मिला जिसमें नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता, महामंत्री कुलजीत सिंह चहल, उपाध्यक्ष राजीव बब्बर एवं जिम संचालक शामिल थे। हरदीप सिंह पुरी ने प्रतिनिधिमंडल को भरोसा दिया कि दिल्ली में संचालित जिमों को बंद नहीं किया जायेगा बल्कि कानून में बदलाव करके रिहायशी एवं कामर्शियल इलाकों में भी जिम चलाने की स्वीकृति दी जायेगी।
मोदी सरकार एवं केन्द्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी को धन्यवाद देते हुये दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि मानिटरिंग कमेटी के नोटिस आने के तीन चार दिनों में ही कुछ लोगों ने दिल्ली भर में भय का माहौल पैदा कर दिया, लेकिन जिनको दिल्ली का माहौल बिगाडऩा है वह बिगाड़ रहे हैं, जिनको काम करना है वह समस्याओं का निदान कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने विश्वास दिलाया है कि दिल्ली में कोई भी जिम बंद नहीं होने दिया जायेगा, बल्कि आगामी बैठक में कानून में संशोधन करके जिम संचालकों को राहत दी जायेगी। रिहायशी इलाकों में जिम खोले जाने से लोगों को पैदल चलकर इसका लाभ मिल जाता है, जिससे प्रदूषण में भी कमी आती है और लोगों का समय भी बचता है।
नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि केन्द्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी से मिलने के बाद जिम संचालकों ने राहत की सांस ली है क्योंकि उन्हें मोदी सरकार पर पूर्ण भरोसा था, लेकिन आज पूर्ण विश्वास हो गया है। कांग्रेस सरकार के दौरान मास्टर प्लान 2008 में इस बात का उल्लेख किया गया है कि 2008 के बाद दिल्ली में न कामर्शियल और न ही रेजीडेंशियल क्षेत्रों में नये जिम खोले जा सकते हैं, जो पूरी तरह गलत है। उन्होंने जिम मालिकों को भरोसा दिलाया कि किसी के साथ अन्याय नहीं होने दिया जायेगा और न ही किसी की रोजी रोटी छीनी जायेगी। हमें पूर्ण विश्वास है कि जिम संचालक अब बिना भय के मोदी जी के फिट इंडिया अभियान को साकार करने में अपनी अहंम भूमिका निभायेंगे।
प्रदेश महामंत्री कुलजीत सिंह चहल ने कहा कि मोदी सरकार के समय में जनहित का काम करने वाला व्यक्ति खुद को सुरक्षित महसूस करता है और ऐसे लोगों के साथ कभी अन्याय नहीं होने दिया जाता है। गलती चाहे किसी भी सरकार की हो उसको सुधारने का काम मोदी सरकार कर रही है। जिम संचालकों में अपनी रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया था और उनसे जुड़े हजारों लोग भी बेरोजगारी की कगार पर पहुंच गये थे लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। वहीं दूसरी ओर जिमों में जाकर फिट होने वाले लाखों लोगों को फिटनेश की सुविधा से वंचित नहीं होना पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »