उत्तरी दिल्ली नगर निगम अवैध निर्माणों में सबसे आगे

नईदिल्ली। दिल्ली में हो रहे अवैध निर्माण को रोकने में एजेंसियां असफल हो रही हैं। डीडीए की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) की रिपोर्ट यह बताती है। रिपोर्ट के मुताबिक एसटीएफ ने पिछली मीटिंग में अवैध निर्माणों की जो रिपोर्ट पेश की, उसमें तीनों एमसीडी, डीडीए, रेवेन्यू डिपार्टमेंट और DUSIB के कार्यक्षेत्र में 31 अक्टूबर तक अवैध निर्माण की 1662 शिकायत आईं। इसमें से सिर्फ 576 के खिलाफ कार्यवाही की गई, यानी सिर्फ 34.6 प्रतिशत अवैध निर्माणों के खिलाफ कार्यवाही हुई। रिपोर्ट के मुताबिक, सबसे अधिक अवैध निर्माण की शिकायत नॉर्थ एमसीडी एरिया से आई है। इस ऐरिया से डीडीए के मोबाइल ऐप, लिखित शिकायत और पोर्टल के जरिए करीब 719 अवैध निर्माणों की शिकायत लोगों ने की है। इस पर 227 के खिलाफ कार्यवाही की गई। साउथ एमसीडी एरिया से कुल 683 अवैध निर्माणों की शिकायत आई। एमसीडी अफसरों ने 193 के खिलाफ कार्यवाही की।
ईस्ट एमसीडी एरिया से 179 अवैध निर्माणों की शिकायत पर 106 के खिलाफ कार्यवाही की गई। बाकी शिकायतें डीडीए, डूसिब, रेवेन्यू डिपार्टमेंट और दूसरे विभागों के कार्यक्षेत्र से दर्ज कराई गईं। एसटीएफ अफसरों का कहना है कि कंस्ट्रक्शन पर रोक के बाद भी अवैध निर्माण की लगातार शिकायतें मिल रही हैं, जिन एजेंसियों को ऐसे निर्माणों पर रोक लगाने को कहा गया है, वो प्रभावी तरीके से इस पर रोक नहीं लगा पा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »