दिल्ली में 26 लाख से ज्यादा लोगों का बिजली बिल आया जीरो

नई दिल्ली। दिल्ली में 26 लाख से ज्यादा घरों में बिजली का नया बिल जीरो आया है। बिजली सप्लाई करने वाली कंपनियों बीएसईएस और टाटा पावर-डीडीएल के आंकड़ों में यह बात सामने आई है। ठंड बढ़ने से घरों में बिजली खपत घटी है। अरविंद केजरीवाल सरकार ने 200 यूनिट तक खपत पर जीरो-बिल का ऐलान किया था। माना जा रहा है कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के लिए यह बड़ा मुद्दा होगा। जीरो बिल वाले घरों की तादाद अगले महीने और बढ़ सकती है। दिल्ली में कुल उपभोक्ताओं की संख्या करीब 58.19 लाख है।
आम आदमी पार्टी को जीरो बिल के मुद्दे से जहां चुनाव में फायदे की उम्मीद है, वहीं विपक्ष के तेवर तीखे हैं। आप के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज का कहना है कि सरकार बनते ही डेढ़ महीने के अंदर बिजली के दाम आधे करने का चुनावी वादा पूरा दिया था। अब 200 यूनिट बिजली मुफ्त कर दी गई है, जो चुनावी वादा भी नहीं था। ऐसा करने वाली दुनिया में आप सरकार इकलौती है।
वहीं, बीजेपी की ओर से नेता विपक्ष विजेंद्र गुप्ता कहते हैं कि एक तरफ ये (आप) जीरो बिल की बात कर रहे हैं, जबकि पावर परचेज एग्रीमेंट कॉस्ट को साढ़े 4 पर्सेंट से बढ़ाकर साढ़े 11 पर्सेंट कर दिया है और 6-6 महीने के एरियर के साथ वसूला जा रहा है। कांग्रेस का कहना है कि बिजली पर यह सब्सिडी 31 मार्च तक ही क्यों दी गई है। प्रदेश प्रवक्ता मुकेश शर्मा कहते हैं कि चुनाव से पहले केजरीवाल ने बिजली कंपनी से बिजली के रेट कम करने की बात कही थी, सब्सिडी देने की बात नहीं थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »